चोरी और सीनाजोरी… अपनी दोहरी नागरिकता पर सफाई देने के बजाए राहुल गांधी ने लोक सभा की आचार समिति के निर्णय पर उठाया सवाल!

ब्रिटिश नागरिकता को लेकर अपनी दोहरी नागरिकता पर सफाई देने के बजाए राहुल गांधी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के नेतृत्व वाली लोक सभा की आचार समिति के निर्णय पर ही सवाल उठाया है। राहुल गांधी ने आचार समिति को भेजे अपने जवाब में कहा है कि उसे भाजपा नेता सुब्रमनियन स्वामी के आरोपों को संज्ञान में ही नहीं लेना चाहिए। मालूम हो कि लोकसभा आचार समिति ने दोहरी नागरिकता से संबंधित सुब्रमनियन स्वामी की शिकायत पर राहुल गांधी को नोटिस जारी किया था।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राहुल गांधी ने आचार समिति के नोटिस पर जो जवाब दिया है उसमें उन्होंने अपने ऊपर लगे आरोपों पर कोई सफाई नहीं दी है, बल्कि सुब्रमनियन स्वामी पर हमला किया है। उन्होंने कहा है कि स्वामी को आरोपों को संज्ञान में ही नहीं लिया जाना चाहिए क्योंकि उनके सारे आरोप भटकाने वाले हैं। इसके साथ ही राहुल गांधी ने स्वामी को उनके ब्रिटिश पासपोर्ट नंबर के अलावा अन्य संबंधित दस्तावेज सार्वजनिक करने की चुनौती दी है।

इसे ही कहते हैं चोरी और सीनाजोरी। क्योंकि सुब्रमनियन स्वामी ने राहुल गांधी पर उनके ब्रिटिश नागरिकता पर जो भी आरोप लगाए हैं वे सारे सबुत आधारित हैं। जैसे ब्रिटिश कंपनी रजिस्ट्री हाउस में ब्रिटिश नगारिक होने की घोषणा हो या लंदन में उनके नाम दो आवासीय पता हो या फिर वहां के बैंक में उनके नाम का बैंक एकाउंट हो। हैंपशायर के विनचेस्टर स्थित 51 साउथगेट स्ट्रीट तथा 2 फ्रॉग्नल वे, लंदन का पता राहुल गांधी ने खुद अपने दो कंपनियों के आवासीय पता के रूप में लिखा है और बताया है कि वह ब्रिटिश नागरिक है। ब्रिटिश कंपनी रजिस्ट्री हाउस में जमा कराए गए ये सारे दस्तावेज राहुल गांधी ने खुद अपने हाथों से भरे हैं, वो भी तब जब वे देश की लोक सभा के सदस्य थे। हालांकि ये बात दीगर है कि उनकी वह गुप्त कंपनी 2009 में बंद हो गई। इतना ही नहीं स्वामी ने सबूत के तौर पर राहुल गांधी के लंदन स्थित बॉर्कलेज बैंक में राउल विंची नाम से खुला एकाउंट नंबर 504664922071640796 का भी खुलासा किया था। उनका यह बैंक एकाउंट 18 जुलाई 1996 को ही खुला था।

इसी मामले को लेकर स्वामी ने केंद्रीय गृह मंत्रालय में शिकायत दर्ज कर राहुल गांधी की गुप्त ब्रिटिश नागरिकता की जांच कराने की मांग की थी। क्योंकि उपयुक्त आधिकारिक संस्थान को बगैर बताए विदेशी नागरिकता लेना भारतीय नागरिक के लिए अवैध है। भारतीय कानून के अनुसार जैसे ही आप विदेशी नागरिकता प्राप्त करते हैं भारतीय नागरिकता निरस्त हो जाती है।

इतना ही नहीं स्वामी ने राहुल गांधी पर उनके साथ हवाई यात्रा कर रहे यात्री के हवाले से ब्रिटिश पासपोर्ट पर जर्मनी की यात्रा करने का भी आरोप लगया था। इस बारे में तो स्वामी ने ट्वीट भी किया था। लेकिन आज तक राहुल गांधी ने कोई जवाब नहीं दिया।
लोकसभा की आचार समिति के नोटिस का उपयुक्त जवाब देने के बजाए राहुल गांधी ने स्वामी पर सबूत पेश करने की चुनौती दी है। स्वामी की शिकायत और उनके द्वारा उपलब्ध कराए सबूत के आधार पर ही तो लोकसभा आचार समिति ने नोटिस जारी किया था। अब सवाल उठता है कि राहुल गांधी को सबूत पेश करना है या फिर सुब्रमनिय स्वामी को?

प्वाइंट वाइज समझिए

राहुल गांधी की दोहरी नागरिकता पर उठते सवाल

* राहुल गांधी ने अपनी दोहरी नागरिकता पर आचार समिति को भेजा जवाब

* राहुल गांधी ने अपनी दोहरी नागरिकता के लगे आरोप पर नहीं दी कोई सफाई

* सुब्रमनियन स्वामी को अपने खिलाफ सबुत पेश करने की दी चुनौती

* राहुल गांधी ने अपने जवाब में कहा है कि स्वामी के आरोप में नहीं है कोई सच्चाई

* राहुल गांधी ने स्वामी के आरोप को निर्दयतापूर्वक भटकाने वाला बताया

* राहुल गांधी ने स्वामी के आरोप को संज्ञान में लेने पर आचार समिति पर उठाए सवाल

* कहा, आचार समिति को स्वामी के आरोप को संज्ञान में लेना ही नहीं चाहिए

* लंदन में अपने दो-दो आवासीय पता और बैंक एकाउंट के बारे में कुछ नहीं बताया

URL : Rahul Gandhi files reply on his Dual citizenship row !

Keyworld : Dual citizenship Rahul Gandhi ethics committee, lok sabha, subramanian swami, ब्रिटिश नागरिकता, बैंक एकाउंट

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार