संसद में खुलासा, छह खरब काला धन लाने में सफल रही मोदी सरकार! 15 लाख पर फेक न्यूज फैलाने वालों के मुंह पर तमाचा !



Awadhesh Mishra
Awadhesh Mishra

कालेधन को देश में लाने का दावा करने वाली मोदी सरकार पर हमलावर रही कांग्रेस और विरोधी दलों को मंगलवार को संसद में उस समय करारा झटका लगा जब वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने राज्यसभा में एक लिखित जवाब देने के दौरान कहा कि मोदी सरकार ने अब तक छह खरब रुपये की अघोषित संपति यानी काला धन का खुलासा किया है। संसद में इस बड़े खुलासे से उन लोगों के मुंह पर करारा तमाचा लगा है जो अभी तक मोदी सरकार के खिलाफ 15 लाख रुपये देने के पेक न्यूज फैला रहे थे। मालूम हो कि मोदी ने अपने किसी भाषण में देश के हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये देने की बात कभी नहीं कही। इससे संबंधित वीडियो किसी ने अभी तक सार्वजनिक नहीं किया है। लेकिन देश में कांगियों और वामियों की फेक न्यूज फैलाने वाली फौज ने इस मोदी सरकार को बदनाम करने का हथियार बना लिया। लेकिन संसद में काले धन को लेकर हुआ खुलासा उनके मुंह पर करारा तमाचा है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने साल 2015 में विदेसी काले धन कानून बनाया था। आज उसी कानून के तहत मोदी सरकार छह खरब रुपये के काले धन के रूप में अघोषित संपत्ति का खुलासा किया है। कहने का मतलब साफ है कि मोदी सरकार ने जो देश की जनता से जो वादा किया था उसे छह खरब रुपये काला धन लाकर अपना वादा पूरा कर दिया है। यह खुलासा कोई और नहीं बल्कि वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने राज्यसभा में एक लिखित जवाब के दौरान किया। उन्होंने कहा कि इसके अलावा 31 अक्टूबर 2018 तक विदेशी काले धन कानून के तहत 34 अभियोजन शिकायतें दर्ज की गई हैं।

मालूम हो कि काले धन (अघोषित विदेशी आय और संपत्ति) और कर अधिनियम, 2015 के काला धन अधिनियम के तहत आयकर विभाग ने कार्रवाई कर 31 अक्टूबर, 2018 तक अघोषित विदेशी संपत्ति और छह खरब रुपये काले धन का पता लगा लिया है। वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा कि काले धन और विदेशों में बेनामी संपत्ति रखने वालों को अनुपालन करने का अवसर दिया गया था। इसके बाद भी जिन लोगों के पास विदेशी संपत्ति और आय है उनके खिलाफ कानूनी तौर पर कार्रवाई की गई है।

गौरतलब है कि सरकार में आने के कुछ महीने बाद ही कांग्रेस और विरोधी दलों के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश के हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये देने को लेकर हमला करना शुरू कर दिया। जबकि पीएम मोदी ने कभी भी अपने भाषण में देश के हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख रुपये देने की बात कही ही नहीं। लेकिन फेक न्यूज व्यापारियों ने मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए इसका हथियार के रूप में इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। अब जब मोदी सरकार ने देश की जनता से काला धन वापस लाने का किया अपना वादा पूरा कर दिया है तो कांग्रेस के साथ सभी विरोधी दलों को झटका लगना स्वाभाविक है। लेकिन इतना करने के बाद भी ये लोग मोदी सरकार को बदनाम करने से बाज नहीं आएगे। जहां तक फेक न्यूज फैलाने वालों की बात हो तो उनके मुंह पर इतना जोर का तमाचा पड़ने के बावजूद ये लोक फेक न्यूज फैलाने से बाज नहीं आएंगे।

URL : disclose : assets worth 6000 crore detected under foreign black money law!

Keyword : Black money, disclosed, reveal in parliament, Modi Govt, fake news maker, congress, जुमला, पीडी पत्रकार


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !