हिंदी कविता- इस पथ पर कौन मिलेगा?



हिंदी कविता-इस पथ पर कौन मिलेगा (फोटो साभार गूगल)
Sanjeev Joshi
Sanjeev Joshi

इस पथ पर कौन मिलेगा?
साथी यह तय कौन करेगा?

आज मिला जो वह मेरा है,
कल आशाओं का फेरा है!
जीवन यह बहता दरिया है,
जो साथ बहेगा याद रहेगा!

इस पथ पर कौन मिलेगा ?
साथी यह तय कौन करेगा?

राहों पर बहुत लोग मिलेंगे,
संगी वही जो साथ चलेगा!
पथ पर बिखरे पड़े शुलों से,
मिलकर जो दो चार करेगा!

इस पथ पर कौन मिलेगा?
साथी यह तय कौन करेगा?

जुड़े राहों से चौराहे होंगे,
मीत वही सही मोड़ चुनेगा!
दिग्भ्रमित करते चौराहों पर,
आँख बनेगा पाँव बनेगा!

इस पथ पर कौन मिलेगा?
साथी यह तय कौन करेगा?

URL: India Speaks Daily hindi poem by Sanjeev Joshi

keywords: हिंदी कविता, कविता कोश, hindi poem, hindi kavita, Kavita kosh,


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !