व्यक्तित्व विकास

बुद्ध और महावीर की धरती पर जब गांधी को अहिंसा का पुजारी कहा जाता है तो मुझे भारतीयों की मूढ़ता पर केवल तरस आता है!

गांधी जी को फिर से परिभाषित करने की जरूरत है, क्‍योंकि जितना मैंने उन्‍हें पढा है, उनके व्‍यक्तित्‍व में अहंकार को मैंने जबरदस्‍त…


भारत के सर्वांग एकीकरण के पक्षधर सरदार पटेल पर एक अनुपम कृति!

हिंदी और अंग्रेज़ी के सुप्रतिष्ठित लेखक और अनेक कालजयी उपन्यासों के रचनाकार श्री Amarendra Narayan ने हिंदी में ‘एकता और शक्ति’ और अंग्रेज़ी…




कहानी कम्युनिस्टों के जरिये कम्युनिस्टों की काली करतूत और राज-योगी के जरिये नाथपंथ का उज्जवल इतिहास बताना जरूरी था!

1)#कहानीकम्युनिस्टोंकी मांग अंग्रेजी में बढ़ रही है! अंग्रेजी पत्रिका भी अब इसका रिव्यू छाप रही हैं। अंग्रेजी पत्रिका DayAfter के पत्रकार असित मनोहर…


आप मर कर भी जिन्दा रह सकते हैं बस जज्बा पैदा कीजिये!

“जिंदगी जिंदादिली का नाम है, मुर्दा दिल क्या खाक जिया करते हैं?” … यह पंक्तियाँ सार्थक होती हैं पिथौरागढ़ (बड़ाबे) निवासी गीता देवी…


वो विनोद खन्ना ही थे, जिसके कारण ओशो में मेरी जिज्ञास जगी और आज मैं एक ओशो संन्यासी हूं!

मन थोड़ा उदास है! आज विनोद खन्ना इस दुनिया को छोड़कर चले गए! अनजाने में ही विनोद खन्ना से बचपन की मेरी कई-कई…



भारत में आयातित वामपंथ के काले इतिहास पर से पर्दा उठाती किताब का नाम है ‘कहानी कम्युनिस्टों की’

आनंद कुमार। दुनिया के जघन्यतम अपराध क्रांतियों की आड़ लेकर हुए हैं। विश्व युद्धों की जड़ में कहीं ना कहीं क्रांति की आड़…


विचारधारा से कम्युनिस्ट पंडित नेहरू ने स्टालिन को खुश करने के लिए अमेरिका द्वारा भारत को परमाणु बम दिए जाने का किया था विरोध!

शैलेश भारद्वाज। किताब के शीर्षक से ही आप समझ गए होंगे की इसमें कम्युनिस्टों की कहानी है। ऐसे कम्युनिस्टों की कहानी जिसने प्रत्यक्ष…