वामपंथ

वामपंथियों के लिए सबसे बड़ा हथियार ही है ‘यौन’! तमिलनाडु के राज्यपाल यदि इसे जानते तो महिला पत्रकार के दादाजी बनने की चेष्ट नहीं करते!

भारतीय सभ्यता में बुजुर्ग बच्चों का गाल थपथपा कर हमेशा से उसे प्रेरित करते रहे हैं! तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने…





गौरी लंकेश की हत्या में आखिर क्या छुपाने की कोशिश कर रहे हैं वामपंथी पत्रकार?

बंगलुरु में ‘वामपंथी झुकाव’ वाली एक पत्रकार की हत्या कर दी गयी. मिनटों में ये ख़बर आग की तरह फैली और पत्रकार के…



योगेन्द्र यादव जैसे वामपंथियों ने कांग्रेसी सरकार में खूनी नक्सली नेताओं का जीवन सीबीएससी की पुस्तक में डाला है! सरकार इसे कब हटाएगी?

छत्तीसगढ़, राजेश शुक्ला। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 10वीं के पाठ्यक्रम में डेढ़ करोड़ के इनामी रहे नक्सली लीडर मल्लारजुल कोटेश्वर राव…


नक्सलवाद की जड़ में आखिर कौन? माओवाद प्रेमी प्रोफेसर नलिनी सुंदर, उनके वामपंथी पत्रकार पति सिद्धार्थ वरदराजन और सुप्रीम कोर्ट का वह फैसला!

दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर और जेएनयू की प्रोफेसर अर्चना प्रसाद पर आरोप है कि यह बस्तर के जंगलों में सैनिकों का…


नक्सलवाद की जड़ में आखिर कौन? छत्तीसगढ़ के जंगलों से नक्सलियों का खात्मा उसी दिन होगा, जब देश के संस्थानों और पत्रकारिता से वामपंथियों को मिटाया जाएगा!

मन उदास है। दांतेबाड़ा, सुकमा आदि के जंगलों में नक्सलियों द्वारा हमारे जवानों को शहीद किया जा रहा है और चाह कर भी…


फरेब और छिछले ज्ञान से भरे वामपंथी इतिहासकारों ने बढ़ाया है राम-जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद!

पारिजात सिन्हा। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले ने विवादित स्थल पर मंदिर होने के शोधपूर्ण वैज्ञानिक निष्कर्षों की पुष्टि तो की ही…


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें!

 

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है। देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें! धन्यवाद !