मुसलिम वोट बैंक के लिए देश की अस्मिता को दांव पर लगाता विपक्ष!



Bangladeshi infiltrators (file Photo)
Dayanand Pandey
Dayanand Pandey

केवल आसाम में नहीं बल्कि पूरे भारत में बांग्लादेशी घुसपैठियों का अच्छा खासा संख्याबल है! और यह संख्या बल एकत्रित होकर हिंसा पर उतारू हो जाता है! ज्यादा पुरानी घटना नही ही पिछले एक साल की घटनाओं पर नजर डालें तो आपको इन बांग्लादेशियों द्वारा मचाया उत्पात नजर आ जायेगा! सरकार को इस तरफ भी ध्यान देना होगा! पिछले साल नोएडा एक्सटेंशन की मॉडर्न महागुन सोसाइटी में करीब पांच सौ लोगों ने हमला कर दिया था! उनका आरोप था कि एक नौकरानी के साथ फ्लैट में रहने वाले एक परिवार के लोगों ने मारपीट की थी! इसी बात पर गुस्साई बेकाबू भीड़ ने सोसाइटी पर लाठी डंडों और पत्थरों से हमला कर दिया था! गुस्साई भीड़ को रोकने के लिए तीन थानों की पुलिस बुलानी पड़ी! सोसाएटी के लोगों का यह आरोप है कि इन हमलवारों में काफी संख्या में बांग्लादेशी मुसलिम घुसपैठिए थे! आखिरी लाइन में…अवैध बंगलादेशियों को भारत में बसाने की लिए शोर मचा रहे विपक्ष की खबर लेता वरिष्ठ पत्रकार दयानंद पांडेय जी का लेख…

दयानंद पांडेय। बहुत देर से सही लेकिन आसाम में चालीस लाख घुसपैठियों को उन की भारतीय नागरिकता से खारिज कर दिया गया है। यकीन मानिए अगर बिना किसी दबाव के यह सूची तय की गई होती तो आसाम में घुसपैठियों की यह संख्या, चालीस लाख पर नहीं एक करोड़ पर होती। राजनीति तो हमारी हिंदू , मुसलमान हो चुकी है पर सुप्रीम कोर्ट अगर हिंदू, मुसलमान नहीं हुई तो देश के बाक़ी हिस्सों से भी घुसपैठियों की संख्या करोड़ो में चिन्हित हो जाएगी।

ज़रूरत इन घुसपैठियों को चिन्हित कर इन्हें सम्मान सहित इन के देशों में वापस भेजने की है। ताकि देश के तमाम संसाधनों को इन के बोझ से छुट्टी मिले। अंधे वोट बैंक के नरक से छुट्टी मिले। मैं आसाम घूमा हूं और पाया है कि आसाम के मूल निवासी मुस्लिम समाज के लोग भी इन बांग्लादेशी घुसपैठियों से बेहद नाराज और आजिज हैं। और इन से मुक्ति चाहते हैं। इस लिए कि इन घुसपैठियों ने इन के काम छीन लिए हैं, इन की मज़दूरी का रेट गिरा दिया है।

आसाम जैसे मुस्लिम बहुल क्षेत्र में भाजपा की सरकार बनना उन के इसी गुस्से का परिणाम है। देश के बाक़ी हिस्सों में भी स्थिति भयावह है। समय रहते चेत जाना ज़रूरी है। पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली जैसी जगहों पर भी यह घुसपैठिए करोड़ों की संख्या में उपस्थित हैं।

NRC पर सरकार की गोलबंदी और अवैध बांग्लादेशियों से प्रेम को दर्शंता अन्य लेख के लिए नीचे पढें:

अवैध बंग्लादेशी घुसपैठियों के पक्ष में उतरी कांग्रेस को अमित शाह ने राजीव गांधी द्वारा किए समझौते के आधार पर राज्यसभा में घेरा!

भारत की जनसंख्या को बदलने के लिए अवैध घुसपैठियों को पनाह देती कांग्रेस, ममता बनर्जी और सेक्यूलर बिरादरी!

असम में जारी एनआरसी लिस्ट से डरीं ममता, बंगालियों को भड़काकर अपना वोट बैंक साधने में जुटी!

साभार: दयान्द पांडेय जी के फेसबुक वाल से

URL: Opposition bets the prestige of country, for muslim vote bank

Keywords: Assam, NRC Draft assam, Mamata Banerjee, TMC, Bangladeshi infiltrators, modi government, rahul gandhi, National Register of Cities, NRC, रोहिंग्या, मोदी सरकार, ममता बनर्जी, राहुल गाँधी, बांग्लादेशी घुसपैठिए, टीएमसी, असम एनआरसी ड्राफ्ट


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !