न्याय तो होता है! आदमी की हत्या में तो बच गए थे, हिरण की हत्या में जेल गए न भाईजान!



Salman khanSalman Khan Convicted
Manish Thakur
Manish Thakur

फुटपाथ पर सो रहे लाचार लोगों को रौंद कर हत्या कर देने का आरोप था भाईजान पर लेकिन वे अदालत से बाईज्जत बरी कर दिए गए। अब काला हिरण की हत्या के आरोप में सलमान को अदालत ने पांच साल की सजा सुना दी। यह आम जन के उम्मीद से परे था क्योंकि आम आदमी का भरोसा इस बात पर मजबूत हो ही नहीं पाया कि खास आदमी के लिए कानून भी वही है जो उनके लिए। जोधपुर के जज साहब ने सलमान को पांच साल के लिए जेल भेजकर आम आदमी का कानून पर भरोसा बढ़ाया है। वो भरोसा जो हमेशा इंसाफ की अदालत कहती है ‘कानून की नजर में सब बराबर है’ लेकिन जमीन पर नहीं दिखता।

सलमान को सजा होने से बॉलीवुड को अरबों का घाटा होना था इसकी चिंता सलमान से ज्यादा भारतीय मीडिया को थी। यही माहौल मीडिया ने तब भी बनाया था जब सलमान पर इंसानो की हत्या का आरोप था जिसमें वे बरी कर दिए गए जबकि उनके खिलाफ साक्ष्य मजबूत थे। सलमान को जब सजा हुई तो राजदीप जैसे फेक न्यूज के खिलंदरों ने ट्वीट किया कि ‘आदमी के हत्यारे गौ रक्षको को माफी और हिरण के हत्यारे को पांच साल की सजा।

सलमान को सजा होगी तो बॉलीवुड को अरबों रुपये का नुकसान होगा! यह बस घड़ियाली आंसू था। पांच साल की सजा के बाद भी सलमान जल्द जमानत पर बाहर आ जाएंगे हाईकोर्ट में इस सजा को चुनौती देते हुए लेकिन वे सजायाफ़्ता दोषी तो कहलाएंगें ही। यही आम आदमी का इंसाफ पर भरोसा बढ़ाने का संदेश है। भारत को दिया गया यह संदेश बॉलीवुड के अरबों के घाटे पर भारी है। यह भरोसा प्राकृतिक न्याय के संदेश को मजबूत करता है कि रौब और ग्लैमर का रुतबा हमेशा इंसाफ का सौदा नहीं कर सकता।

खबरबाजों को भले ही समझ नहीं आता कि एक स्टार के द्वारा काला हिरण की हत्या के मामले की गंभीरता क्या है? इंसाफ की अदालत को सब पता है। काला हिरण दुनिया में सिर्फ भारत, पाकिस्तान और नेपाल में पाया जाता है। यहां भी अब वे विलुप्त हो रहें है। देश के ट्रोलबाज, खबरबाजों को इसकी गंभीरता का पता ही नहीं कि सलमान जैसे आमजन के नायक ने अपनी हरकतों से क्या संदेश दिया?

यह भी पढ़ें:
अदालत को घुटने के बल खड़ा न कीजिए, ये सजा सलमान को नहीं उस सोच को है जो कानून को ठेंगा दिखाता है!

URL: jodhpur court found salman khan guilty on black buck poaching case

KeyWords: Salman Khan, Blackbuck poaching case, salman khan guilty, Salman Khan controversy, सलमान खान, काला हिरण शिकार केस, चिंकारा शिकार केस, जोधपुर कोर्ट,


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !