बिहार जंगलराज पार्ट-2ः बिहार में जेल से शासन चलाने की हो चुकी शुरुआत!

Category:
Posted On: April 9, 2016

बिहार फिर से जंगलराज की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। 90 के दशक का खुंखार अपराधी और सजायाफ्ता राजद प्रमुख लालू यादव के सहयोगी मोहम्मद शाहबुद्दीन ने फिर से जेल के अंदर से प्रशासन की बागडोर संभाल ली है! कहने को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं, लेकिन बिहार की अप्रत्यक्ष बागडोर लालू यादव के पास ही है!

यही कारण है कि नीतीश के मंत्री किसी भी काम के लिए अपने मुख्यमंत्री की जगह सीधे लालू से आदेश ले रहे हैं! इतना ही नहीं, सजायाफ्ता लालू के साथ-साथ नीतीश के मंत्री जेल में बंद शाहबुद्दीन से आदेश लेने के लिए भी पहुंच रहे हैं! 6 मार्च 2016 को जेल के अंदर बंद शाहबुद्दीन के साथ बैठक करते हुए नीतीश सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री अब्दुल गफूर पकड़े गए!

ताज्जुब की बात तो यह है कि एक- दो मीडिया हाउस को छोड़ कर,अन्य मीडिया हाउसों ने इस खबर को दबा दिया! कई लोगों को याद होगा कि लालू के राज में मीडिया वालों की वैन में अपहरण तक के मामलों की चर्चा सुनाई देती थी! इसलिए संभवतः सामाजिक न्याय के नाम पर एजेंडा जर्नलिस्टों को लालू का कुशासन ज्यादा मुफीद लगता रहा है, भले ही बिहारी मरते रहें! बिहारियों से ‘कौन जात हो?’ पूछने वाले पत्रकार नीतीश के मंत्री की अपराधी शाहबुद्दीन के साथ जेल के अंदर बैठक पर अपनी निष्पक्ष ‘पत्रकारिता की जात’ ही भूल बैठे?

हाल ही में जेल में बंद शाहबुद्दीन को लालू यादव ने अपनी पार्टी राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में भी शामिल किया है, जो इस बात की पुष्टि करता है कि बिहार में फिर से लालू जेल से शासन चलाने की शुरुआत कर चुके हैं! नरेंद्र मोदी विरोध में नीतीश कुमार ‘सुशासन बाबू’ से ‘कठपुतली बाबू’ बन कर रह गए हैं! आइए जानते हैं उस दौर के शाहबुद्दीन के उस खुंखार कुकृत्यों के बारे में, जिसकी आहट मात्र से बिहार की जनता भयभीत है!

Web Title: bihar jangal raj 2_ Rememberd Sahabuddin Tejab Murder case
Keywords: बिहार जंगलराज पार्ट-2| नीतीश कुमार| लालू यादव| मोहम्मद शाहबुद्दीन| सिवान का तेजाब कांड| शाहबुद्दीन का आपराधिक इतिहास| bihar jangal raj 2| Bihar firmly in grip of jungle raj-2| Jungle Raj returns in Bihar| Sahabuddin Tejab Murder case| Mohammad Shahabuddin is a criminal turned politician|Former Member of Parliament Sahabuddin is a criminal-turned-politician| 578 murders reported in Bihar| Sushasan or Jungle Raj? 578 murders reported in Bihar|

Comments

comments



Be the first to comment on "योगेन्द्र यादव जैसे वामपंथियों ने कांग्रेसी सरकार में खूनी नक्सली नेताओं का जीवन सीबीएससी की पुस्तक में डाला है! सरकार इसे कब हटाएगी?"

Leave a comment

Your email address will not be published.

*