महात्मा गाँधी ने पूरी जिंदगी अंग्रेजों का समर्थन किया, अब कब्र में पांव लटकाए उनके सचिव चाहते हैं कि नरेन्द्र मोदी की जगह कोई ‘विदेशी’ भारत का प्रधानमंत्री बने!

महात्मा गाँधी ने पूरी जिंदगी अंग्रेजों का समर्थन किया, अब कब्र में पैर लटकाए उनके सचिव चाहते हैं कि नरेन्द्र मोदी की जगह कोई ‘विदेशी’ भारत का प्रधानमंत्री बने! ऐसा लगता है कि गुलाम मानसिकता से हमारे देश में आज भी बहुत सारे लोग उबर नही पाए हैं। ‘इटली की बहू’ के शासन वाली सरकार से जो लोग खुश थे, भारत के बेटे नरेन्द्र मोदी से उतने ही दुखी हैं। हद तो यह कि कुछ लोग चाहते हैं कि अंग्रेजो का शासन फिर से वापस आ जाए और नरेन्द्र मोदी किसी भी तरह से हट जाए! ऐसा ही एक सपना महात्मा गांधी के सचिव रहे कल्याणम को इन दिनों आ रहा है। दस्तावेज से स्पष्ट है कि सुभाष चन्द्र बोस को कांग्रेस के अध्यक्ष पद से हटाने से लेकर भारत विभाजन तक में महात्मा गांधी ने ब्रिटिश सरकार की योजना को ही आगे बढाया। ऐसे में उनके निजी सचिव को ‘देशी बेटे’ की सरकार तो चुभेगी ही!

मोहनदास करमचंद गाधी के निजी सहायक रहे कल्याणम ने मोदी सरकार की आलोचना करते हुए ब्रिटिश सरकार की प्रशंसा की है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि गांधी की दृष्टि के अनुरूप देश में सरकार शासन नहीं चला रही है। कल्याणम ने यह बयान देकर असल मोदी सरकार की नहीं बल्कि गांधी की गुलाम दृष्टि की पोल खोल दी है। वैसे भी यह तो एक तथ्य बन चुका है कि गांधी ब्रिटिशर्स को हमेशा ही खुद से अच्छा मानते थे। वैसे भी शुरू में गांधी देश की स्वतंत्रता की नहीं बल्कि अपनी मांग के अनुरूप देश में ब्रिटश शासन की हिमायती थे। तभी तो जब देश स्वतंत्र हुआ तो जवाहरलाल नेहरू को प्रधानमंत्री बना दिया, क्योंकि वह भी ब्रिटिशर्स के समर्थक थे।

मुख्य बिंदु

* गांधी के पीए रहे कल्याणम ने ही उनकी पोल खोल दी, वैसे भी गांधी गोरों को हमेशा खुद से बेहतर मानते थे

* इसलिए तो गांधी ने ब्रिटिशर बने जवाहरलाल नेहरू को स्वतंत्र भारत का पहला प्रधानमंत्री बनाया

अमित थंदानी ने ट्वीट कर गांधी के पीए कल्याणम के बारे में बताया है कि वर्तमान में चल रही सरकार से ज्यादा तरजीह मैं ब्रिटिश शासन को दूंगा। उनका यह बयान गांधी के बयान से मिलता है क्योंकि गांधी हमेशा ही ब्रिटिशर्स को खुद से बेहतर मानते थे, इसी कारण तो उन्होंने प्रधानमंत्री बनाने के लिए किसी और की तुलना में जवाहर लाल को चुना था।

कल्याणम गांधी की 125 वीं वर्षगांठ के मौके पर गांधी संग्रहालय में आयोजित फिलाटेली एक्जविशन का उद्घाटन करने आए थे। इसी मौके पर उन्होंने कहा कि आज की सरकार से बेहतर ब्रिटिश राज था। ध्यान रहे कि इस देश पर अब तक सबसे ज्यादा दिनों तक कांग्रेस का शासन रहा है। फिर भी देश की सरकार के प्रति गांधी के निजी सहायक 96 वर्षीय कल्याण का दृष्टिकोण वही पुराना है। वे आज भी देश की स्वतंत्र सरकार को गुलामी की जंजीर में बांधना चाहती है ताकि हमारा देश एक बार फिर गोरों के चंगुल में फंस जाए।

URL: Gandhiji PA Kalyanam says I would prefer British rule to present one in India

Keywords: Gandhi jayanti, Gandhi’s PA, kalyanam, modi government, british rule, गांधी जयंती, गांधी के पीए, कल्याणम, मोदी सरकार, ब्रिटिश शासन,

आदरणीय मित्र एवं दर्शकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 1 से 10 तारीख के बीच 100 Rs डाल कर India speaks Daily के सुचारू संचालन में सहभागी बनें.  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

ISD Bureau

ISD is a premier News portal with a difference.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार
Popular Now