Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /nfs/c12/h04/mnt/223577/domains/indiaspeaksdaily.com/html/wp-content/themes/isd/includes/mh-custom-functions.php:277) in /nfs/c12/h04/mnt/223577/domains/indiaspeaksdaily.com/html/wp-content/plugins/wpfront-notification-bar/classes/class-wpfront-notification-bar.php on line 68
मेनस्ट्रीम मीडिया Archives - India Speaks Daily: Pressing stories behind the Indian Politics, Legislature, Judiciary, Political ideology, Media, History and society.

मेनस्ट्रीम मीडिया

प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अभियान तेज करने के लिए बरखा दत्त लेकर आ रही है न्यूज चैनल?

बरखा दत्त से जुड़ा मामला हो और गर्म न हो ऐसा हो नहीं सकता, आज-कल बाजार गर्म है कि पत्रकार बरखा दत्त अपना…


कर्नाटक में कांग्रेस-JDS की सरकार बनवाने के लिए ‘पीडी पत्रकारों’ ने राज्यपाल पर दबाव बनाने का खेल किया शुरू!

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की सरकार बनवाने के लिए ‘पीडी पत्रकारों’ का पूरा झुंड राज्यपाल पर टूट पड़ा है। कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला…


आजतक चैनल के मालिक अरुणपुरी आखिर हर चुनाव से पूर्व प्रधानमंत्री मोदी के विरोधियों के साथ गुप्त बैठक क्यों कर रहे हैं?

भरतमुनी का नाट्यशास्त्र आज की पीढ़ी में से कम ने ही पढ़ी होगी। लेकिन शारीरिक भाषा को पढ़ने में एक्सपर्ट एलन पीज ने…


मोदी सरकार के खिलाफ नफरत से भरी मेनस्ट्रीम मीडिया गाली गलौज पर उतारू, एक चैनल ने किया स्मृति ईरानी के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग!

क्या पत्रकार खासकर किसी चैनल विशेष के एंकर होने का मतलब अपना आचार-विचार भूल जाना होता है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर…


सच तो यह है रजत शर्मा जी कि कठुआ केस में सोशल मीडिया ने नहीं, मेनस्ट्रीम मीडिया ने पत्रकारिता, न्याय के सिद्धांत और भारत-तीनों की हत्या की है! आप सब हत्यारे हैं!

रजत शर्मा अपने इंडिया टीवी में ‘आपकी अदालत’ चलाते हैं! आज से नहीं, करीब 25 सालों से चला रहे हैं। वह जितना बढि़या…


Republic के संपादक अर्नब गोस्वामी पर पैसे हड़पने का आरोप! पीड़ित ने की खुदकुशी!

अंग्रेजी चैनल रिपब्लिक टीवी के एमडी और प्रमुख संपादक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ एक महिला ने अपने पति को आत्महत्या करने को मजबूर…


वामपंथियों और ‘पीडी पत्रकारों’ के ‘सलेक्टिव आउटरेज’ के कारण समाज में पैदा हो रहा है विभाजन!

क्या विहिप कार्यकर्ता अभिषेक मिश्रा की OLA बुकिंग कैंसिल को लेकर चल रही ट्रोलिंग से पहले ऐसी किसी भी खबर की जानकारी किसी…


भारत के प्रति अंतरराष्ट्रीय मीडिया की साजिश का एक विदेशी पत्रकार ने किया खुलासा! कहा, सचेत रहिए, उपनिवेशवादी मानसिकता के पत्रकार भारत की छवि को ध्वस्त करने में लगे हैं!

बरखा दत्त और सदानंद धूमें जैसे उन भारतीय पत्रकारों की मानसिकता से केरोलिन गोस्वामी भलीभांति परिचित हैं। ये लोग द वाल स्ट्रीट जरनल…


अदालत को घुटने के बल खड़ा न कीजिए, ये सजा सलमान को नहीं उस सोच को है जो कानून को ठेंगा दिखाता है!

सलमान तो सलाखों से बाहर आ जाएंगे, अदालत की सोच कैद हो गई तो कानून के राज से आम जन का भरोसा खत्म…


फेक न्यूज को पीएम मोदी से मिला अभयदान पत्रकारिता के लिए ठीक नहीं !

ईमानदार और 2जी व सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा का जमीन घोटाला उजागर करने वाली पत्रकार शालिनी सिंह ने मोदी सरकार द्वारा…


क्या भारतीय मीडिया का धंधा फेक न्यूज पर टिका है?

लुटियन बिरादरी में शामिल ‘सरकारी पत्रकारों’ यानी ‘पेटिकोट पत्रकार’ का पूरा धंधा ही फेक न्यूज पर टिका है! मोदी सरकार ने सोमवार रात…


फेक न्यूज रोकने वाली गाइडलाइन से कौन चिंतित?

ईमानदार और 2जी व सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा का जमीन घोटाला उजागर करने वाली पत्रकार शालिनी सिंह ने मोदी सरकार द्वारा…


भाजपा के उप्र उपचुनाव हारते ही ‘पेटिकोट पत्रकारों’ ने जांच एजेंसी को धमकाना शुरू किया!

भाजपा के उप्र उपचुनाव हारते ही ‘पेटिकोट पत्रकारों’ ने जांच एजेंसी और नौकरशाहों को धमकाना शुरू किया कि “चेत जाओ! जांच रोक दो,…


‘पेटीकोट तंत्र’ से पैदा हुए ‘पेटीकोट पत्रकार’!

कुछ लोगों को आपत्ति है कि मैं पत्रकारों को ‘पेटिकोट पत्रकार’ क्यों कहता हूं? ऐसे लोग इतिहास से अनजान और ‘पेटिकोट’ शब्द से…



शोहराबुद्दीन इनकाउंटर मामले में जज लोया के पुत्र ने फरेबी पत्रकारों की खोली पोल!

जज लोया की मृत्यु को हत्या साबित करने में लगे वापंथियों को पूर्व जज लोया के पुत्र ने आयना दिखाते हुए बॉम्बे हाई…


गुजरात पर गिद्ध दृष्टि वाले कारवां और रविश कुमार के फरेब का इंडियन एक्सप्रेस ने किया पर्दाफाश!

एक पत्रकार के लिए पढना लिखना परमावश्यक होता है और एक रिपोर्टर के लिए इसके साथ ग्राउंड पर जाकर तथ्यों और सबूतों को…



राम रहीम हनीप्रीत की खबरों के अलावा, मीडिया मासूम की मौत पर कब पूछेगा सवाल?

हम सब को पल भर के लिये प्रद्युम्न का माँ बाप बन कर सोचना चाहिये…. पूण्यप्रशुन जैसे नामचीन पत्रकार मैदान में है इसके…


प्रेस क्लब बना गुंडों का अड्डा! रवीश का नया संपादक शाहिला और कन्हैया! पत्रकार कलम-कैमरे से नहीं लात-घूंसों से करेंगे बात!

एक पत्रकार होने के नाते अपनी ही बिरादरी के लोगों को सार्वजनिक रूप से भला-बुरा कहना ठीक नहीं है। लेकिन गौरी लंकेश की…