माल्या के निजी विमान की नीलामी के बाद नीरव मोदी भी आया मोदी सरकार की गिरफ्त में, रेड कॉर्नर नोटिस जारी!



Nirav Modi property seized in Honkong
Sanjeev Joshi
Sanjeev Joshi

2019 चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार ने फ्रंटफुट पर खेलना शुरू कर दिया है। देश के बैंकों से अकूत संपत्ति लेकर विदेश में छुपे भोगोड़ो पर सरकार अपनी नीति पहले ही साफ़ कर चुकी थी कि देश से लुटे गए धन की एक एक पाई का हिसाब होगा। कल ही 800 करोड़ का बकाया सेवा शुल्क वसूलने के लिए भगोड़े विजय माल्या के निजी विमान नीलाम हुआ था और आज सरकार ने दूसरी बड़ी मछली नीरव मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी करवा दिया है। ज्ञात हो कि कुछ दिन पहले सरकार ने नीरव मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी करने के लिए आग्रह किया था, सरकार की पहल पर आज इंटरपोल ने नीरव मोदी के खिलाफ रेड कार्नर नोटिस जारी कर दिया है।

क्या होता है रेड कार्नर नोटिस
इंटरपोल द्वारा जारी किया गया रेड कॉर्नर नोटिस अपराधी को पकड़ने के लिए पूरी दुनिया भर में मान्य प्रक्रिया है। पिछले दिनों ही नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के लिए पीएमएलए कोर्ट ने हरी झंडी दी थी। नीरव मोदी के इंग्लैंड में होने की खबर है मुंबई की एक विशेष अदालत ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध को मंजूर कर लिया है। न्यायाधीश एमएस आजमी ने इस केंद्रीय एजेंसी को प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू करने की अनुमति दी है।

नीरव मोदी के गिरफ्तार होने से बाद सकती हैं कांग्रेस की मुश्किलें !
नीरव मोदी की पीएनबी से सारा ऋण यूपीए सरकार के कार्यकाल में दिया गया किन्तु सवाल मोदी सरकार से पूछे गए। मोदी सरकार पर नीरव मोदी को भागने का प्रपोगंडा भी खड़ा किया गया था लेकिन अब नीरव मोदी यह गिरफ्तार होता है तो कांग्रेस और पी चिदंबरम की मुश्किलें बाद सकती हैं! चिदंबरम परिवार पर पहले से ही ईडी की नजरें लगी हुई हैं ऐसे में नीरव मोदी यदि गिरफ्तार होता है तो पीएनबी घोटाले में शामिल कई बड़े चेहरे और तात्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुश्किलें बढ़ना तय है।

URL: PNB fraud, Red corner notice issued by interpol against nirav modi

Keywords: nirav modi, Nirav Modi PNB Fraud, Nirav Modi bank fraud, p chidambaram, modi government, red corner notice, Red Corner notice against Nirav Modi,PNB fraud, पीएनबी फ्रॉड,नीरव मोदी, पी चिदंबरम, मोदी सरकार, रेड कार्नर नोटिस


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !