Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /nfs/c12/h04/mnt/223577/domains/indiaspeaksdaily.com/html/wp-content/themes/isd/includes/mh-custom-functions.php:277) in /nfs/c12/h04/mnt/223577/domains/indiaspeaksdaily.com/html/wp-content/plugins/wpfront-notification-bar/classes/class-wpfront-notification-bar.php on line 68
भारत डिजिटल क्रांति की ओर है अग्रसर! - India Speaks Daily: Pressing stories behind the Indian Politics, Legislature, Judiciary, Political ideology, Media, History and society.

भारत डिजिटल क्रांति की ओर है अग्रसर!



Four year of Modi Govt. (File Photo)
Courtesy Desk
Courtesy Desk

अंबिका तिवारी । देश में डिजिटल क्रांति की और कदम बहुत तेजी से बढ़ रहे है। जब आप 2019 के चुनाव देखोगे तो मोदी सरकार का सबसे बड़ा एजेंडा “डिजिटल इंडिया “होगा। मोदी सरकार का सबसे बड़ा चुनावी वादा होगा,देश के 25 करोड़ बीपील परिवारों को फ्री-स्मार्टफोन! पर इससे जनता को क्या फायदा है?

किसान – देश के किसानों के बैंक खाते आधार से जोड़ने के साथ ही उनकी सभी(खाद ,बीज, मुआवजा) सब्सिडी उनके खाते में आया करेगी।सभी पटवारी और RI को स्मार्ट फ़ोन दिए जाएंगे जो किसान की फसल खराब होने पर GPS से लिंक एप्स पर फोटो क्लिक कर रियल रिपोर्ट दे सकेंगे।जो ऐप्स ISRO के उपग्रह से जुड़ा होगा जिससे किसान को सही और सटीक फसल मुआवजा मिल सकेगा।इस एप्स से केंद्र और राज्य सरकार को वास्तविक जानकारी मिल सकेगी।

ISRO के उपग्रह की हेल्प से ही देश की सारी जमीन का मापन करके,किसके पास कितनी जमीन है,किसकी है,उस पर किसका कब्जा है?ये पूरी जानकारी नेट पर होगी जिससे किसान को पटवारी से मापन करवाने और खसरा रिपोर्ट निकलवाने के लिए चक्कर नही लगवाने पड़ेगे। और सरकार की खाली पड़ी जमीन का भी सही उपयोग किया जा सकेगा।

ISRO की सहायता से ही देश में कौनसी फसल,किस क्षेत्र में,कितने एरिया में उगाई गई है, इसका पता लगाया जा सकेगा। जिससे ये सही-सही पता चल सकेगा कि देश में किस फसल की कमी होगी और कोन सी ज्यादा होगी तो उसी हिसाब से देश में मंहगाई को नियंत्रित करने में सहायता मिलेगी इसके साथ ही किस क्षेत्र में कोनसी फसल अच्छी होगी।उसकी मिट्टी कैसी है,कितनी नमी है और साइल हेल्थ कार्ड के वितरण से किसान को कोनसी फसल उगानी चाहिए, उसकी जानकारी किसान के मोबाइल पर प्राप्त होगी। इसके साथ ही साथ कोनसी फसल कैसे उगानी चाहिए,कोनसा कीटनाशक प्रयोग करना चाहिए इसकी जानकारी DD किसान चैंनल से दी जा सकेगी।

डिजिटल मंडी के प्रयोग से किसान घर बैठे देश की किसी भी मार्किट में अपनी फसल की बोली लगा सकेगा।जिससे बिचोलिये ख़त्म हो जाएंगे और पारदर्शिता बढ़ेगी।



राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !