मेनस्ट्रीम मीडिया

No Picture

विदेशी फंड पर पल रहे NGOs की धुन पर नाचने वाली फरेबी मीडिया ने सोहराबुद्दीन और इशरत के लिए बुना था हमदर्दी का जाल!

वो सन 2003 की हलकी हलकी ठंढ वाली रात थी। अमर उजाला अखबार के दिल्ली ब्यूरो में देर रात की रिपोर्टिंग की जिम्मेदारी…


शोहराबुद्दीन इनकाउंटर मामले में जज लोया के पुत्र ने फरेबी पत्रकारों की खोली पोल!

जज लोया की मृत्यु को हत्या साबित करने में लगे वापंथियों को पूर्व जज लोया के पुत्र ने आयना दिखाते हुए बॉम्बे हाई…


गुजरात पर गिद्ध दृष्टि वाले कारवां और रविश कुमार के फरेब का इंडियन एक्सप्रेस ने किया पर्दाफाश!

एक पत्रकार के लिए पढना लिखना परमावश्यक होता है और एक रिपोर्टर के लिए इसके साथ ग्राउंड पर जाकर तथ्यों और सबूतों को…



प्रेस क्लब बना गुंडों का अड्डा! रवीश का नया संपादक शाहिला और कन्हैया! पत्रकार कलम-कैमरे से नहीं लात-घूंसों से करेंगे बात!

एक पत्रकार होने के नाते अपनी ही बिरादरी के लोगों को सार्वजनिक रूप से भला-बुरा कहना ठीक नहीं है। लेकिन गौरी लंकेश की…



गौरी लंकेश हत्या का निहितार्थ!

पत्रकारों की हत्या दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन पत्रकारों का आतंकियों, अलगाववादियों, नक्सलियों, देश तोड़ने वाले तत्वों से सांठ-गांठ भी बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है! अभी-अभी देश…


नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बने तीन साल से अधिक हो चुके हैं, लेकिन आज भी मीडिया उनके साथ शत्रुओं जैसा व्यवहार कर रही है! अब तो हाईकोर्ट ने भी इसे माना है!

कल पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने मीडिया पर जो टिप्पणी की है, वह कहीं न कहीं गैर जिम्मेदार और तानाशाही रवैया अख्तियार करने…


लुटियन्स मीडिया के लिए अहमद पटेल की जीत के मायने यदि समझना है तो आप मेरी आपबीती से समझ सकते हैं!

कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के राजनीति सचिव अहमद पटेल राज्यसभा में जीतने में सफल रहे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की लगायी…


रवीश कुमार आपको सीबीआई अधिकारी की घुटन की बड़ी चिंता है?

कई बार सोचता हूं अपने मालिक पर हो रही कानूनी कारवायी को पत्रकारिता पर हमला कह कर हंगामा मचाने और ड्यूटी के दौरान…