Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /nfs/c12/h04/mnt/223577/domains/indiaspeaksdaily.com/html/wp-content/themes/isd/includes/mh-custom-functions.php:277) in /nfs/c12/h04/mnt/223577/domains/indiaspeaksdaily.com/html/wp-content/plugins/wpfront-notification-bar/classes/class-wpfront-notification-bar.php on line 68
वामपंथ Archives - India Speaks Daily: Pressing stories behind the Indian Politics, Legislature, Judiciary, Political ideology, Media, History and society.

वामपंथ

शहरी नक्सल और उसके सूचना तंत्र पर करारा प्रहार!

छत्तीसगढ़ पुलिस ने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादियों) के शहरी गिरोह पर जबरदस्त चोट की है। पुलिस ने शहरी नक्सलियों के नेटवर्क के आईटी…


JNU की प्रयोगशाला से निकला है पीएम को मारने की साजिश रचने वाला रोना विल्सन!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह मारने का खुलासा जिस चिट्ठी से हुई है वह चिट्ठी जेएनयू के पूर्व…


पीएम मोदी को मारने की साजिश में कहीं बाबा साहब आंबेडकर का पोता प्रकाश आंबेडकर तो शामिल नहीं?

डॉ भीमराव अंबेडकर के पोते तथा बरिपा बहुजन महासंघ के राष्ट्रीय नेता प्रकाश आंबेडकर ने ‘टाइम्स नाउ’ चैनल के एक पत्रकार को छह…


पुणे पुलिस का बड़ा खुलासा, मानव बम के जरिए राजीव गांधी की तरह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या के लिए रची गयी थी साजिश!

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की ही तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करने के षडयंत्र का खुलासा हुआ है। कम्युनिस्ट माओवादी-आतंकियों से मिले…


भाजपा शासित राज्यों में नकली दलित आंदोलन पैदा करने के लिए माओवादियों को कांग्रेस कर रही है फंडिंग! चिट्ठी से हुआ बड़ा खुलासा!

महाराष्ट्र के आतंकवादी निरोधी दस्ता(ATS) के हाथ लगी चिट्ठी से माओवादियों के साथ कांग्रेस की साठगांठ का खुलासा हुआ है। चिट्ठी में स्पष्ट…


नक्सलियों से लेकर आतंकवादियों तक के लिए ‘लॉबिस्ट’ की भूमिका में है कम्युनिस्टों का ‘लाल दुर्ग’ JNU! देशद्रोह के इस ठिकाने पर अब सर्जिकल स्ट्राइक जरूरी है!

जब से जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी-JNU बनी है एक खास विचारधारा के लिए प्रसिद्ध रही है। इसलिए उसे कम्युनिस्टों का लाल दुर्ग भी…


JNU: में बवाल: ‘लव जेहादियों’ के पक्ष में कम्युनिस्टों ने बहाया खून!

लगता है जेएनयू की प्रासंगिकता ही खत्म होती जा रही है। वैचारिक द्वंद्व की जगह अब हिंसा का स्थल बनने लगा है जेएनयू…


कम्युनिस्ट, मुसलिम अलगाववादी और ईसाई पादरियों की साझी योजना, भारत और हिंदु समाज को तोड़ दो!

रामेश्वर मिश्र पंकज। समाजवाद के नाम पर फैलाए गए अज्ञान और कुशिक्षा के कारण सामान्य भारतीय शिक्षित व्यक्ति को संसार के बारे में…


वामपंथियों के लिए सबसे बड़ा हथियार ही है ‘यौन’! तमिलनाडु के राज्यपाल यदि इसे जानते तो महिला पत्रकार के दादाजी बनने की चेष्ट नहीं करते!

भारतीय सभ्यता में बुजुर्ग बच्चों का गाल थपथपा कर हमेशा से उसे प्रेरित करते रहे हैं! तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने…





गौरी लंकेश की हत्या में आखिर क्या छुपाने की कोशिश कर रहे हैं वामपंथी पत्रकार?

बंगलुरु में ‘वामपंथी झुकाव’ वाली एक पत्रकार की हत्या कर दी गयी. मिनटों में ये ख़बर आग की तरह फैली और पत्रकार के…



योगेन्द्र यादव जैसे वामपंथियों ने कांग्रेसी सरकार में खूनी नक्सली नेताओं का जीवन सीबीएससी की पुस्तक में डाला है! सरकार इसे कब हटाएगी?

छत्तीसगढ़, राजेश शुक्ला। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के 10वीं के पाठ्यक्रम में डेढ़ करोड़ के इनामी रहे नक्सली लीडर मल्लारजुल कोटेश्वर राव…


नक्सलवाद की जड़ में आखिर कौन? माओवाद प्रेमी प्रोफेसर नलिनी सुंदर, उनके वामपंथी पत्रकार पति सिद्धार्थ वरदराजन और सुप्रीम कोर्ट का वह फैसला!

दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर और जेएनयू की प्रोफेसर अर्चना प्रसाद पर आरोप है कि यह बस्तर के जंगलों में सैनिकों का…


नक्सलवाद की जड़ में आखिर कौन? छत्तीसगढ़ के जंगलों से नक्सलियों का खात्मा उसी दिन होगा, जब देश के संस्थानों और पत्रकारिता से वामपंथियों को मिटाया जाएगा!

मन उदास है। दांतेबाड़ा, सुकमा आदि के जंगलों में नक्सलियों द्वारा हमारे जवानों को शहीद किया जा रहा है और चाह कर भी…


फरेब और छिछले ज्ञान से भरे वामपंथी इतिहासकारों ने बढ़ाया है राम-जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद!

पारिजात सिन्हा। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले ने विवादित स्थल पर मंदिर होने के शोधपूर्ण वैज्ञानिक निष्कर्षों की पुष्टि तो की ही…


रोहिथ वेमुला पार्ट-3 की JNU में तैयारी JNU के एक छात्र ने आत्महत्या की !

अंबा शंकर वाजपेयी। बीजेपी के केंद्र में सत्तासीन होते ही इस देश में को बांटने का जो काम क्रिस्चियन मिशनरीज ने अस्मिता की…


अब तो साबित हो गया कि प्रोफेसर, जेएनयू के छात्र और वामपंथी पत्रकार मिलकर देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश रच रहे हैं!

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली की अदालत के एक निर्णय ने 2016 से देश भर में चल रही देशद्रोही गतिविधियों में शामिल उन वर्गों को…