Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Category: भारत निर्माण

0

19 January

That NightWas the Day of Proclamation ofThe Charter of HatredFortressesDropped the Display Boards ofPrayer Houses. That NightDeceptionCalled it a DayBrotherhood was expungedFrom the Play. That NightWhiplash TonguesLike starved PhallusesSought MicrophonesAs Orifices to practiceSexual orgiesWith...

0

लक्ष्य नहीं अब दूर है

नेता  क्यों  डरपोक  हो  गये  ?  इसकी  जांच  जरूरी  है ; गुंडों से  क्यों  इतना  डरते  ?  आखिर  क्या  मजबूरी  है ? हाईजैक  तो  नहीं   हो   गये ,   राष्ट्र – सुरक्षा   खतरे   में ;...

0

जो फूल अंजुली में गिरता है, समेट लो; अन्यथा अभागे के अभागे ही रहोगे!

विचार और सत्य एक-दूसरे के शत्रु हैं! हां, लेकिन यह भी सच है कि विचार से ही सत्य की यात्रा शुरू होती है। जैसे यात्रा के पहले पड़ाव को छोड़े बिना अंतिम लक्ष्य तक...

0

राष्ट्र की बर्बादी की कहानी

सर्वश्रेष्ठ  है  धर्म – सनातन ,  पर कहीं  नहीं है  हिंदू- राष्ट्र ; ऐरे -गेरे जितने  मजहब ,  पर जाने  कितने हैं  उनके राष्ट्र । मानवता के  सर्वश्रेष्ठ  गुण ,   धारण करता  धर्म- सनातन...

0

हार्ट के मरीज़ों के लिये आशा की एक नई किरण

घर में तीन महिनें हेल्प का काम करने के बाद, अचानक मंजु ने कहा कि क्या आप डॉक्टर हैं ? मैंने उसे बताया कि मैं डॉक्टर नहीं हूँ, पर मैं लोगों की हर बीमारी...

0

साहित्य सृजन का उद्देश्य

साहित्य सृजन का उद्देश्य यही है ,अंधकार को दूर हटाना ; ज्ञान की किरणों का सूर्योदय ,  काली रात का मिट जाना । मानव जाति को मार्ग दिखाये ,  सारी भटकन को दूर करे...

0

सबसे बड़ा दरिद्र

स्वार्थ हीन जीवन जब होता , सच्चा सुख मिलने लगता है ; लोभ – लालच जाने लगते हैं ,  अहंकार  गलने  लगता है । ऊंच-नीच  का भेद  न रहता ,  केवल  एक ही सत्ता...

2

डॉ. शैलेन्द्र कुमार की पुस्तक, ‘ईसावाद और पूर्वोत्तर का सांस्कृतिक संहार’ ईसावाद की गहरी कब्र खोदती है।

यह समाचार सुर्ख़ियों में बना हुआ है कि केरल की एक अदालत ने बहुचर्चित नन रेप केस में कैथोलिक चर्च के जालंधर सूबा के बिशप फ्रैंको मुलक्कल को 14 जनवरी 2022 को निचली अदालत...

0

दुनिया में सनातन की और लोग आ रहे हैं इसका आपने इतना बढ़िया विश्लेषण किया है, कि दिल बाग बाग हो गया।

P U Thakkar. बहुत अर्से के बाद दिल को सुकून मिला। मैं तो खुश हो ही गया था यह सुनकर। लेकिन ज्यादा खुशी तो इससे मिली जब आपके चेहरे पर जो चमक देखी, जो...

0

ज़ायरोपैथी के बारे में नवल किशोर जहानाबाद, बिहार से कहते हैं

इसमें कोई दो राय नहीं आपके product में बेहतरी की जान है। मैं अपने अनुभव से कह रहा हूं। यदि कुछ बिन्दु को छोडकर बाकी में पूरी तरह लाभ ही लाभ है। stomach में...

0

मैं अब्राहमिकों को ‘टिड्डे’ क्यों कहता हूं?

एक पाठक का प्रश्न:- सन्दीप जी, आप हमेशा हरे टिड्डे और सफ़ेद टिड्डे क्यों कहा रह रहें हैं, सीधा सीधा, मुस्लिम क्रिश्चियन कहिए ना! इसमें डर डर के बात कहने की क्या जरूरत है...

0

‘पॉप माइथोलॉजिस्ट’ देवदत्त पटनायक और उसे स्थापित करने का खेल!

पंडित नेहरू को एक विचारक के रूप में जिस प्रकाशक ने स्थापित किया था, वही देवदत्त पटनायक को भी स्थापित कर रहा है, आप आंखें कब खोलेंगे? वामपंथ पहले अपने टूल को एक लेखक-विचारक...

0

धर्म सनातन की ताकत से

गुंडों  ने  हाईजैक   कर   लिया ,  वो   नेता   नाकाम   है ; फौरन इसको पद मुक्त करो ,  इसका  अब  क्या काम है ? जब तक रहेगा अपने पद पर , हानि राष्ट्र की करता...

0

हिंदू कुल कलंको की सेना

हिंदू- कुलकलंकों  की  सेना ,  भरी पड़ी  है  भारत  में ; भरे  हुये  हैं  राजनीति  में ,  प्रेस ,मीडिया ,फिल्मों  में । यही हैं वामी ,यही हैं कामी ,  जिम्मी और सेक्युलर  हैं ;...

0

अपना रौद्र रूप दिखलाओ

राष्ट्र को  नीचे गिरा  रहा है ,  पद की  गरिमा  घटा रहा है ; ऐसा  लकवाग्रस्त  हुआ  है ,   देश को  नेता  रुला रहा है । खुद की इज्जत भूल चुका है ,राष्ट्र की...

0

प्रश्नोत्तर माला (भाग- 2)

प्रश्न – लोकतंत्र की आत्मा क्या है ? उत्तर – कानून का शासन । प्रश्न – लोकतांत्रिक राज्य की सबसे पहली ड्यूटी क्या है ? उत्तर – सभी के जीवन , धन – संपत्ति...

0

प्रश्नोत्तर माला (भाग-1)

प्रश्न – भ्रष्ट राजनीतिज्ञों का पसंदीदा बैंक कौन है ? उत्तर –  वोट बैंक । प्रश्न – राष्ट्र की सारी समस्याओं की जड़ क्या है ? उत्तर – भ्रष्टाचार । प्रश्न – भ्रष्टाचार की...

0

पूरी टीम बदलनी होगी

कमजोरों की  केंद्र में सत्ता ,   बहुमत की  निर्बल सरकार ; निर्बल  नेता  करो  रिटायर ,   युवा  साहसी  की  दरकार । अलगाववाद  बढ़  रहा  देश  में ,  राष्ट्र  बहुत है  खतरे  में ; भरे ...

0

ऑमिक्रॉन के बढ़ते नम्बरों से घबरायें नहीं

पिछले 2 महीनों से विश्व भर में ऑमिक्रॉन के केसेज़ बढ़ने शुरू हो गयें हैं, परंतु यदि यथार्थ देखा जाये तो यह हाई इंटेंसिटी फ़्लू वाइरस से अधिक कुछ नहीं हैं। पूरी दुनिया एक...

0

राष्ट्र में संकट बहुत बड़ा है

लोभ , मोह ,भय , भ्रष्टाचार ,  हिंदू  के  आचार – विचार ; साथ में कायरता व कुटिलता ,  धर्म का कोई नहीं विचार । इसमें  दोष  नहीं  हिंदू  का ,   गंदी- शिक्षा नीति ...

ताजा खबर
The Latest