Category: प्रेरक व्यक्तित्व

0

अक्षय कुमार द्वारा मोदी का साक्षात्कार…सनातनी राजा की कसौटी पर खड़े उतरते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी!

साक्षात्कार का आध्यात्मिक विश्लेषण- ऋषि सदृश्य जीवन- संन्यासी, दीवाली में पांच दिन के लिए एकांत वन में बस पीने के पानी के साथ गुजारना। सत्ता से निर्लिप्त- सैलरी कर्मचारियों के बच्चों के नाम, बैंक...

0

नाम को उड़ने दो,खुद जमीन पर रहो

सुबह एक वीडियो पर निगाह ठहर गई और उससे एक विचार का पौधा उग आया। लोकप्रियता कैसी भी हो ‘आभासी’ होती है। वास्तविक लोकप्रियता भी ‘आभासी’ ही होती है। लोकप्रियता की जो उड़ान भरता...

0

अगले सौ साल में ब्रम्हाण्ड में नया घर न खोजा तो कंप्यूटर करेंगे हम पर शासन!

प्रख्यात भौतिक विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग अपनी मौत के सात माह बाद फिर चर्चा में हैं। हाल ही में उनकी आखिरी किताब ‘ब्रीफ आंसर्स टू ब्रीफ क्वेश्चंस’ प्रकाशित हुई है। ब्रम्हाण्ड के बारे में विश्व...

0

मृत्यु से पूर्व ही अपनी मौत का एहसास हो गया था वी.एस.नायपाल को! सनातन ब्राह्मणत्व की समझ से यह संभव हुआ!

दुनिया में ऐसे बहुत कम साहित्यकार हुए हैं जो अपनी मृत्यु का आभास कर अपनी रचना को अंतिम बता गए हों। अपना अधिकांश जीवन त्रिनिदाद और ब्रिटेन में बिताने वाले वीएस नायपॉल अंग्रेजी के...

0

वास्तविक जीवन का भी सुपरहीरो है ‘हल्क’!

एवेंजर्स के सुपरहीरो ‘हल्क’ को जब गुस्सा आता है तो वह हरे रंग का दानव बन जाता है। गुस्सा हल्क की सबसे बड़ी ताकत है। हल्क को दुनिया भर के सिनेमाई दर्शक पसंद करते...

0

एक कुली जिसने प्रधानमंत्री मोदी के Digital India का सही उपयोग किया और पास कर गये सिविल सेवा की परीक्षा!

केरल के एर्नाकुलम स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. ने लोगो के लिए एक मिसाल कायम की है जो न केवल अनोखी है बल्कि काबिले-तारीफ भी है। श्रीनाथ सिविल सर्विसेज की...

0

इंजीनियरिंग के छात्र ने डॉक्टर बनकर हवा में बचाई एक व्यक्ति की जान!

आईआईटी कानपुर के इंजीनियरिंग के छात्र कार्तिकेय मंगलम ने अपने तकनीकी कौशल से हवा में एक व्यक्ति की जान बचा कर यह साबित कर दिया कि हौसले के आगे डिग्री फीकी पड़ जाती है।...

0

आप मर कर भी जिन्दा रह सकते हैं बस जज्बा पैदा कीजिये!

“जिंदगी जिंदादिली का नाम है, मुर्दा दिल क्या खाक जिया करते हैं?” … यह पंक्तियाँ सार्थक होती हैं पिथौरागढ़ (बड़ाबे) निवासी गीता देवी पर जिन्होंने मरने के बाद अपने शरीर को दूसरों की जिंदगी...

जमीन से उठकर आसमान छूने वाला योद्धा गोपीचंद

रियो ओलंपिक में पिछले दो दिन भारत के लिए यादगार बनकर गुजरे. पहले साक्षी तंवर और उसके बाद पी वी सिंधु ने भारत के 125 करोड़ लोगों के लिए कुछ ख़ुशी के पल दिए.यह...

पुश-अप में गिनीज बुक मे अपना नाम दर्ज कर रोहताश ने रचा इतिहास ;स्लिप डिस्क भी जिनका हौसला नहीं तोड़ सकी

जिनके हौसलों में जान होती है अक्सर वही अपने निशान छोडते हैं इतिहास के पन्नों में. दिल्ली के रोहताश चौधरी भी नित नयी सफलताओं की इबारत लिख रहे हैं अभी हाल में ही एक...

बिहार के दूसरे दसरथ मांझी की कहानी -35 साल से एक नदी पर लाखों लोगों की सुविधा के लिए खुद बना रहे हैं बांस का पुल!

विभूति कुमार रस्तोगी: बीते 35 साल से एक 27 गांव के साथ साथ भारत-नेपाल को जोड़ने वाले सड़क के बीच बहने वाली नदी पर अपने खर्चे से पुल बनाते आ रहे हैं।vपहली बार सन्...

पुश-अप में गोल्डन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले रोहताश, स्लिप डिस्क भी जिनका हौसला नहीं तोड़ सकी!

शशिरंजन वर्मा नई दिल्ली खानपुर गाँव निवासी रोहताश चौधरी इन दिनों अपने नए मिशन पर हैं। वह अपनी पीठ पर 25 किलो वजन लाद कर 41 सौ पुश-अप लगाकर नया विश्व कीर्तिमान स्थापित करने...

ताजा खबर