‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ को इंडोर्स करने वाले पत्रकारों को ‘भारत माता की जय’, भला कैसे अच्‍छी लग सकती है?

Category:

क्रिकेट कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कल बंगलादेश पर जीत के बाद प्रेस वार्ता में एक पत्रकार को धो दिया! धोना चाहिए भी था! वामपंथी-कांग्रेसी पत्रकार देश में बढ़ रही देशभक्ति की भावना से आहत हैं! और क्रिकेट ऐसा खेल है, जिसमें टीम इंडिया की जीत से उत्पन्न ‘भारत माता की जय’ की लहर के साथ हाथों में तिरंगा लेकर लोग सड़़क पर निकल पड़ते हैं!

पिछले वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की जीत के बाद जब सोनिया गांधी तिरंगा लेकर इंडिया गेट पर निकल गई थी तो यही पत्रकार उनकी जय-जयकार कर उठे थे, लेकिन आज जब टीम की जीत पर अमिताभ तिरंगा लहराते हैं तो उन्हें बाजारू साबित करने के लिए राष्ट्रगान के लिए 4 करोड़ रुपए लेने की झूठी खबरें प्लांट की जाती है! चुनाव में राहुल गांधी की बुरी हार के बावजूद आज भी प्राइम टाडम का पूरा स्लॉट उनके नाम करने वाले पत्रकार, विरोधी की मांद से जीत छीन लेने वाले धोनी को असफल साबित करने का प्रयास शुरू कर देते हैं!

धोनी ने उस पत्रकार से सही कहा कि वह टीम इंडिया की जीत से खुश नहीं है! वामी-कांगी पत्रकार सच में पाकिस्तान व बंगलादेश से भारत की हार की कामना कर रहे थे ताकि देशभक्तों पर प्राइम टाइम में और अंग्रेजी अखबार के पन्नों के जरिए यह कह कर हमला कर सकें कि अब तो धोनी एंड टीम को पाकिस्तान भेज देना चाहिए, क्योंकि वह हार गए हैं, इसलिए देशद्रोही हैं! उनके व्यंग्य और कुढ़न वाले शो की तैयारी धरी की धरी रह गई, इसलिए उनमें से एक का गुस्सा धोनी पर निकल गया! और धोनी ने उन्हें समझने में कोई चूक भी नहीं की!

देशद्रोह के आरोपी कन्हैया व उमर खालिद को हीरो बनाने की कोशिश करने वाला कोई रवीश, कोई राजदीप, कोई बरखा आखिर किसी धोनी, किसी विराट, किसी नरेन्द्र मोदी से खुश कैसे हो सकता है?

‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ के धुन पर ता-थैया करने वाला पत्रकार आखिर ‘भारत माता की जय’ को कैसे बर्दाश्त कर सकता है? तभी तो अपने प्राइम टाइम में रवीश दांत निपोरते हुए पूछते हैं- ‘हें.. हें.. किसकी और कौन-सी भारत माता! भारत माता तो माचिस की डिबिया पर भी बनी होती है!’

दरअसल 2014 में केवल सत्ता ही नहीं बदली,कईयों का छुपा देश विरोधी चेहरा भी सामने आ गया है! अपने एसी ड्राइंगरूम में बैठकर गरीबी, भुखमरी, किसानी की बात करने वालों के सामने इसे दूर करने वाला असली चेहरा( मोदी) जब से सामने आया है, तब से हर देशभक्त और देशभक्ति के प्रतिमानों को ढहाने की कोशिश अखबार व टीवी के स्टूडियो में शुरू हो चुकी है! यदि गरीबी-बेरोजगारी-भुखमरी दूर हो गई और असली नायकों की राह पर देश चल पड़ा तो पिछले 60 साल से इसे लूला-लंगड़ा बनाने की साजिश रचने वालों का फिर क्या होगा?

लेकिन ये नहीं जानते कि इनकी लाख कोशिशों के बावजूद हमारा नायक भारत के टुकड़े करने का ख्वाब देखने वाला कोई कन्हैया नहीं, अपनी मेहनत व लगन से भारत को जोड़ने वाला कोई धोनी ही हो सकता है!

आज आम जनता से लेकर खिलाड़ी तक पत्रकारों पर थूक रहे हैं! 2जी, कॉमनवेल्थ, कोलगेट, मनी लाउंडरिंग में हजारों करोड़ों का माल कांग्रेस के साथ मिलकर डकारने वाले मीडिया हाउस और पत्रकारों ने आज पत्रकारिता के समक्ष ऐसा विश्वास का संकट उत्पन्न कर दिया है, जिसे निकट भविष्य में बहाल करना लगभग नामुमकिन-सा लगता है! ‪

Web Title: behaviour of presstitutes indian media-1

Keywords: MS Dhoni Slaps Journalist For Asking Stupid Question|
Dhoni rips into journalist after India vs Bangladesh-WT20 Match|presstitutes indian media|

Comments

comments



Be the first to comment on "ज़ायरोपैथी – नये ज़माने की स्वास्थ्य समस्याओं का विश्वसनीय उपाय।"

Leave a comment

Your email address will not be published.

*