Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

राजधानी में लव जिहाद का खुला खेल! पुलिस मूकदर्शक,  हिंदू जनमानस परेशान!

राजधानी में कोई हिंदू लड़का को यदि मुस्लिम लड़की से प्यार हो जाए तो उसे पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया जाता है लेकिन लड़की हिंदू हो तो फिर उसे मुस्लिम जबरन शादी के लिए उठा भी ले जाते हैं और पुलिस सब कुछ जान कर भी मूकदर्शक बनी रहती है। एक ऐसे ही मामले में एक नाबालिग हिंदू लड़की को किडनैप किया गया। बाद में लड़की मिल गई लेकिन दोबारा  से उसका किडनैप कर  लव जिहाद का खेल खेलते हुए धर्म बदल कर शादी करने का दबाव बनाया जा रहा है ।

किडनैप लड़की के माता-पिता परेशान है और दिल्ली पुलिस कुछ भी मदद नहीं कर रही है। ऐसा तब हो रहा है जब केंद्र में नरेंद्र मोदी की हिंदूवादी सरकार है और दिल्ली पुलिस उसके अधीन आती है। हिंदू लड़की को सताने का यह मामला है दिल्ली के स्वरूप नगर इलाके का। परिजनों का कहना है कि  यदि उसकी बेटी के आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया होता तो शायद दोबारा से उनकी बेटी किडनैप नहीं हुई होती।

पुलिस अपने बचाव में दलील देती है कि लड़की अपने मर्जी से भागी है लेकिन पुलिस को कौन समझाए कि नाबालिग लड़की की कोई मर्जी अपनी नहीं होती बल्कि उसके भरण पोषण के लिए जिम्मेदार माता-पिता की मर्जी उन पर चलती है।  दिल्ली के स्वरूप नगर थाना एरिया से 14 साल की नाबालिक लड़की का किडनैप 5 नवंबर को हुआ था। 

स्वरूप नगर के नत्थूपुरा के पास DCM कॉलोनी की हिंदू नाबालिग लड़की घर से अचानक जब गायब हो गई।  तब परिजनों को यह पता चला  पास का ही एक मुस्लिम लड़का जिसने अपना नाम कुणाल रखा हुआ था ,वह लड़की को लेकर फरार हुआ है। लड़की के परिजनों का कहना है कि लड़के के परिजन उनके ऊपर दबाव डाल रहे हैं कि वह अपनी लड़की की शादी उनके लड़के से करने दे। 

लड़की नाबालिग है लेकिन परिजनों का आरोप है कि मुस्लिम परिवार का कहना है कि हम लड़की को मुस्लिम बनाकर निकाह कर लेंगे, उनके धर्म में कोई उम्र का मतलब नहीं रहेगा।  अब परिजनों का आरोप है कि उनके ऊपर शादी के लिए दबाव बनाया जा रहा और साथ में डराया धमकाया जा रहा है। इसकी शिकायत पुलिस में की गई । जिसके बाद मामला दर्ज कर लड़की की तलाश शुरू की गई थी। 

पुलिस ने आरोपी लड़के के परिजनों से जब बात की तो उन्होंने कहा कि उन्होंने लड़की के परिजनों से कहा कि वह लड़की के डाक्यूमेंट्स लेकर कश्मीरी गेट बस अड्डे के पास आए वे लड़की से मिलवा देंगे। लड़की के मां-बाप का कहना है कि जब वे कश्मीरी गेट पहुंचे तो उनकी बेटी उस मुस्लिम लड़के की मां और मुस्लिम लड़के के साथ में मौजूद थी । 

बाद में उन लोगों ने मुस्लिम लड़के के माता-पिता से मिन्नत कर अपनी बेटी वापस ले आए। मौके पर पुलिस भी थी ,लेकिन किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया। हैरानी की बात तो यह थी किडनैपिंग का मामला दर्ज होने के बावजूद भी लड़के को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया। 

परिजनों का कहना है कि 10 नवंबर की शाम को उनकी लड़की जब घर पहुंची तो अचानक वहीं आरोपी लड़का दो लड़कों के साथ मोटरसाइकिल पर आया और उनकी लड़की को गली में से ही जबरदस्ती मोटरसाइकिल पर उठाकर  ले गया । जबरदस्ती लड़की को ले जाने के बाद फिर परिजनों ने पुलिस को सूचना दी लेकिन परिजनों का आरोप है कि पुलिस उनकी मदद नहीं कर रही है ।

जब यह पता है कि उस हिंदू लड़की को जबरदस्ती वे मुस्लिम लड़के उठाकर ले जा रहे हैं उसके बावजूद भी मुस्लिम लड़कों को क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया।  कहीं ना कहीं स्वरूप नगर थाना पुलिस पर भी बड़े सवाल खड़े होते हैं।पुलिस की माने तो लड़की अपनी इच्छा से गई थी जबकि उसे बरामद कर परिजनों को सौंप दिया गया था फिर से लड़की गायब हो गई है तो अब फिर से लड़की की तलाश कर रहे हैं।

लड़की के माता-पिता प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं कि उन्हें उनकी लड़की सौंपी जाए और उन्हें भी जान का खतरा है।  साथ ही उनका कहना है कि उनकी लड़की का धर्म नहीं बदला जाए क्योंकि वे हिंदू है और हिंदू धर्म में ही विश्वास रखते हैं। लेकिन पुलिस अब तक लड़की की बरामदगी सुनिश्चित के लिए कोई भी ठोस उपाय नहीं किया है जिससे लड़की के माता-पिता तथा हिंदू जनमानस पुलिस से संतुष्ट हो पाए।

सनद रहे कि राजधानी में मुस्लिम आतंक चरम पर है और केंद्र सरकार के अधीन दिल्ली पुलिस इस पर हमेशा पर्दा डालती रहती है । हाल में ही जिहादियों ने महिंद्रा पार्क के पीपल थला में रहने वाला सुशील को मौत के घाट उतारा था जबकि आदर्श नगर में राहुल नामक युवक की एक मुस्लिम लड़की से प्रेम किए जाने के चलते पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया गया था।

हैरानी की बात यह है कि इस तरह की घटनाएं लगातार हो रही है और दिल्ली पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है । मुस्लिम चरमपंथियों पर नकेल नहींं कसने के चलते ही इसी साल फरवरी माह में सांप्रदायिक दंगे भी हुए थे ,जिसमें 53 लोगों की जान चली गई थी

Join our Telegram Community to ask questions and get latest news updates
आदरणीय पाठकगण,

ज्ञान अनमोल हैं, परंतु उसे आप तक पहुंचाने में लगने वाले समय, शोध, संसाधन और श्रम (S4) का मू्ल्य है। आप मात्र 100₹/माह Subscription Fee देकर इस ज्ञान-यज्ञ में भागीदार बन सकते हैं! धन्यवाद!  

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Other Amount: USD



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/Google Pay/ पे / Pay Zap/AmazonPay के लिए - 9312665127
WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9540911078

Archana Kumari

Archana Kumari

राजधानी दिल्ली में लंबे समय तक अपराध संवाददाता के रूप में कार्य का अनुभव। अर्चना विभिन्न समाचार पत्रों तथा न्यूज़ चैनल में काम कर चुकी हैं। फिलहाल स्वतंत्र पत्रकारिता।

You may also like...

2 Comments

  1. Avatar Jitendra Kumar Sadh says:

    बहुत शर्मनाक है पुलिस का काम सही नहीं है

  2. Avatar Abhay devangan says:

    Wah kya dharm hai muslim rre thookta hoon aise gande dharm par jo gandi soch hee palti hai inke dimaag me ki dusre dharm se nafrat karo ghrina karo kya yhi kuraan me pdhaya jata hai haa yhi padhya jata hai inke bacche 3 saal ke ni hote wo apne baccho ke man me dusre dharm ke prati sirf nafrat aur gandagi bhar dete hai rre fir thookta hoon tumhare dharm aur kuran me jo sirf dusre dharm ke prati nafrat rakhe tumhara dharm hee aisa hai to tumhari soch bhi gandi hee hogi rre lanat hai tum logo per.

Write a Comment

ताजा खबर