गृह मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में NIA की पूरी दुनिया में बढ़ी साख !

हालांकि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (Nation Investigation Agency, NIA) का गठन तो यूपीए सरकार के दौरान हुआ था, लेकिन इसकी जितनी साख वर्तमान केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में बढ़ा है उतनी पहले कभी नहीं बढ़ी थी। एनआईए का गठन 2009 में हुआ था। यह एक केंद्रीय जांच एजेंसी है जिसका गठन देश में आतंकवादियों कमर तोड़ने के उद्देश्य से किया गया था।

एनआईए की सफलता दर के बारे में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने स्वयं ही ट्वीट कर बताया है कि जबसे एनआईए अस्तित्व में आई है तब से लेकर दिसंबर 2017 तक उसने 183 मामले दर्ज किए। इनमें से 135 मामले में एनआईए ने आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है। 37 मामलों में ट्रायल भी पूरा हो चुका है, इनमें से 35 मामले में दोषियों को सजा भी सुनाई जा चुकी। दुनिया में किसी भी जांच एजेंसी की इतना बेहत कनविक्शन रेट नहीं है, जितना एनआईए ने हासिल किया है।

मोदी सरकार के सत्ता में आने तक यह एजेंसी अन्य जांच एजेंसियों की तरह ही अपनी महज भूमिका का निर्वाह भर करती थी। लेकिन जब से गृहमंत्री का दायित्व राजनाथ सिंह के हाथ में आया है इस एजेंसी की सफलता दर आसमान छूने लगी है। इसमें कोई दो राय नहीं कि यह राजनाथ सिंह जैसे कुशल नेतृत्व के कारण ही संभव हो पाया है।

प्वाइंट वाइज समझिए

राष्ट्रीय जांच एजेंसी की साख

* पूरे विश्व में एनआईए की साख की धमक पहुंची है

* केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में बढ़ी साख

* कनविक्शन रेट भी दुनिया की एजेंसियों से बेहतर है

URL : NIA have achieved one of the highest conviction rates in the world!

Keyworld : NIA achievement, conviction rate, Investigation agency, Home Minister, Rajnath singh, राजनाथ सिंह, कुशल नेतृत्व

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

ISD Bureau

ISD is a premier News portal with a difference.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबरे