अपने आसपास के मसजिद-मदरसे पर रखें नजर! कहीं वह आतंकवाद की नर्सरी तो नहीं?



Islamic Terrorism
ISD Bureau
ISD Bureau

हरियाणा में पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा की आर्थिक शाखा एफआईएफ की मदद से बनने वाली कुछ मसजिद और मदरसे का खुलासा हुआ है। अगर समय रहते भारतीय खुफिया एजेंसी एनआईए ने इसका खुलासा न किया होता तो यह मसजिद और मदरसे आतंकी की नर्सरी नहीं बल्कि आतंकवाद की पूरी यूनिवर्सिटी बन जाती। दरअसल ‘लश्कर ए तैयबा’ ने हरियाणा में आतंकियों के प्रशिक्षण शिवीर से लेकर स्लीपर सेल का पूरा ठिकाना बनाने की योजना बना रखी थी। इसलिए देश के सभी लोगों को मसजिद और मदरसों के निर्माण के समय सचेत रहना चाहिए। इसके साथ ही ध्यान रखना चाहिए कि कहीं आपके आसपास मसजिद और मदरसे के रूप में कोई आतंकी नर्सरी तो नहीं तैयार हो रही है।

मुख्य बिंदु

* हरियाणा में बन रही मसजिद को अपना बेस कैंप बनाने की योजना बना चुका था ‘लश्कर ए तैयबा’

* स्लीपर सेल में आतंकियों की भर्ती करने के लिए मुसलिम युवाओं को आतंकी प्रशिक्षण देने वाला था

* इस तरह वह भारत को भी दुनिया की नजरों में आतंकियों को पनाह देने वाला देश के रुप में साबित करना चाहता था

एनआईए ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि लश्कर के पैसे से बन रही मसजिद और मदरसे बेसिक संरचना को देखने के बाद यह यकीनी तौर पर कहा जा सकता है कि उसकी योजना दीर्घकालिक थी। वह हरियाणा से पूरे देश में आतंक फैलाने की योजना पर काम कर रहा था। यहां जो मदरसे और मसजिदें बनवाई जा रही थी दरअसल इसमें युवा मुसलमानों को आतंकी प्रशिक्षण दिया जाने वाला था। ताकि इन्ही में से स्लीपर सेल के लिए आतंकी तैयार किया जा सके। इसके अलावा लश्कर इसे आतंकियों के स्लीपर सेल का ठिकाना बनाने वाला था। ताकि यहीं से आतंकी हमले कराए जाएं और यहीं उन्हें छिपाया जाए।

नेहरू की एक गलती के कारण आतंक व लव जेहाद की गिरफ्त में! देखिये विडियो…

दरअसल आतंकी संगठन ‘लश्कर ए तैयबा’ ने भारत में आतंकी हमले करने के साथ ही भारत को भी बदनाम करने की योजना बनाई थी। अगर उसकी यह योजना सफल हो जाती तो वह एक तीर से दो शिकार करने में सफल हो जाता। एक तो भारत में आतंकी हमला आसानी से कर सकता था और दूसरा इसके लिए भारत खुद दुनिया की नजर में बदनाम हो जाता कि वह भी अपने यहां आतंकियों को पनाह दे रहा है।

URL: Haryana mosque was to be terror school? NIA probes

Keywords: Islamic terrorism Palwal, national investigation agency, NIA, mosque, Mohammad Salman, hawala, Haryana, enforcement directorate, पलवल, राष्ट्रीय जांच एजेंसी, एनआईए, मस्जिद, मोहम्मद सलमान, हवाला, हरियाणा, प्रवर्तन निदेशालय


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !

About the Author

ISD Bureau
ISD Bureau
ISD is a premier News portal with a difference.