Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

पटना आसरा होम कांड: सुशासन बाबू! आपका समाज कल्याण तो खूब फल-फूल रहा है….

ब्रजेश ठाकुर के बाद अब मनीषा दयाल! नीतीश बाबू का सुशासन का पताखा खुब फहरा रहा है। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की जुगत में उनके सरकार के मंत्रियों का आसरा गृह की आड़ में चकला घर चलाने वालों संग जुगलबंदी दिखा रहा कि प्रदेश में समाजसेवा की आड़ में सत्ता के दलालों का धंधा खूब फल-फूल रहा है।

मुजफ्फरपुर के पत्रकारिता की आड़ में यौन शोषण का राज्यव्यापी सियासी धंधा करने वाले ब्रजेश ठाकुर के बाद मॉडलिंग के बल पर सियासी रसूख हासिल करने वाली मनीषा दयाल ने बानगी पेश की है कि समाज सेवा कैसे की जा सकती है? अपने एनजीओ के सहारे मॉडलिंग प्रतियोगिता और खेल प्रतियोगिताओं कराकर मनीषा दयाल ने लंबा-चौड़ा सियासी और खाकी कनेक्शन हासिल किया। बड़ी सिफारिश होने के कारण ही मनीषा के एनजीओ को आसरा गृह चलाने का काम मिला था। सत्ता में उसकी ठसक का ही असर है कि चार लड़कियों के भागने की कोशिश करने के बावजूद मनीषा के एनजीओ के ऊपर एफआईआर दर्ज नहीं की गयी थी। पटना के आसरा गृह में दो महिलाओं की मौत को बीमारी से हुई मौत साबित करने की पूरी तैयारी हो चुकी थी यदि मुजफ्फरपुर कांड गर्म न होता मनीषा दलाल का सच भी सामने कभी नही आता।

लेकिन पटना के आसरा गृह में युवतियों की मौत से बिहार में सियासत उबाल पर है। इस घटना से एक बार फिर एनजीओ संचालको का पॉलिटिकल कनेक्शन सामने आया है। सामने आया है कि समाज कल्याण मंत्रालय कैसे किसी ब्रजेश ठाकुर या मनीषा दयाल जैसे यौन शोषण का धंधा चलाने वालों के लिए काम कर रहा है। पटना के जिस आसरा गृह में दो युवतियों की मौत हुई है, उसकी कोषाध्यक्ष मनीषा दयाल का पॉलिटिकल और पुलिस कनेक्शन काफी मजबूत है। वो पटना की हाई प्रोफाइल पार्टियों का नामचीन चेहरा है और राजनेताओं के साथ भी उसके अच्छे ताल्लुकात हैं।

Related Article  जाति के नाम पर फेक न्यूज फैला रहा NDTV एक्सपोज़!

सत्ता में मनीषा के मॉडलिंग के चमक धमक का ही असर है कि रविवार को शेल्टर होम में हुई दो महिली की मौत से पहले जब उसी शेल्टर होम से चार लड़कियों ने भागने की कोशिश की थी तो मामले को अलग मोड़ देकर एक शख्स को गिरफ्तार करवा दिया गया। सत्ता में मनीषा के रसूख का मामला सामने आने के बाद कहा जा रहा है कि आसरा गृह की संचालिका मनीशा दयाल ही है लेकिन वो अपने आप को उस शेल्टर होम की कोषाध्यक्ष बता रही है। सत्ता और विपक्ष के हाईप्रोफाईल लोगों संग मनीषा का पॉलिटिकल कनेक्शन के सबूत साफ करते हैं कि बिहार पावर सेंटर में उसकी ठसक कैसी थी? वारयरल होती तस्वीरों में हाई प्रोफाइल पार्टी और कार्यक्रमों में बीजेपी-जेडीयू और राजद के नेताओं के साथ नजर आ रही हैं। मनीषा ने एनजीओ में काम करने के बाद समाजसेवा के लिये खुद का एनजीओ खोला और साथ ही राजधानी की हर छोटी-बड़ी पार्टियों का हिस्सा बनने लगीं। जिससे उनका पॉलिटिकल कनेक्शन बढ़ता गया। इसी कनेक्शन के आधार पर वो शेल्टर होम चलाती थी। जहां से मुजफ्फरपुर के ब्रजेश ठाकुर की तरह खाखी और खादी संग उसकी पहुंच थी।

मनीषा की तस्वीरें बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, पीएचडी मंत्री विनोद नारायण झा, पूर्व मंत्री श्याम रजक (जेडयू), पूर्व मंत्री शिवचन्द्र राम (RJD) और आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी के साथ तेजी से वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में वो किसी पार्टी या कार्यक्रम में उन नेताओं के साथ नजर आ रही हैं. वो पटना की हर उस हाई प्रोफाइल पार्टी का हिस्सा होती हैं जिसमें राजनेताओं से लेकर ‘पेज थ्री’ का स्टेटस रखने वाले लोग आते थे।

Related Article  पत्नी सुनंदा के साथ क्रूरतापूर्ण व्यवहार करते थे शशि थरूर! चार्जशीट में खुलासा! कांग्रेस ने इसके लिए भी मोदी सरकार पर मढ़ा आरोप!

नेताओं संग मनीषा की तस्वीरें वायरल हुईं तो सवाल भी उठने लगे, लेकिन सभी नेताओं ने एक स्वर में कह दिया कि नेताओं के साथ कोई भी तस्वीर ले सकता है। बस इतना कहने भर से वे तमाम आरोप से मुक्ति चाहते हैं लेकिन सत्ता की आर में मुजफ्फरपुर के बाद पटना का पाप सुशासन सरकार की चूले हीला रहा है। पटना के इस आसरा गृह में दो युवतियों की संदिग्ध मौत के बाद से बिहार का समाज कल्याण विभाग और जिला प्रशासन भी सकते में है। जांच एनजीओ के साथ-साथ मनीषा के उस कनेक्शन की भी हो रही है, जिससे वो बहुत कम समय में एक साधारण महिला से ‘हाई प्रोफाइल’ लेडी बन गई।

बिहार में महिलाओं के साथ हुई योन हिंसा के लिए पढें:

मुजफ्फरपुर सामूहिक बलात्कार कांड का हश्र भी 1983 के चर्चित बॉबी हत्याकांड जैसा न हो जाए? आखिर क्या हुआ था बिहार की बॉबी के साथ?

क्या कांग्रेस से साठगांठ थी मुजफ्फरपुर बालिका आश्रय गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की?

तेजस्वी यादव, लालू राज में जब आपके ही विधायक के बेटे अपने दोस्तों के साथ मिलकर दलित आईएएस की पत्नी का करते थे बलात्कार, गिराते थे उसका गर्भ और तब किसी कोने में सुबकता रहता था आपका सामाजिक न्याय!

URL: Patna Asra Ghar Case: Manish Dayal’s glamor and political connections

keywords: Patna, Patna shelter house, manisha dayal, RJD, cordinator manisha dayal, death of two girls, Bihar, पटना आसरा होम कांड, मनीषा दयाल, पटना आश्रय गृह, दो लड़कियों की मौत,

Join our Telegram Community to ask questions and get latest news updates
आदरणीय पाठकगण,

ज्ञान अनमोल हैं, परंतु उसे आप तक पहुंचाने में लगने वाले समय, शोध, संसाधन और श्रम (S4) का मू्ल्य है। आप मात्र 100₹/माह Subscription Fee देकर इस ज्ञान-यज्ञ में भागीदार बन सकते हैं! धन्यवाद!  

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Other Amount: USD



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/Google Pay/ पे / Pay Zap/AmazonPay के लिए - 9312665127
WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9540911078

You may also like...

Write a Comment

ताजा खबर