CAG द्वारा घोटाला खोलने से परेशान कांग्रेस ने अगस्ता वेस्टलैंड में तत्कालीन सीएजी को ही घूस थमा दिया!

भारत के पूर्व Comptroller and Auditor General (CAG) सीएजी विनोद राय ने काॅमनवेल्थ घोटाले से लेकर 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, कोयला खदान आवंटन घोटाला क्या खोला, अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में कांग्रेस ने तत्कालीन सीएजी को ही भ्रष्टाचार में अपना पार्टनर बना लिया! डाॅ. सुब्रहमनियन स्वामी- @Swamy39 द्वारा ट्वीट किए गए लिंक के अनुसार, तत्कालीन सीएजी शशिकांत शर्मा को भी अगस्ता वेस्टलैंड के बिचैलिए क्रिश्चियन मिशेल से घूस की राशि मिली थी!

इटली की उच्च न्यायालय के आदेश की पेज संख्या-9 पर बिचैलिय क्रिश्चियन मिशेल द्वारा जब्त दस्तावेज का उल्लेख है, जिसमें यह दर्शाया गया है कि किस-किस तरह से एयर फोर्स अधिकारियों, रक्षा मंत्रालय के नौकरशाहों और सोनिया गांधी के राजनैतिक सलाहकार अहमद पटेल को घूस की रकम बांटी गई। नौकरशाहों के नाम के बीच एक नाम DG (Acq) लिखा है, जिसका मतलब है Director General (Acquisition). उस वक्त रक्षा मंत्रालय के अधीन यह पद वर्तमान CAG Shashi Kant Sharma के पास था।

आप लोगों ने न्यूज चैनलों की बहस में कांग्रेसी प्रवक्ताओं को यह कहते बार बार सुना है कि मोदी सरकार सीएजी की रिपोर्ट को क्यों नहीं मान रही है? कांग्रेसी प्रवक्ता सुरजेवाला यही बात बार-बार उठा रहे हैं! इसकी असली वजह शायद यही है कि सीएजी भी मिशेल के घूस लेने वाली सूची में शामिल हैं!
बिहार कैडर के आईएएस शशिकांत शर्मा को कांग्रेस ने सीएजी भी बहुत गलत तरीके से बनाया। साल 2003 में शशिकांत शर्मा रक्षा मंत्रालय में Joint Secretary (Air) थे। अगस्ता वेस्टलैंड मामले को हरि झंडी दिखाने पर उन्हें 2007 के मध्य में DG (Acquisition) बना दिया गया, जहां वह 2010 तक जमे रहे। बाद में उन्हें पदोन्नति देकर मार्च 2011 में रक्षा सचिव जैसा ताकतवर पद दिया गया, जहां वह 2013 तक रहे। जब कांग्रेस को लगा कि अब सत्ता जा रही है और सीएडी की आॅडिट रिपोर्ट में अगस्ता घोटाले की भी पोल खुल जाएगी तो यूपीए सरकार ने मई 2013 में एकाएक उन्हें Defence Secretary से उठाकर सीएजी बना दिया!

सवाल उठाया गया है कि जो व्यक्ति पिछले एक दशक से रक्षा मंत्रालय के विभिन्न पदों पर कार्यरत रहा हो, उसे अचानक से सीएजी कैसे बनाया जा सकता है? आज तक एक भी रक्षा सचिव के सीएजी बनने का इतिहास नहीं है! लेकिन अपने घोटाले पर पर्दा डालने के लिए तत्कालीन यूपीए सरकार ने हथियार दलाल मिशेल की सूची में शामिल रक्षा मंत्रालय के एक नौकरशाह को सीएजी नियुक्त कर दिया! सीएजी एक संवैधानिक पद है और कांग्रेस ने इस संवैधानिक पद की गरिमा को भी कलंकित करने से गुरेज नहीं किया।

नोट- यह पूरी खबर डाॅ स्वामी द्वारा टवीट किए गए https://www.pgurus.com/role-current-cag-shashi-kant-sharma-agusta-westland-deal/ का हिंदी अनुवाद भर है, जहां दस्तावेज भी उपलब्ध है। आईएसडी इस खबर की सत्यता या मौलिकता का कोई दावा नहीं करता है। आप सभी लिंक पर जाकर अंग्रेजी में मूल खबर पढ़ और दस्तावेज देख सकते हैं। धन्यवाद!

Web Title: Role of current-cag-shashi-kant-sharma-agusta in westland-deal
Keywords: AgustaWestland scam| Congress| Dr. Subramanian Swamy| Sonia Gandhi|

Comments

comments



Be the first to comment on "बाजार में मौजूद है कई गुणा करेंसी, प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर की कार्रवाई की मांग!"

Leave a comment

Your email address will not be published.

*