जानिए, नवरात्र में घट स्थापना और अखंड ज्योति प्रज्वलित करने का शुभ मुहर्त !



Shardiya Navratri 2018
Courtesy Desk
Courtesy Desk

पं. हेमंत रिछारिया। 10 अक्टूबर से शारदीय नवरात्र प्रारंभ होने जा रही है। नवरात्र के यह नौ दिन मां दुर्गा की पूजा-उपासना के दिन होते हैं। अनेक श्रद्धालु इन नौ दिनों में अपने घरों में घट-स्थापना कर अखण्ड ज्योति की स्थापना कर नौ दिनों का उपवास रखते हैं। आइए जानते हैं कि नवरात्र में घट-स्थापना एवं अखण्ड ज्योति प्रज्जवलन का शुभ मुहूर्त कब है-

दिवस मुहूर्त

* प्रात: 6:00 से 9:00 बजे तक,

* प्रात: 10:30 से 12:00 बजे तक

* सायं 4:30 से 6:00 बजे तक

सायंकालीन मुहूर्त- .

* सायं 7:30 से 10:30 बजे तक .

शारदीय नवरात्र कलश स्‍थापना की पौराणिक और शास्त्रीय विधि

पूजा स्‍थल पर मिट्टी की वेदी बनाकर उसमें जौ, गेहूं बोएं। फिर उनके ऊपर कलश (अपनी सामर्थानुसार मिट्टी, तांबे या सोने) को रखें। इसके ऊपर मां दुर्गा की मूर्ति को प्रतिष्ठित करें। मूर्ति यदि कच्ची मिट्टी या कागज की हो तो इस बात का ध्‍यान रखें कि उसमें कोई विकृति न आए। इसके लिए चाहें तो उसके ऊपर शीशा लगा दें। या कलश पर स्वास्तिक का चिह्न बनाकर दुर्गाजी का चित्र ओर शालीग्राम को विराजित कर भगवान विष्णु का पूजन करें।

दुर्गासप्‍तशती का करें पाठ

नवरात्र व्रत के आरंभ में स्वास्तिक वाचन-शांतिपाठ करके संकल्प लें और प्रथम पूज्‍य भगवान श्रीगणेश की पूजा कर मातृका, लोकपाल, नवग्रह व वरुण का विधि अनुसार पूजन करें। उत्‍तर या पूर्व दिशा में मुंह करके पूजा करें। इसके बाद मुख्य मूर्ति का षोडशोपचार पूजन करें। दुर्गा देवी की आराधना-अनुष्ठान में महाकाली, महालक्ष्मी और महासरस्वती का पूजन तथा मार्कण्डेयपुराणान्तर्गत निहित श्रीदुर्गासप्तशती का पाठ नौ दिनों तक करें।

इन बातों का रखें ध्‍यान

इस दौरान यदि हो सके तो अखंड दीप जलाएं। यदि घी का दीपक लगा सकते हैं, तो ध्‍यान रखें कि उसे माता की मूर्ति के दाईं ओर रखें। यदि दीपक तेल का जला रहे हैं, तो ध्‍यान रखें कि उसे मूर्ति के बाईं ओर रखें। यह ज्‍योति घी डालते वक्‍त, बत्‍ती ठीक करते वक्‍त बुझे नहीं इसके लिए छोटे दीपक का इस्‍तेमाल करें। पहले छोटे दीपक को जला लें। यदि अखंड ज्‍योति बुझ जाए तो, दीपक से अखंड ज्‍योति फिर से जलाई जा सकती है। बाद में छोटे दीपक की बाती को घी में डुबोकर बुझा दें।

साभार: शशि झा के फेसबुक वाल से

URL: shardiya navratra,2018- kalash Auspicious establishment time

Keywords: Navaratri 2018, Navratri kalash sthapana, shardiya navratra, shardiya navratri vrat, durga puja, नवरात्रि 2018, नवरात्रि कलश स्थापना,शारदीय नवरात्रि, शारदीय नवरात्रि व्रत, दुर्गा पूजा,


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !