Category: मेट्रो कल्चर

0

केदारनाथ को लेकर सस्पेंस बरक़रार, सात दिसंबर को होगी रिलीज

जिन दिनों ‘पद्मावत’ का प्रदर्शन रुकवाने के लिए करणी सेना देश में उग्र प्रदर्शन कर रही थी, उस दौर में मैंने अपने लेख में एक बात कही थी। मैंने लिखा था कि पद्मावत को...

0

महाभारत पर फिल्म बनाने के लिए विवादित किताब को आधार बनाना चाहते हैं आमिर खान

सन 2008 में कोलकाता की लेखिका चित्रा बनर्जी दिवाकरुणी की किताब ‘ पैलेस ऑफ़ इल्यूजन्स’ बेस्ट सेलर रही थी।  ये किताब महाभारत पर आधारित है। किताब में महाभारत की घटनाओं को द्रौपदी के नजरिये...

0

पहले दिन की बुकिंग में रिलीज से पहले ही ‘एक्वामैन’ ने दो सौ करोड़ कमाए

‘पानी’ को विषय बनाकर अब तक बहुत सी फ़िल्में बनाई गई हैं। निर्माता-निर्देशक ‘पानी’ में बॉक्स ऑफिस पर अनंत संभावनाएं देखते हैं। अब तक इस विषय पर सैकड़ों फिल्मों का निर्माण हो चुका है।...

0

विश्व में भारत अकेला ऐसा देश है जहां बहुसंख्यक धर्म के न कोई अधिकार हैं, न राज्य का संरक्षण!

पिछले 68 सालों में संविधान की वोट बैंक के अनुसार व्याख्या करने वालों ने एक ऐसी स्थिति पैदा कर दी कि स्वयं को अल्पसंख्यक समुदाय में शामिल करना एक बेहतर भविष्य की गारंटी जैसा...

0

नाम को उड़ने दो,खुद जमीन पर रहो

सुबह एक वीडियो पर निगाह ठहर गई और उससे एक विचार का पौधा उग आया। लोकप्रियता कैसी भी हो ‘आभासी’ होती है। वास्तविक लोकप्रियता भी ‘आभासी’ ही होती है। लोकप्रियता की जो उड़ान भरता...

0

तैमूर बिकने आए हैं

तैमूर, आराध्या, अबराम की शोहरत आसमान छू रही है। तैमूर की शोहरत का आलम ये है कि अब वे बाज़ार में बिकने आ गए हैं। बार्बी डॉल की तर्ज़ पर तैमूर के एक फ़ीट...

0

जो बड़े हमलों से नहीं हारे, वे छोटी जरूरतों से हार गए – अस्सी मोहल्ला

‘बनारस के घाट पर एक विदेशन पहुंची है। वह घाट पर बैठे साधु से कुछ सवाल करती है। साधु उसके प्रश्न का उत्तर एक स्लेट पर लिखकर देता है। पहला सवाल ‘आज से दस...

0

नाना पाटेकर के बाद अब तनुश्री दत्ता ने जीसस क्राइस्ट को भेजा नोटिस, कहा मुझे चुनो या फिर राखी सावंत को!

हाल ही में मीटू अभियान के तहत बॉलीवुड अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाकर सुर्खियों में आई तनुश्री दत्ता ने अब जीसस क्राइस्ट को कानूनी लपेटे में ले लिया है। अमेरिका...

0

विवेक अग्निहोत्री 250 करोड़ की लागत से दिखाएंगे हिन्दुओं का सच्चा इतिहास!

महान कूटनीतिज्ञ चाणक्य ने कहा था ‘जो अपना इतिहास भूल जाते हैं, उनका भूगोल बदल जाता है।’ आज ये उक्ति भारत पर ही चरितार्थ हो रही है। स्वतंत्रता के बाद साल दर साल हम...

0

भारत को ठगने के बाद चीन चले ‘ठग्स ऑफ़ हिन्दोस्तान’!

ऐसा क्यों होता है कि भारत में कोई मेगा स्टारर फिल्म बॉक्स ऑफिस पर पिटने के बाद चीन में प्रदर्शित की जाती है। खासतौर से आमिर खान की फिल्मों को चीन में बहुत पसंद...

0

तो क्या ‘कोलार गोल्ड फील्ड’ फिल्म करेगी शाहरुख़ के दरकते स्टारडम को ‘जीरो’?

53 साल के शाहरुख़ के लिए अपना दरकता स्टारडम बचाना कठिन चुनौती साबित हो रहा है। 2015 में ‘दिलवाले’, 2016 में ‘फैन’, 2017 में ‘रईस’ बुरी तरह फ्लॉप होने के बाद शाहरुख़ खान के...

0

ये जनेऊधारी ब्राम्हण तोड़ता है गुण्डो की हड्डियां!

स्वतंत्रता के बाद से हिन्दी फिल्मों में एक विशेष बदलाव देखने को मिला। कहानियों में ब्राम्हण पात्र को बुरा दिखाया जाने लगा। उसे धनलोलुप, कामी, व्यभिचारी के रूप में प्रस्तुत किया गया। बाद के...

0

‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देती केदारनाथ फिल्म को लेकर भड़का विवाद!

जैसी कि मैंने पूर्व में आशंका व्यक्त की थी कि ‘केदारनाथ’ फिल्म के कारण समाज में बहुतेरे विवाद उपजेंगे। सबसे पहले उत्तराखंड के तीर्थ पुरोहितों ने फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग की और...

0

ठगी तो दर्शकों और थियेटर संचालकों के साथ हुई है, असली ठग तो फिल्म निर्माता है

यश राज फिल्म्स के बैनर तले बनी आमिर खान की फिल्म ‘ठग्स ऑफ़ हिन्दोस्तान’ ने दर्शकों की नकारात्मक प्रतिक्रियाओं और आलोचनात्मक फिल्म समीक्षाओं के बावजूद पहले दिन रिकार्ड 52 करोड़ की कमाई कर डाली।...

0

घर के बाहर पड़ा ‘पटाखों का कचरा’ भी ‘ठग्स ऑफ़ हिन्दोस्तान’ से होता है सुंदर!

गुरुवार की दोपहर ‘ठग्स ऑफ़ हिन्दोस्तान’ का पहला शो खत्म होते ही ट्वीटर पर इस फिल्म के नाम से बनने वाले ‘मेमे’ की बाढ़ आ गई। यदि पहले ही शो के बाद ऐसी तीखी...

0

धर्म और अर्थ ही रहा है भारत के उत्कर्ष का मूल तत्व: अंशुमान तिवारी

हमारे देश में इतिहास साम्राज्यों और युद्धों के आधार पर लिखा गया है, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय इतिहास लिखा गया है। कभी सामाजिक इतिहास लिखा ही नहीं गया। विध्वंस का इतिहास हर जगह मिल जाएंगे...

0

यूपी के ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा संताप, वेदना और पीड़ा रहित काशी का साक्षात दर्शन कराती यह प्रदर्शनी!

विगत 10 अक्टूबर से नोएडा के सेक्टर दो स्थिति इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ फोटोग्राफी (आईआईपी) के तत्वावधान में “काशी एक उत्सव” के नाम से चलने वाली फोटो प्रदर्शनी अब अपने अवसान पर है। आईआईपी की...

0

जो काम काशी में संजय गांधी नहीं कर पाए, वही काम मोदी-योगी की जोड़ी करने में सफल रही!

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के डायरेक्टर तथा पत्रकारिता की दुनिया में चिरपरिचित नाम मान्यवर राम बहादुर राय ने “काशी एक उत्सव” फोटो प्रदर्शनी का निरीक्षण किया। नोएडा के सेक्टर दो स्थिति आईआईपी की फोटो...

0

‘फ़िल्म केदारनाथ’ श्री केदारनाथ की त्रासदी को घटिया प्रेम कथा और हनीमून स्पॉट बनाने की कवायद!

फ़िल्म केदारनाथ में श्री केदारनाथ की त्रासदी को घटिया प्रेम कथा और तीर्थ को हनीमून स्पॉट बनाने में कोई कसर नही छोड़ी गई है! एक काल्पनिक कथा पर फिल्म बनाई जाए तो ये सामान्य...

समाचार