भ्रष्टाचार को कोसने वाले दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने स्टालिन और ए राजा जैसे भ्रष्टाचारियों से मिलाया हाथ

भ्रष्टाचार के खिलाफ अन्ना हजारे का हाथ थामकर आगे बढ़ने वाले केजरीवाल ने अपने गुरू का हाथ झटक कर राजनीति की राह तो बहुत पहले पकड़ ली थी, लेकिन अब भ्रष्टाचार के मुद्दे को छोड़कर भ्रष्टाचारियों का भी हाथ थाम लिया है। जो केजरीवाल कभी 2 जी मामले को लेकर तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम और ए राजा पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था, आज वही स्टालिन और ए राजा से हाथ मिला लिया है। इससे साफ हो जाता है कि कभी अपना हित साधने के लिए भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाने वाले केजरीवाल अब सत्ता के लिए भ्रष्टाचारियों के साथ जाने को आतुर हैं।

दिल्ली में विपक्षी एकता के लिए जुटे नेताओं की बैठक से पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जिस प्रकार 2जी घोटाले में शामिल नेताओं के साथ हाथ मिलाया वह अचंभित करने वाला है। बैठक से पहले अरविंद केजरीवाल ने ए राजा और एमके स्टालिन के साथ हाथ मिलाया और उनसे अलग से बात भी की। मालूम हो कि ए राजा और कनीमोझी वही पूर्व दूरसंचार मंत्री है जिन पर केजरीवाल ने पी चिदंबरम के साथ मिलकर 2 जी घोटाला करने का आरोप लगाया था।

मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ मिलकर 2019 के लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए विपक्षी दलों का गठबंधन बनाने की कवायद चल रही है। अभी तक हर पार्टी के लिए अछूत रहे अरविंद केजरीवाल येन केन प्रकारेण गठबंधन का हिस्सा बनने को आतुर हैं। इसके लिए उन्होंने अब भ्रष्टाचारियों का भी साथ देना स्वीकार कर लिया है। खास बात है कि जिस व्यक्ति को उन्होंने सबसे ज्यादा भ्रष्टाचारी बताया था अब उसी के साथ आगे की राह तय करने का फैसला कर लिया है।

मालूम हो कि 2014 लोकसभा चुनाव से पहले 2जी जैसे घोटालों को लेकर केजरीवाल ने कांग्रेस तथा यूपीए सरकार में शामिल दलों के मंत्रियों की आलोचना की थी। अब जब राजनीतिक हालात बदल गए हैं और सभी दल अपनी-अपनी साख बचाने में जुटे हैं, तो ऐसे में केजरीवाल ने भी उन्हीं भ्रष्टाचारियों का साथ देने का फैसला कर लिया है जिसके साथ कभी नहीं जाने की कसम खाई थी। केजरीवाल ने कहा था कि वह अपनी आखिरी सांस तक भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते रहेंगे। जबकि तथ्य अब यह सामने आया है कि केजरीवाल ने विपक्षी दलों की बैठक से पहले ही मुख्यमंत्री आवास पर एक अलग बैठक आयोजित कर डीएमके नेता एमके स्टालिन तथा ए राजा के साथ विपक्षी दलों की बैठकों की चर्चा की। इससे साफ है कि कभी कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने वाले केजरीवाल अपनी गलती सुधार कर अब कांग्रेस को सत्ता में लाने की लड़ाई लड़ने वाले हैं।

खास बात है कि केजरीवाल अभी भी देश की जनता से झूठ बोल रहे हैं। वह कह रहे हैं कि देश के हित में विपक्षी एकता की जरूरत है। जबकि उन्हें कहना चाहिए कि सत्ता में रहने के लिए देश भर के भ्रष्टाचारियों को एक साथ आना जरूरी है।

प्वाइंटवाइज समझिए

भ्रष्टाचारियों के साथ केजरीवाल

* भ्रष्टाचार के खिलाफ राजनीति में आए केजरीवाल ने भ्रष्टाचारियों के साथ मिलाया हाथ

* 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के आरोपी ए राजा, कन्नीमोझी को बुलाकर उनके साथ की बैठक

* कांग्रेस से सत्ता छिनने वाले केजरीवाल अब कांग्रेस को सत्ता में लाने की करेंगे राजनीति

* केजरीवाल ने ही ए-राजा और कन्निमोझी पर घोटाला करने का लगाया था आरोप

URL : Kejariwal decided to go with corrupt leaders like A Raja and stalin!

Keyword : handsake with corruption, Delhi’s cm kejariwal, 2G spectrum case, corruption issues, दिल्ली के मुख्यमंत्री, अरविंद केजरीवाल, भ्रष्टाचार

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार