Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Facebook data breach: राहुल गांधी और कैंब्रिज एनालिटिका को फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने दिया झटका! कहा, भारत में आने वाले चुनावों में डाटा लीक नहीं होने दिया जाएगा!

पुरानी कहावत है कि सिर मुड़ाते ही ओले पड़े! राहुल गांधी न केवल कांग्रेस पार्टी, बल्कि इंटरनेशनल डाटा माइनिंग कंपनी Cambridge Analytica के लिए भी पनौती साबित होते जा रहे हैं! अमेरिका में Donald trump को राष्ट्रपति बनाने और यूरोप में brexit जैसे सफल अभियान चलाने वाले Cambridge Analytica ने जब से भारत में राहुल गांधी की कांग्रेस को 2019 में जीत दिलाने का ठेका लिया है, जब से ही वह दुनिया में बदनाम होती चली जा रही है! उसने फेसबुक की मदद से भारत के छह लाख लोगों का डाटा ही अभी चुराया ही था कि फेसबुक डाटा लीक मामले में एक्सपोज हो गया!

कल ही अमेरिकी कांग्रेस के सामने पेश होकर फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने कहा है कि ‘भारत में आगामी चुनाव में किसी भी हाल में डाटा लीक नहीं होने दिया जाएगा। भारत में आने वाले चुनावों में पूरी ईमानदारी बरती जाएगी!’ अब राहुल गांधी-कांग्रेस और कैंब्रिज के पास सिवाए नफरत फैलाने और समाज को बांटने के और कुछ नहीं है!

अमेरिका के 8.7 करोड़ और भारत के 6 लाख डाटा को कैंब्रिज ने फेसबुक से चुराया!

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने डेटा लीक मामले में अमेरिकी कांग्रेस के सामने पेश होकर माफी मांगी। जकरबर्ग ने अमेरिकी कांग्रेस के सामने कैंब्रिज एनालिटिका डेटा लीक को लेकर 44 सीनेटर्स के तीखे सवालों का सामना किया और उनका जवाब दिया। मार्क जकरबर्ग ने अमेरिकी सीनेट की वाणिज्य और न्यायपालिका समितियों के सामने पेश होकर सफाई दी। उन्होंने अपनी बात की शुरुआत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी अभियान से जुड़ी डेटा फर्म कैंब्रिज एनालिटिका और फेसबुक के डाटा लीक मामले से की। कैंब्रिज ने अमेरिकी चुनावों को प्रभावित करने के लिए 8.7 करोड़ उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारी फेसबुक से एकत्रित की थी। उसने छह लाख भारतीयों का डाटा भी फेसबुक से चुराया है। मार्क जबरबर्ग ने इसे रोकने में नाकाम रहने की पूरी जिम्मेदारी ली।

Related Article  जीजा रॉबर्ट वाड्रा को रफाल डील से फायदा न मिला तो रक्षा डील को घोटाला साबित करने में जुट गए राहुल गांधी!

भारत के चुनाव में ईमानदारी बरतेगा फेसबुक!

जकरबर्ग ने भारत में इस साल और अगले साल होने वाले चुनाव के दौरान लोगों का भरोसा बहाल करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा, भारत में आने वाले चुनावों में पूरी ईमानदारी बरती जाएगी। ‘हम भारत में होने वाले चुनाव में ईमानदारी बरतेंगे।’ उन्होंने कहा,’साल 2018 पूरी दुनिया के लिए एक महत्वपूर्ण साल है। भारत, पाकिस्तान जैसे कई देशों में चुनाव होने हैं। हम यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे कि ये चुनाव सुरक्षित हों।’ उन्होंने कहा, ‘2016 में हुए अमेरिकी चुनावों के बाद हमारी प्राथमिकता दुनियाभर में हो रहे चुनावों में ईमानदारी बरतने की है।’

फेसबुक बनाएगा अपना टूल्स

जकरबर्ग ने कहा कि उन्हें अफसोस है कि वह टूल्स के गलत इस्तेमाल को नहीं रोक पाए। उन्होंने कहा, ‘हम फेक न्यूज, हेट स्पीच, चुनावों में विदेशी हस्तक्षेप, डेटा प्राइवेसी जैसे नुकसान को नहीं रोक पाए।’ अपनी गलती मानते हुए जकरबर्ग ने कहा कि ‘यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम न केवल टूल्स बनाएं, बल्कि इस बात का भी ध्यान रखें कि उसका सही और बेहतर इस्तेमाल हो।’

कैंब्रिज एनालिटिका के खतरनाक कदमों की जानकारी नहीं थी!

जकरबर्ग ने कहा कि ‘मुझे पता नहीं था कैंब्रिज एनालिटिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए चुनावी कैंपेन कर रही है। हम जांच कर रहे हैं कि कैंब्रिज एनालिटिका ने क्या और कैसे गोपनीय जानकारी जुटाई? अब हमें पता है कि उन्होंने किसी ऐप डिवेलपर से खरीद कर लाखों लोगों की जानकारी, जैसे नाम, प्रोफाइल पिक्चर्स और फॉलो किए जाने वाले पेजों की जानकारी गलत तरीके से जुटाई है। इसके बाद हमने अब यूजर्स की निजी जानकारियों को बाहरी लोगों से बचाने के लिए कंपनी ने कई कदम उठाए हैं।’

Related Article  राहुल गांधी द्वारा महिला पत्रकार पर हमला! एडिटर गिल्ड खामोश! कांग्रेस कवर करने वाले पत्रकारों का 'दुम हिलाई' रवैया आया सामने!

म्यांमार, रोहिंग्या और फेसबुक!

फेसबुक के फाउंडर मार्क जकरबर्ग ने सोशल मीडिया के जरिए नफरत भरे बयानों से निपटने के लिए और कदम उठाने का वादा किया है। अमेरिकी सीनेटर पैट्रिक लीही के रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ बढ़ते नफरत भरे बयानों में फेसबुक की भूमिका पर सवाल करने पर जकरबर्ग ने अमेरिकी सांसदों ने कहा, ‘म्यामांर में जो हो रहा है वह भयावह है। इससे निपटने के लिए और कदम उठाने की आवश्यकता है।’

सीनेटर पैट्रिक लीही ने एक मुस्लिम पत्रकार की मौत का हवाला देते हुए आरोप लगाया कि ‘हाल ही में संयुक्त राष्ट्र जांचकर्ताओं ने म्यामांर में संभावित नरसंहार को उकसाने में फेसबुक को दोषी ठहराया है।’ जकरबर्ग ने जवाब दिया कि ‘फेसबुक इस पर काम कर रहा है और म्यामांर में नफरत भरे बयानों से निपटने के लिए कई अन्य कदम भी उठा रहा है।’

फेसबुक सकारात्मकता के लिए करेगी काम

सवाल-जवाब के दौरान मार्क जकरबर्ग ने फेसबुक के जरिए हुए डाटा लीक की जिम्मेदारी ली और कहा कि चुनावों के दौरान वह लोगों का भरोसा बनाए रखेंगे। उन्होंने कहा कि फेसबुक दुनिया में सकारात्मकता के लिए काम करेगी। जकरबर्ग ने डेटा लीक की जिम्मेदारी लेते हुए अमेरिकी कांग्रेस से माफी मांगी! उन्होंने कहा, ‘यह मेरी गलती है और मैं इसके लिए माफी मांगता हूं। मैंने फेसबुक शुरू किया, मैं इसे चलाता हूं और यहां जो कुछ भी होता है उसके लिए केवल मैं जिम्मेदार हूं।’

URL: i m sorry for data leak by cambridge analytica-facebook by Mark Zuckerberg

Keywords: mark zuckerberg, Facebook data breach, facebook founder mark zuckerberg, data privacy lapses, cambridge analytica india, cambridge analytica, cambridge analytica india congress, cambridge analytica clients, cambridge analytica trump, Congress, congress conspiracy, Rahul Gandhi,

Join our Telegram Community to ask questions and get latest news updates
आदरणीय पाठकगण,

ज्ञान अनमोल हैं, परंतु उसे आप तक पहुंचाने में लगने वाले समय, शोध, संसाधन और श्रम (S4) का मू्ल्य है। आप मात्र 100₹/माह Subscription Fee देकर इस ज्ञान-यज्ञ में भागीदार बन सकते हैं! धन्यवाद!  

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Other Amount: USD



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/Google Pay/ पे / Pay Zap/AmazonPay के लिए - 9312665127
WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9540911078

ISD News Network

ISD News Network

ISD is a premier News portal with a difference.

You may also like...

Write a Comment

ताजा खबर