राहुल जी “कलावती” तो याद है न आपको, कर्ज की वजह से उसकी बेटी और दामाद ने 2010 में आत्महत्या कर ली थी. आपने क्या किया?



Awadhesh Mishra
Awadhesh Mishra

देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहा है तो एक बार फिर राहुल गांधी देश के किसानों के मुद्दे को उठा रहे हैं। यही राहुल गांधी है जिन्होंने साल 2008 में महाराष्ट्र के विदर्भ की गरीब महिला कलावती के घर खाना खाने के बाद उन्हें कर्ज माफी का आश्वासन दिया था। कलावती के साथ फोटो खिंचवाकर राहुल गांधी ने देश भर में खूब वाहवाही भी लूटी थी। लेकिन उसके बाद क्या हुआ? किसी को पता भी है? उसके बाद राहुल गांधी ने कर्ज माफ करने की बात तो दूर उनकी सुध तक नहीं ली। कर्ज के कारण ही साल 2010-11 में उनकी बेटी और दामाद ने आत्महत्या कर ली।

मुख्य बिंदु

* राहुल गांधी ने साल 2008 में कलावती के घर खाना खाने के बाद कर्ज माफ करने का आश्वासन दिया था

* कलावती के घर खाना खाने का फोटो खिंचवाकर राहुल गांधी ने देश भर में खूब लूटी थी वाहवाही

लेकिन एमके वेणुगोपाल जैसे पीडी पत्रकारों को आज भी राहुल गांधी का देश के किसानों की दयनीय हालात पर दिए भाषण हृदय को छू जाता है। राहुल गांधी जब मोदी सरकार पर देश के 15 बड़े उद्योगपतियों के 3.5 लाख करोड़ रुपये ऋण माफ करने जैसे झूठे आरोप लगाते हैं, तो देश के वामी-कांगी पत्रकार झूठ उठते हैं। सवाल उठता है कि जो राहुल गांधी देश की एक गरीब महिला किसान कलावती तक का सुध नहीं ले पाए वे कैसे देश के करोड़ों किसान का भला कर सकते हैं? कलावती को भले ही राहुल गांधी भूल गए हों, लेकिन कलावती को कर्ज माफ करने वाला राहुल गांधी के आश्वासन को देश की जनता नहीं भूल पाई है। वह नहीं भूल पाई है कि कैसे राहुल गांधी के आश्वासन देने के बाद भी कर्ज के बोझ से दबकर कलावती की बेटी और दामाद ने आत्महत्या कर ली थी।

URL : Rahul Gandhi never stand at the assurances given to “kalavati”

Keyword : Rahul Gandhi’s fake assurance, Kalavati, farmer from Vidarbha, pay off debt, राहुल गांधी का झूठा आश्वासन, कलावती, विदर्भ की गरीब किसान, कर्ज माफ,


More Posts from The Author





राष्ट्रवादी पत्रकारिता को सपोर्ट करें !

जिस तेजी से वामपंथी पत्रकारों ने विदेशी व संदिग्ध फंडिंग के जरिए अंग्रेजी-हिंदी में वेब का जाल खड़ा किया है, और बेहद तेजी से झूठ फैलाते जा रहे हैं, उससे मुकाबला करना इतने छोटे-से संसाधन में मुश्किल हो रहा है । देश तोड़ने की साजिशों को बेनकाब और ध्वस्त करने के लिए अपना योगदान दें ! धन्यवाद !
*मात्र Rs. 500/- या अधिक डोनेशन से सपोर्ट करें ! आपके सहयोग के बिना हम इस लड़ाई को जीत नहीं सकते !