केजरीवाल कांग्रेस के ‘घुंघरू’ बनने को राजी, अब या तो टूटेंगे या बिखरेंगे!



ISD Bureau
ISD Bureau

नौटंकी में कभी किसी का पार्ट तय नहीं होता है, एक ही व्यक्ति को अलग अलग रोल अदा करना पड़ता है, कभी पुरुष का तो कभी महिला का रोल भी हिस्से में आ जाता है। केजरीवाल ने भी दिल्ली की राजनीति को नौटंकी बना दी है! और हमेशा अपने हिस्से का रोल खुद तय कर लेते हैं। इसबार उन्होंने कांग्रेस को रिझाने का रोल अपने हिस्से में रखा है। शायद तभी तो कपिल मिश्रा ने उन्हें ‘घुंघरू सेठ’ नाम भी दिया है। मिश्रा ने तो उन्हें ‘घुंघरू सेठ’ कहा है लेकिन उन्होंने ‘घुंघरू बाई’ का रूप ले रखा है! वे किसी भी सूरत में कांग्रेस को अपने मोहफांस में बांधना चाहते हैं, ताकि उनका ‘कोठा’ न उजड़े और ‘आप’ का मुजरा चलता रहे!

भारतीय राजनीति में आप हर दल के चरित्र का अंदाजा लगा सकते हैं, लेकिन दो ऐसे दल हैं जिसके चरित्र का अंदाजा कभी नहीं लगा सकते हैं। इसमें से एक जहां सबसे पुरानी पार्टी का तमगा धारण करने वाली कांग्रेस है तो वहीं सबसे नई पार्टी में शुमार अरविंद केजरीवाल एंड सन्स हैं, क्योंकि असली आप तो दिल्ली से कब की गायब हो चुकी है? हाल ही में चार लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनावों में विशेषकर उत्तर प्रदेश के कैराना में भाजपा की हुई हार से सबसे ज्यादा उत्साहित कोई पार्टी है तो वो भी कांग्रेस और केजरीवाल ही है। दोनों को ये भी पता नहीं कि यूपी में सपा और बसपा उसे साथ लेगी भी कि नहीं। लेकिन कांग्रेस और केजरी इतने उत्साहित हैं कि गुपचुप तरीके से दोनों के बीच बैठकें भी शुरू हो गई हैं।

लेकिन जैसे ही कांग्रेस के ही कोई दिग्गज ने इसका भांडा फोड़ा है तब से न सिर्फ केजरीवाल की बची आप पार्टी में अफरातफरी मच गई है, बल्कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इसके डैमेज कंट्रोल में जुट गए हैं। अब खुद फोन कर पत्रकारों के ट्वीट डिलीट करवाने में जुट गए हैं। आप के पुराने दिग्गज कपिल मिश्रा ने तो अपने ट्वीट में यहां तक कहा है कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने ही अरविंद का खेल बिगाड़ दिया है।

कांग्रेस और केजरीवाल के बीच चल रही गुपचुप बैठक के भांडा फूटते ही कभी अरविंद के करीबी मंत्री रहे आप के विधायक कपिल मिश्रा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर चुटकी ली। इसके साथ ही उन्होंने दोनों के बीच चल रहे गठबंधन को “फटबंधन” बताया है। ट्वीट के माध्यम से उन्होंने भी कुछ जानकारी साझा की है। मिश्रा ने बताया है कि कांग्रेस के मनीष तिवारी और आप के आशीष खेतान के बीच कई दौर की बैठकें भी हो चुकी है। इतना ही नहीं इस संदर्भ में मनीष सिसोदिया के घर खुद केजरीवाल बैठक कर चुके हैं।

कपिल मिश्रा की माने तो सीटों का भी बंटवारा हो चुका है। केजरीवाल के पुराने मित्र संदीप दीक्षित कांग्रेस-केजरी गठबंधन की ओर से पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से एक बार फिर चुनाव लड़ने को तैयार भी हो चुके हैं। लेकिन माकन ने संभावी गठबंधन का खुलासा कर सारा खेल ही बिगाड़ दिया।

जब से यह खुलासा हुआ है आम आदमी पार्टी में अफरातफरी मची हुई है। केजरीवाल खुद डैमेज कंट्रोल करने में जुट गए हैं। लेकिन कपिल मिश्रा के मुताबिक घुंघरू सेठ (केजरीवाल) का घुंघरू तो बज चुका है। अब या तो उतरेगा या फिर टूटेगा।

URL: Kejriwal eager to make collaboration with congress asap

keywords: AAP, Congress, AAP Congress alliance, Ajay Maken, Maken twitter, kapil mishra tweet, Arvind Kejriwal, आप कांग्रेस गठबंधन, आम आदमी पार्टी, अरविंद केजरीवाल, कपिल मिश्रा, अजय माकन


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !

About the Author

ISD Bureau
ISD Bureau
ISD is a premier News portal with a difference.