संविधान एवं कानून की समीक्षा

जाति और मजहब की जगह बाबा साहब अंबेडकर के सपनों को पूरा करने के लिए मतदान करें!

इस बार विधानसभा चुनाव में अपना वोट जाति या धर्म के आधार पर नहीं बल्कि बाबा साहब अंबेडकर के सपनों को पूरा करने…


समान शिक्षा नीति लागू किए बिना, भारतीय संविधान का कोई मतलब नहीं!

क्या वर्तमान शिक्षा व्यवस्था सबको समान अवसर उपलब्ध कराती है? क्या आप भी सहमत हैं कि बाबा साहब अंबेडकर और दीनदयाल उपाध्याय जी…



कानून में बदलाव किए बगैर Agustawestland‬ घोटाले में में घिरी ‘सिग्नोरा गांधी’ को सजा दिलाना नामुमकिन!

आदरणीय प्रधानमंत्री जी, आप तो यह जानते हैं कि सोनिया-मनमोहनजी के 10 साल के कार्यकाल में 10 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का…


लोकतंत्र या लोभतंत्र!

वोटबैंक की राजनीति के कारण भारतीय संविधान अभीतक लगभग 75% ही लागू किया गया ! अनुच्छेद-44 (समान नागरिक संहिता), अनुच्छेद-48 (गौ हत्या प्रतिबंध),…


मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट को चेतावनी दे डाली कि वह समान नागरिक संहिता लागू करने की कोशिश न करे!

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने साफ शब्‍दों में सुप्रीम कोर्ट को चेताया है कि वह समान नागरिक संहिता लागू करने की कोशिश…


बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा सपना!

संविधान निर्माता बाबासाहब अंबेडकर, सरदार पटेल, श्यामाप्रसाद मुख़र्जी, डाo राजेंद्र प्रसाद, सर्वपल्ली राधाकृष्णन और देश के शहीदों को सबसे बड़ी श्रद्धांजली यह होगी…