कपिल सिब्बल का मतलब कहीं राजदीप, बरखा, सागरिका या शेखर गुप्ता जैसे ‘Our Journalists’ से तो नहीं था !

Posted On: June 28, 2016

देखिये इसे कहते हैं नेता जिसकी शख्सियत से बड़े बड़े सूरमाओं की जुबान फिसलने लगी!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री बन गए हैं! जिन्होंने किसी निजी न्यूज चैनल को साक्षात्कार दिया है! इधर उन्होंने साक्षात्कार दिया उधर विपक्षी खेमों में कोहराम मच गया! कपिल सिब्बल जैसे राजनीति के पुराने माहिर भी मोदी जी की इस चाल पर हैरान थे ! आनन फानन में ऐसी ट्वीट कर बैठे की कांग्रेस और मीडिया की दांत काटे की रोटी का सच लोगों के सामने उजागर हो गया।

दरअसल यह सारा वाकया कल टाइम्स नाउ पर अर्नब गोस्वामी के पीएम मोदी के साक्षात्कार को लेकर हुआ ! कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कांग्रेस के आफिशल ट्वीट एकाउंट से ट्वीट कर लिखा ‘ हम मोदी जी के किसी व्यक्ति विशेष द्वारा लिए गए इंटरव्यू को नहीं मानते, मोदीजी को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ‘हमारे पत्रकारों’ का जवाब देना चाहिए ‘ अब इस ‘हमारे’ शब्द का क्या विश्लेषण निकल जाये? क्या अर्नब गोस्वामी हमारे देश के पत्रकार नहीं है? चलिए फिर आप ही बता दीजिये ‘हमारे’ पत्रकारों में आप किन-किन को शुमार करते हैं! या फिर देश और कांग्रेस के पत्रकारों में क्या असमानतायें हैं, यह बता दीजिये !

#ISD पत्रकारों की एक विशेष लॉबी को हमेशा एजेंडा पत्रकारिता में शामिल मानती है! कपिल जी कहीं ये वही पत्रकार तो नहीं जिनको आप अपना यानि कांग्रेस का मान रहे है. खैर जाने अनजाने में वह सच बाहर तो आया अब इसे जो भी माना जाये ! जुबान का फिसलना या लिखने की त्रुटि किन्तु सच तो यह है कि पीएम मोदी की शख्शियत आप लोगों पर भारी पड़ रही है।

Comments

comments



Be the first to comment on "पब्लिसिटी चाहते है तो देश विरोधी बन जाइये और सेक्युलर गिरोह के लाड़ले भी!"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*