पुस्तक और लेखक

मध्यप्रदेश की जीवनरेखा नर्मदा और उसके इर्द गिर्द पनपी संस्कृति से रूबरू करा रही है पत्रकार अलोक मेहता कि किताब ‘नमन नर्मदा’!

जाने माने पत्रकार आलोक मेहता की नई किताब नमन नर्मदा का लोकार्पण भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त श्री ओ पी रावत ने किया…


अपनी किताब की मार्केटिंग के लिए शहरी नक्सलियों के बचाव में उतरे रामचंद्र गुहा!

गांधी के नाम पर पहले ही दो किताबें ‘इंडिया आफ्टर गांधी ‘ तथा ‘गांधी बिफोर इंडिया’ लिख चुके इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने एक…


विक्रम सूद की किताब ‘द अनइंडिंग गेम’ ने बिकाऊ मीडिया की खोली पोल!

विक्रम सूद की लिखी यह किताब न तो ज्ञापन मात्र है न तो किसी खुफिया संगठनों की अंदरुनी दस्तावेज है। लेकिन हां यह…



जब लेखक को लोग भूल जाएं और कृति को याद रखें तब कोई किताब रचती है एक इतिहास!

इंडिया स्पीक्स डेली के प्रधानसंपादक और लेखक संदीप देव एक खोजी पत्रकार रहे हैं! उन्होंने भारत के कम्युनिस्टों के शुरूआती दौर के इतिहास…


9 अगस्त की क्रांति, कम्युनिस्टों का देशद्रोह और नेहरू की अंग्रेज भक्ति!

आज 9 अगस्त है। आज ही के दिन 1942 में महात्मा गांधी ने ‘अंग्रेजों भारत छोड़ो’ को क्रियान्वित किया था। आज राहुल गांधी…


“तुलसीदास के 500 साल बाद अयोध्या पर लिखी गई कोई ऐसी पुस्तक”

सुप्रसिद्ध आलोचक एवं साहित्यकार नामवर सिंह कहते हैं कि तुलसीदास के पांच सौ साल बाद किसी काशी वासी ने अयोध्या पर इस स्तर…



किताब ‘हिंदू टेरर’ ने खोला हिंदू आतंक के बीज बोने वालों का राज!

हिंदू टेरर: इनसाइडर एकाउंट ऑफ मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स जैसी किताब बिरले ही लिखी जाती है। इस किताब के लेखक स्वयं उस घटना…


RSS ने की थी राजीव गांधी को प्रधानमंत्री बनने में मदद? तत्कालीन संघ प्रमुख और कांग्रेस के बीच गुप्त बैठक का खुलासा!

अवधेश कुमार मिश्र। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद साल 1984 में हुए लोकसभा चुनाव में राजीव गांधी के नेतृत्व में…



गूढ़ विषयों को भी सरल शब्दों में समझा देना संदीप जी की एक विशेषता है: सुमंत विद्वांस

सुमंत विद्वांस। लेखक श्री Sandeep Deo जी से कल फिर एक बार दिल्ली में मुलाकात हुई। मैं उनका आभारी हूं कि वे इतनी…


नेहरू युग का आधार गांधी जी का ग्राम स्वराज नहीं, बल्कि रूसी समाजवाद था।

सुमंत विद्वांस। मैं अगर कहूं कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री नेहरूजी थे, तो आप अवश्य ही मुझसे सहमत होंगे। मैं अगर कहूं कि…


भारत के सर्वांग एकीकरण के पक्षधर सरदार पटेल पर एक अनुपम कृति!

हिंदी और अंग्रेज़ी के सुप्रतिष्ठित लेखक और अनेक कालजयी उपन्यासों के रचनाकार श्री Amarendra Narayan ने हिंदी में ‘एकता और शक्ति’ और अंग्रेज़ी…




कहानी कम्युनिस्टों के जरिये कम्युनिस्टों की काली करतूत और राज-योगी के जरिये नाथपंथ का उज्जवल इतिहास बताना जरूरी था!

1)#कहानीकम्युनिस्टोंकी मांग अंग्रेजी में बढ़ रही है! अंग्रेजी पत्रिका भी अब इसका रिव्यू छाप रही हैं। अंग्रेजी पत्रिका DayAfter के पत्रकार असित मनोहर…


भारत में आयातित वामपंथ के काले इतिहास पर से पर्दा उठाती किताब का नाम है ‘कहानी कम्युनिस्टों की’

आनंद कुमार। दुनिया के जघन्यतम अपराध क्रांतियों की आड़ लेकर हुए हैं। विश्व युद्धों की जड़ में कहीं ना कहीं क्रांति की आड़…


विचारधारा से कम्युनिस्ट पंडित नेहरू ने स्टालिन को खुश करने के लिए अमेरिका द्वारा भारत को परमाणु बम दिए जाने का किया था विरोध!

शैलेश भारद्वाज। किताब के शीर्षक से ही आप समझ गए होंगे की इसमें कम्युनिस्टों की कहानी है। ऐसे कम्युनिस्टों की कहानी जिसने प्रत्यक्ष…


15 वर्षों से परिवारवाद और जातिवाद का शिकार, ‘उत्तर प्रदेश – विकास की प्रतीक्षा में’

दुनिया के बड़े प्रकाशकों में से एक व हैरी पोटर सिरीज के प्रकाशक ब्लूम्सबरी पब्लिकेशन ने शांतनु गुप्ता की की पुस्तक ‘उत्तर प्रदेश…