गुजरात में ठाकोर सेना ने पहले उत्तर भारतीयों पर किया अत्याचार और अब पत्रकारों पर करने लगा है प्रहार!

कांग्रेस की शह पर अल्पेश ठाकोर की ठाकोर सेना ने पहले गुजरात में रहने वाले उत्तर भारतीयों पर अत्याचार कर जुल्म ढाया और अब पत्रकारों तथा मीडिया को भी धमकाने लगी है। ठाकोर सेना ने खुलेआम उन पत्रकार को धमकी दी है जो गुजरात में रह रहे उत्तर भारतीयों के खिलाफ ठाकोर सेना की उत्पात को लोगों के सामने ला रहे हैं।

मुख्य बिंदु

* बिहार में कांग्रेस के सह प्रभारी बने अल्पेश ठाकोर गुजरात में बिहारियों पर ही ढाह रहे कहर

* कांग्रेस की शह पर ठाकोर सेना पत्रकारों को भी जान से मारने की धमकी देने लगी है

जिस प्रकार अल्पेश ठाकोर की सेना ने गुजरात में रह रहे उत्तर प्रदेश तथा बिहार के लोगों की जान सांसद में डाली है, इसका खामियाजा कांग्रेस को ही चुकाना पड़ेगा। वैसे भी कांग्रेस की शह पर अल्पेश ठाकोर ने गुजरात से लेकर बिहार तक में घृणा की राजनीति शुरू की है। कांग्रेस ने ही तो अल्पेश ठाकोर को बिहार का सह प्रभारी बनाया है। ठाकोर सेना ने इस मामले को उठाने वाले पत्रकारों को भी धमकी दी है।

ठाकोर सेना ने इस संदर्भ में जी न्यूज के संवाददाता अमित राजपूत को उनके फेसबुक पर जान से मारने की धमकी दी। लिखित सबूत सामने आने के बाद भी अल्पेश ठाकोर ने उत्तर भारतीयों पर हमला कराने में अपने हाथ होने से इनकार किया है। जबकि पत्रकारों को जान से मारने की धमकी देने वालों के समर्थन में खड़ा है। इतना ही नहीं उसने इस मामले में गिरफ्तार अपने समुदाय के लोगों को तत्काल छुड़ाने की मांग की है।

गुजरात में एक मासूम अबोध बच्ची के साथ रेप की घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। इस घटना के दोषी को जितनी भी कड़ी सजा दी जाए वो कम होगी। लेकिन क्या इसके लिए पूरे उत्तरभारतीय को सजा देना सही होगा? अल्पेश ठाकोर इस जघन्य अपराध की आड़ में अपनी राजनीति चमकाने के लिए पूरे उत्तर भारतीयो पर हमला करने के लिए अपने समुदाय और ठाकोर सेना को उकसा रहे हैं। वे पूरे गुजरात में हिंसा फैलाने के लिए लोगों को उत्साहित करने में जुटे हैं। इस मामले में गिरफ्तार 150 लोगों को तत्काल रिहा करने की मांग कर रहे हैं।

उन्होंने इस संदर्भ में अपने समुदाय के लोगों के खिलाफ दर्ज केस भी तत्काल वापस लेने की मांग कर रहे हैं। क्या अल्पेश ठाकोर खुद को कानून से ऊपर मानते हैं? क्या ऐसे में कांग्रेस अभी तक उनके खिलाफ कोई कार्रवाई की है? इससे साफ जाहिर होता है कि कांग्रेस ने गुजरात में हिंसा फैलाने के लिए अल्पेश को पूरी शह दे ऱखी है। एक सवाल और उठता है कि अगर अल्पेश को बिहार से समस्या है तो फिर वे अभी तक किस हैसियत से कांग्रेस के बिहार प्रभारी का पद संभाले हुए हैं। क्या अल्पेश ठाकोर कांग्रेस के बिहार प्रभारी पद से इस्तीफा देंगे?

गौरतलब है कि गुजरात में ठाकोर समुदाय के लोग ही उत्तर भारतीय पर ज्यादा हमलावर है। अल्पेश ठाकोर ने अपनी हनक और धाक जमाने के लिए ठाकोर समुदाय के नाम ठाकोर सेना बना रखी है। तभी तो उनके आदमी गांधीनगर, अहमदाबाद, पाटन, साबरकंठ तथा महसाणा जिलों में रह रहे उत्तर भारतीयों पर ताबड़तोड़ हमले कर रहे हैं।

गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले के आरोप में कांग्रेस नेता महोत ठाकोर गिरफ़्तार। महोत का एक विडीयो सामने आया है। जिसमें वो प्रवासी मज़दूरों को 24 घंटे में गाँव छोड़ने की धमकी दे रहे हैं! महोत, कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर की ‘ठाकोर सेना’ के सदस्य हैं!

पत्रकार रोहित सरदाना ने भी गुजरात की हिंसा पर ठाकोर सेना पर व्यंग करते हुए ट्वीट किया है

URL: TV Reporter Recived Threat on social media for coverage on thakor sena agitation against non gujaratis

Keywords: Alpesh thakor, thakor sena, Attack on Non-Gujaratis, Gujarat violence, attack on North Indian, Mass exodus of Bihar, अल्पेश ठाकोर, ठाकोर सेना, गैर-गुजरातियों पर हमला, उत्तर भारतीयों पर हमले, बिहार पलायन

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127

ISD Bureau

ISD is a premier News portal with a difference.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

समाचार