मुद्दा

कपिल सिब्बल लगाएंगे कांग्रेस के डूबते जहाज को आखिरी धक्का !

जब तक कांग्रेस का खिवैया कपिल सिब्बल बने रहेंगे किसी को उसकी नाव डुबाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अकेले कपिल सिब्बल ही काफी…


उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अधिकार पर सवाल उठाने वाला प्रशांत भूषण ‘कोर्ट फिक्स’ न कर पाने के कारण सबसे ज्यादा बेचैन है!

उपराष्ट्रपति ने कांग्रेस के महाभियोग अभियान को पलीता लगा दिया है। इसकी आग में कांग्रेस और इस अभियान के अगुआ बने प्रशांत भूषण…



राहुल गांधी के बलात्कार मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ क्यों नहीं उठी आवाज?

जज लोया मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज कांग्रेस पार्टी ने देश के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग चलाने…


जुनैद खान की हत्या में अदालत ने माना कि विवाद सीट को लेकर था। इसे बीफ विवाद बनाने वाले राजदीप, सागरिका, रवीश आदि ने अभी तक आपको बताया क्या?

जुनैद खान की हत्या के मामले में आरोपियों को पंजाब और हरियाणा कोर्ट द्वारा दी गई जमानत और टिप्पणी बेहद अहम है। कोर्ट…


कठुआ रेप केस: रोहिंग्याओं को बसाने के लिए डोगरा हिंदुओं को नष्ट करना जरूरी है, इसलिए कुलदेवता के मंदिर को किया गया टारगेट!

ग्राउंड रिपोर्टिंग से साफ जाहिर होता है कि कठुआ में बहुत बड़ी सांप्रदायिक हिंसा को अंजाम देने के लिए साजिश रची गई थी।…


कठुआ रेप केस: तो क्या 16 जनवरी की रात रची गयी थी हिंदुओं को बदनाम करने की साजिश?

देश के प्रमुख मीडिया चैनलों से लेकर जम्मू कश्मीर की सरकार तक कठुआ रेप मामले में एक गरीब परिवार को देश की अदालतों…


कठुआ रेप केस: आजतक, एनडीटीवी और बॉलिवुड को खुली चुनौती! देखो वीडियो और बताओ कि कठुआ के इस मंदिर में कहां हो सकता है रेप?

देश के प्रमुख मीडिया चैनल कठुआ जैसे संवेदनशील मामले पर ग्राउंड रिपोर्टिंग और तथ्यों के साथ रिपोर्टिंग की होती तो देश शर्मशार होने…


No Picture

कठुआ रेप केस में आरोपियों के पक्ष में सीबीआई जांच की मांग को लेकर उबला जम्मू!

कठुआ में रेप मामले को लेकर चल रही जांच पर सवालिया निशान लगने के बाद सीबीआई जांच की मांग जोड़ पकड़ने लगी है।…


बॉलिवुड के फ्लॉप सितारों ने कठुआ रेप केस के सहारे अपने करियर को चमकाने का खेला घृणित दांव!

विपुल विजय रेगे। फिल्म उद्योग में मार्केट वैल्यू का सबसे अधिक महत्व होता है। यदि किसी सितारे की मार्केट वैल्यू ख़त्म होती है…


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें!

 

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है। देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें! धन्यवाद !