Watch ISD Videos Now Listen to ISD Radio Now

बूचड़खाने से शुरुआत कर 25 कंपनी के मालिक बने मीट व्यापारी मोईन कुरैशी पर पहला वार मोदी ने ही किया था।

देश के सबसे बड़े मीट व्यापारी जिस मोईन कुरैशी की गिरफ्तारी के बाद सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना भ्रष्टाचार के लपेटे में आ गए हैं। उस पर सबसे पहले और बड़ी चोट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही की थी। यह वाकया 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान का है। जब मोदी ने मोईन कुरैशी पर कांग्रेस के आलाकमान (सोनिया गांधी) से संबंध होने का आरोप लगाया था। उन्होंने अपने जनसभा में आरोप लगाया था कि सोनिया गांधी के साथ संबंध होने की वजह से ही यूपीए सरकार मोईन कुरैशी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जो आरोप नरेंद्र मोदी ने उस समय लगाया था वह आज सच साबित हो रहा है। मोईन कुरैशी और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल के बीच हुई बातचीत का 500 घंटे का टेप भी सामने आ गया है। जिसकी जांच अभी की जा रही है।

मुख्य बिंदु

* मोईन कुरैशी और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल के बीच हुई बातचीत के 500 घंटे का टेप आया सामने

* मीट व्यापारी मोईन कुरैशी, अहमद पटेल और राकेश अस्थाना की अय्यारी अब जगजाहिर हो गई है

एक बूचड़खाने से शुरुआत करने वाले देश के सबसे बड़े मीट व्यापारी आज 25 कंपनियों का मालिक है। मोईन कुरैशी का नाम देश के सबसे बड़े मीट निर्यातक के रूप में शामिल है। आय कर की चोरी से लेकर मनी लॉन्ड्रिग तथा हवाला कारोबारी के रूप में देश की तमाज एजेंसिया उनकी करतूतों की जांच करने में लगी है। जांच एजेंसियों के खुलासे के मुताबिक मोईन कुरैशी की करीब 200 करोड़ रुपये की संपत्ति विदेशों में जमा है।

कुरैशी का संबंध अहमद पटेल से कितना गहरा है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि आज भी जांच एंजेसियां पूर्व सीबीआई निदेशक रंजीत सिन्हा के हटाने के मामले में अहमद पटेल और मोईन कुरैशी की ही भूमिका की जांच कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उस दौरान मोईन कुरैशी अक्सर अहमद पटेल से मिला करते थे। अहमद पटेल और रंजीत सिन्हा के संबंध तो पहले से ही जगजाहिर हैं। आपको बता दूं कि जब मोईन कुरैशी के घरों और दफ्तरों पर छापेमारी की गई थी तो सबसे बड़ा खुलासा यह हुआ था कि पूर्व सीबीआई निदेशक एपी सिंह की मां के घर से कुरैशी का एक दफ्तर चलता था। एपी सिंह सीबीआई के पूर्व निदेशक रहे हैं जिन्हें यूपीए सरकार ने बाद में यूपीएससी का सदस्य बनाया था। इस मामले के उजागर होने पर उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था।

अब जब सीबीआई में दो शीर्ष अधिकारियों यानि सीबीआई निदेशक और विशेष निदेशक के बीच जो आंतरिक कलह बाहर आया है उसके बीच में भी मोईन कुरैशी की करतूत सामने आई है। आरोप है कि मोईन कुरैशी ने ही राकेश अस्थाना को दो करोड़ रुपये की रिश्वत दी थी।

दून स्कूल से स्कूली शिक्षा लेने के बाद दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से ग्रेजुएशन करने वाले मोईन कुरैशी ने 1993 में यूपी के रामपुर में एक बूचड़खाने से अपना कारोबार शुरू किया था। महज दस साल में ही वह देश का बड़ा मीट निर्यातक बन गया। यह उसके दिखावे का कारोबार था जबकि वह अंदरखाने देश का पैसा विदेश भेजने के काम में लिप्त था। एक तरफ देश का कर चोरी करता था दूसरी तरफ देश का पैसा विदेश भेजता था। इन सब आरोपों को लेकर ईडी ने उनसे कई बार पूछताछ की थी! जब वह समझ गया कि अब मोदी सरकार में उस पर शिकंजा कसते जा रहा है तो उसने दुबई भागने की योजना बनाई। लेकिन जब तक उसकी योजना सफल होती उसे 2017 में गिरफ्तार कर लिया गया। उसे जब इंदिरा गांधी हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया तब वह दुबई भागने वाला था।

अपनी बेटी की शादी में पाकिस्तानी गायक फतेह अली खान को बुलाना मोईन कुरैशी के लिए घातक साबित हुआ। मोईन कुरैशी ने जब फैशन स्टोर चलाने वाली अपनी बेटी पर्निया की शादी की तो उसमें पाकिस्तानी गायक फतेह अली खान को गाने के लिए बुलाया था। शादी खत्म होने के बाद जब फतेह अली खान पाकिस्तान जा रहे थे तो वे 56 लाख विदेशी मुद्रा के साथ पकड़े गए। इसी मामले की जांच के बाद मोईन कुरैशी देशी की जांच एजेंसियों खासकर आयकर विभाग के रडार पर चढ़ गए। जब जांच शुरू हुई तो तो कई लोग इसके लपेटे में आ गए। जो चोट मोदी ने 2014 लोकसभा चुनाव अभियान के दौरान की थी उसका परिणाम अब निकलना शुरू हो गया है।

URL: All you need to know about Moin Qureshi who is in Radar of CBI

keywords: Moin qureshi, cbi, investigatioin, rakesh asthana, accused, bribery case, who is moin qureshi, meat exporter, मोइन कुरैशी, सीबीआई, राकेश अस्थाना, रिश्वत मामला, मोइन कुरैशी, मांस निर्यातक

आदरणीय पाठकगण,

ज्ञान अनमोल हैं, परंतु उसे आप तक पहुंचाने में लगने वाले समय, शोध, संसाधन और श्रम (S4) का मू्ल्य है। आप मात्र 100₹/माह Subscription Fee देकर इस ज्ञान-यज्ञ में भागीदार बन सकते हैं! धन्यवाद!  

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Other Amount: USD



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/Google Pay/ पे / Pay Zap/AmazonPay के लिए - 9312665127
WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9540911078

ISD Bureau

ISD Bureau

ISD is a premier News portal with a difference.

You may also like...

Write a Comment

ताजा खबर