इतिहास


वामपंथी और तथाकथित बुद्धिजीवियों ने प्राचीन भारतीय विमान प्रौद्योगिकी पर तथ्यहीन शोध पत्र के झूठ को फैलाया!

मेरे आलेख “वैमानिक शास्त्र – कल्पना और विचारधारा” से असहमत मित्र ने एक शोधपत्र भेजा – “अ क्रिटिकल स्टडी ऑफ द वर्क –…


वैदिक विमान- जब दुनिया ठीक से नेकर सिलना नहीं जानती थी, भारतीय ग्रंथों में सैंकडो बार वायु-मार्ग और विमान शब्द का हुआ था प्रयोग!

वैमानिक शास्त्र में मेरी जिज्ञासा थी। इसका कारण पुष्पक विमान नहीं बल्कि वामपंथी खेमे के पत्र-पत्रिकाओं व वेबसाईट पर प्रकाशित वे आलेख थे…


9 अगस्त की क्रांति, कम्युनिस्टों का देशद्रोह और नेहरू की अंग्रेज भक्ति!

आज 9 अगस्त है। आज ही के दिन 1942 में महात्मा गांधी ने ‘अंग्रेजों भारत छोड़ो’ को क्रियान्वित किया था। आज राहुल गांधी…



प्राचीन भारत अतिशयोक्ति का भंडार या षड्यंत्र का शिकार? पढ़िये चीनी प्रोफेसर का अद्भुत विश्लेषण!

Pak L. Huide। जो देश अपने इतिहास पर गर्व नहीं कर सकता वह कभी तरक्की नहीं कर सकता। चीनी मूल के कनाडा में…


मुसलमान और ईसाई जगन्नाथ मंदिर में घुसने के लिए इतने उतावले क्यों?

उड़ीसा की पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर में गैर हिंदुओं के प्रवेश को लेकर एक हिंदू वकील मृणालिनी पाधी ने याचिका दायर की है।…


क्यों न नेहरु के नाम पर बने फुटबाल स्टेडियमों का दोबारा नामकरण हो, नेहरु ने ही किया था भारतीय फुटबॉल का बेड़ा गर्क!

फीफा वर्ल्ड कप फुटबॉल टूर्नामेंट का कल समापन हुआ। अक्सर लोगों के मन में सवाल उठता है कि भारत जैसा बड़ा देश आखिर…


अमेरिकी पुरातत्वविद ने माना कि ताजमहल एक हिंदू भवन है।

भारत के मशहूर इतिहासकार पुरुषोत्तम नागेश ओक ने ताजमहल को हिंदू संरचना साबित किया था। तब नेहरूवादी और मार्क्सवादी इतिहासकारों ने उनका खूब…


दो अंग्रेज सर्जन जो नहीं कर पाए, वह सुश्रुत प्रणालि के जानकार एक भारतीय कुम्हार ने कर दिया! ऐसी थी हमारी चिकित्सा प्रणाली।

सुश्रुत शल्य चिकित्सा पद्धति के प्रख्यात आयुर्वेदाचार्य थे। इन्होंने सुश्रुत संहिता नामक ग्रंथ में शल्य क्रिया का वर्णन किया है। सुश्रुत ने ही…


एक महान भारतीय योद्धा जिसके कारण पूर्वोत्तर भारत की तरफ आंख उठा कर भी नहीं देख पाया औरंगजेब!

आपको यह तो ज्ञात होगा कि एनडीए (NDA) में जो बेस्ट कैडेट होता है, उसको एक गोल्ड मैडल दिया जाता हैं। लेकिन क्या…


कर्म कभी पीछा नहीं छोड़ता, मुगलों के कुकर्म का फल उनकी पीढियां आज भोग रही हैं!

वैसे तो भगवान कृष्ण ने गीता में अर्जुन से कहा था कि कर्म कभी किसी का पीछा नहीं छोड़ता, कर्म के अनुरूप फल…


भारत का प्राचीन इतिहास काफी गौरवशाली है! वैदिक काल में घोड़ों द्वारा खींचे जाने वाले रथों का वर्णन मिलता है!

उत्तर प्रदेश के सोनौली में जो पुरातात्विक अवशेष मिले हैं इससे यह साबित हो गया है कि हमारा प्राचीन इतिहास काफी गौरवशाली रहा…


पुराविद महाभारत का काल ईसापूर्व अधिकतम 900 वर्ष स्वीकारते हैं, जबकि पुराणों के अनुसार ईसा से 3102 वर्ष पूर्व तो कलियुग का ही आरम्भ हुआ है। आखिर ये अंतर क्यों?

बीते दिनों उत्तर प्रदेश के बागपत जिले का सनौली गांव पुरातात्विक खोजों के कारण चर्चा में रहा। डॉ. धर्मवीर शर्मा ने सनौली का…




अंग्रेजों ने क्यों और कैसे किया भारत की गुरुकुल प्रणाली को नष्ट?

इतिहास के पन्नों से : अंग्रेजों ने गुरुकुल परम्परा को तबाह किया! “भारत से ही हमारी सभ्यता की उत्पत्ति हुई थी। संस्कृत सभी…


कश्मीर का अतीत! कोटा रानी जिसने इसलामी आक्रमणकारियों से कश्मीर को बचाने के लिए मरते दम तक प्रयास किया!

कश्मीर इन दिनों विवादों में है। रहस्य का आवरण ओढ़े कई कहानियां आज कश्मीर के बहाने हम सब के सामने आ रही हैं।…


सोनिया के सहयोगी ने कहा.. अगर संघ के गोलवलकर नहीं होते तो जम्मू कश्मीर का विलय भारत में नहीं हो पाता

जिस संघ को कांग्रेस अछूत मानती है उसी संघ ने भारत के एकीकरण में अहम भूमिका निभाई है। जम्मू-कश्मीर अगर आज भारत का…


नालंदा विश्वविद्यालय जैसी धरोहर को नष्ट करने वाले बख्तियार खिलजी के नाम पर शहर का नाम क्यों और कब तक?

बख्तियार खिलजी, जिसने नालंदा विश्वविद्यालय को मिटा दिया था, बिहार में उसके नाम पर आज भी एक शहर का नाम जैसे इतिहास को…