अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के मुख्य आरोपी मिशेल के नोट और चिट्टी से हुए कई खुलासे! पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर था कांग्रेस का दबाव!

अगस्ता वेस्ट लैंड के मुख्य आरोपी क्रिश्चियन मिशेल के नोट और चिट्टी से कई खुलासे सामने आए हैं। सीबीआई को मिशेल द्वारा 8 फरवरी 2008 को लिखा वह नोट हाथ लगा जिसमें उसने अपने दोस्त को लिखा है कि ‘कुत्ते’ को ‘हड्डी’ पसंद आई होगी। उसके इस नोट से सीबीआई को शक है कि वीवीआईपी हेलिकॉप्टर खरीद डील की शुरुआती चर्चा के लिए आयोजित एक लंच में वह व्यक्ति भी शामिल हुआ होगा जिसने मिशेल को इस डील के लिए मदद की होगी। तभी तो मिशेल ने अपने दोस्तों को भेजे नोट में लिखा है कुत्ते को हड्डी पसंद आई होगी। मिशेल के इस नोट के आधार पर अब जांच एजेंसियां ईडी और सीबीआई मिशेल द्वारा फेकी ‘हड्डी’ खाने वाले ‘कुत्ते’ की तलाश में जुट गई है। वहीं मिशेल की एक चिट्ठी भी सामने आई है जो उसने फिनमेकैनिका कंपनी के सीईओ जुगेपी ओरसी को लिखी थी। उस चिट्टी में मिशेल ने लिखा है कि उसने सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व द्वारा तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर दबाव बनाया था। उसकी इस चिट्टी से यह भी खुलासा हुआ है कि इस डील से जुड़ी सारी जानकारी मिशेल को संबंधित मंत्रालयों से मिल रही थी।

मिशेल द्वारा 28 अगस्त, 2009 को ओरसी को लिखी गई चिट्ठी के मुताबिक अगस्ता वेस्टलैंड डील से संबंधित सारी जानकारियां प्रधानमंत्री कार्यालय, रक्षा मंत्रालय समेत सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों से मिल रही थी। यहां तक कि उसे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और तत्कालीन अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के बीच हुई मुलाकात के बारे में पता था। चिट्टी में मिशेल ने ओरसी से यह भी दावा किया है कि इस डील के बारे में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की होने वाली बैठक के बारे में भी उसे पता है। इतना ही नहीं इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री, संयुक्त सचिव और रक्षा सचिव के बीच जो बातचीत चल रही उसके बारे में भी उसे जानकारी है। उसे यह भी मालूम है कि तत्कालीन रक्षा मंत्री इस डील के हिमायती हैं।

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में लगे आरोपों की जांच कर रही सीबीआई और ईडी ने उस ‘कुत्ते’ की तलाश शुरू कर दी है, जिसे हड्डी देने की बात का खुलास मिशेल के नोट में हुआ है। इस मामले में दुबई से प्रत्यर्पित कर भारत लाए गए मुख्य आरोपी ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन मिशेल ने अपने साथी तथा अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी के सीनियर अधिकारियों गुडो हैशके और कार्लो गेरोसा के साथ बातचीत में इसका जिक्र किया था। सीबीआई इन्हीं तीनों के बीच हुई बातचीत को डिकोड करने के बाद उस ‘कुत्ते’ की तलाश शुरू की है। इन तीनों के बीच यह बातचीत 8 फरवरी 2008 को हुई थी।

द टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक मिशेल ने इन्हीं लोगों से वीवीआईपी हेलिकॉप्टर डील में अलग-अलग विभागों के लोगों को शामिल करने की चर्चा की थी। मिशेल ने इस डील में सीवीसी, डिफेंस सेक्रेटरी, रक्षा मंत्रालय में संयुक्त सचिव (एयर), वायुसेना के मेंटिनेंस कमांड और हेलिकॉप्टरों की इवैल्युएशन टीम को शामिल करने की बात कही थी। मिशेल ने अपने नोट में डील पर चर्चा के लिए लंच आयोजित करने की बात लिखी है। इसके अलावा उस नोट में मिशेल ने गुडो हैशके को लंच आयोजित करने के लिए शुक्रिया अदा करते हुए लिख है ‘उम्मीद है कि कुत्ते को हड्डी पसंद आई होगी।’ मिशेल के इसी नोट के आधार पर सीबीआई और ईडी को शक है कि सौदे से जुड़ा भारत का कोई शख्स उस लंच में मौजूद था जिसका जिक्र कुत्ते के रुप में नोट में किया गया है ।

हैशके के खिलाफ आरोप है कि उसने अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी से डील के लिए तत्कालीन वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी के कजिन के माध्यम गोलबंद किया था। ईडी और सीबीआई को यह भी शक है कि हैशके राजनेताओं के अलावा ब्यूरोक्रेट तथा डिफेंस के अधिकारियों के संपर्क में था।

वहीं इकोनोमिक टाइम्स में प्रकाशित खबर से यह भी खुलासा हुआ है कि इस डील के लिए क्रिश्चियन मिशेल भारत के एक रिटायर्ड ग्रुप कैप्टन को हर महीने लाखों रुपये दिया करता था। यह खुलासा मिशेल की दो कंपनियों के ऑडिट से हुआ है।

प्वाइंट वाइज समझिए

वीवीआईपी चौपर घोटाला

* मिशेल की फेंकी ‘हड्डी’ खाने वाले ‘कुत्ते’ की तलाश करने में जुटी ईडी और सीबीआई

* अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला मामले में ईडी ने दाखिल चार्जशीट में जोड़ा मिशेल का नाम

* वीवीआईपी चौपर डील की चर्चा के लिए मिशेल ने भोज का आयोजन किया था

* मिशेल के अपने मित्रों के साथ हुई बातचीत में हुआ है यह खुलासा

* सीबीआई को लगा है क्रिश्चियन मिशेल का वह नोट जो अपने मित्रों को लिखा था

* क्रिश्चियन मिशेल रिटायर्ड ग्रुप कैप्‍टन को हर महीने दिया करता था लाखों रुपए

URL : CBI and ED in search of that dog who ate bone given by Mitchell !
Keyword : agusta wastland scam, christian mitchell, main accused, cbi, ed, वीवीआईपी चौपर घोटाला

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबरे