Watch ISD Videos Now Listen to ISD Radio Now

कहीं जम्मू में बस रहे रोहिंग्याओ को कवर देने के लिए तो नहीं बनाया जा रहा है कठुआ रेप केस को Trojan Horse?

ट्राय के घोड़े की कहानी विश्व प्रसिद्ध है। लगभग हर पढ़े-लिखे इंसान ने कभी ना कभी यह कहानी पढ़ी या सुनी है। ट्राय के अभेद्य किलेबंदी को तोड़ने के लिये युद्धरत एथेंस वासियों ने युद्ध से पीछे हटने का दिखावा किया और एक बहुत बड़ा लकड़ी का घोड़ा उपहार स्वरूप रख गये। ट्राय वाले उसे किले के अंदर ले गये, लेकिन उसमें छुपे योद्धाओं ने रात को किले के दरवाजे को खोल दिया। घोड़े के अंदर छुपे हुए छुपे यूनानियो ने अविजित ट्राय का सर्वनाश कर दिया। यह महागाथा महान यूनानी कवि होमर ने लिखी है।

यह अश्व एक पुतला ना होकर एक रणनीती थी, जो तब से लेकर आज तक सदियों से खेली जाती रही है। ट्राय का वो महान अश्व लकड़ी का बना था पर हर बार वो लकड़ी का बने यह जरूरी नही! आज कल वो ट्राय का घोड़ा मांस का भी बनने लगा है, मानव मांस का! वो भी उस वर्ग का जिसको देखकर अविजित शत्रुओं के मन में वैसे ही करूणा, दया, इंसानियत, पश्चाताप की भावनाओं का ज्वार उत्पन्न हो जैसे कभी अश्व को देख कर ट्राय के शासक वर्ग में अपने विजयी होने की गलतफहमी भर गई थी!

कुछ समय पहले ट्राय का घोडा तब छोड़ा गया, जब ISIS ने सीरिया और इराक में ‘निजाम ए मुस्तफा’ कायम किया। खून और बारूद के ढेर लग गये! सारी उम्मत अपने हम मजहब सऊदी अरब न जाकर यूरोप की तरफ भागी, किन्तु यूरोप की सीमा नहीं पार कर पाई। तब तुर्की के समुद्री तट पर एक सीरियन बच्चे ‘अयान कुर्दी’ के रूप मे ट्राय का घोड़ा छोड़ा गया। अति-लिबरल और मानवतावादी यूरोप पश्चाताप के विलाप में डूब गया और शरणार्थियो के लिये यूरोप की सीमाएं खोल दी गईं। लोगों ने अपने घरों में सीरियन्स को जगह दी और उसके बाद यूरोप ने जो भोगा वो सर्वविदित है! जिन लोगो ने उन्हें अपने घरों में शरण दी, शरणार्थियों ने उनकी ही बच्चियों और पत्नियों के साथ बलात्कार किया!

शरणार्थियों ने राह चलती औरतो के साथ बत्तमीजियां शुरू कर दी! जगह-जगह शरिया की मांग की जाने लगी, और शरण देने का सबसे सुंदर रिटर्न गिफ्ट, शरणार्थियो ने जो यूरोप को दिया वो था ‘तहर्रूश जमई'(Taharrush Jamai) और ‘लौंडा नाच’! राह चलती औरतों को घेरकर उनका बलात्कार किया जाता! चार-पांच लोग यह कुत्सित कार्य करते, बांकी चाकू और लाठी के बल पर औरत को बचाने वाले लोगों को रोकते। यह ड्यूटी बदलती रहती जब तक पूरी भीड़, उस औरत का उपभोग ना कर लेती!

Related Article  ईसा मसीह के नाम पर चर्च चला रहा है बाल यौन शोषण के पक्ष में अभियान!

खैर छोड़िये विदेश की बातें! अभी परसों नरसों जम्मू के कठुआ में भी शायद ट्राय का घोड़ा छोड़ा गया है! एक कश्मीरी मुसलमान आठ वर्षीय लड़की नाजिया (बदला हुआ नाम) के रूप में! हालांकि नाजिया का बलात्कार जनवरी 2018 में हुआ। हमारा मकसद बलात्कार का समर्थन करना नहीं है, और कोई भी इनसान इसका समर्थन नहीं कर सकता, लेकिन जिस तरह तीन महीने पुराने एक मामले को आज उछाला गया है, और जिस तरह से लेफ्ट लिबरल जमात राष्ट्रवादियों व हिंदू समुदाय को टारगेट कर रहा है, वह कहीं न कहीं ट्राय के घोड़े की कहानी की याद दिलाता है!

जम्मू की हिन्दु बहुलता को खत्म करने के लिये रोहिंग्याओ को जम्मू में बसाया जा रहा था। विगत कुछ दिनों से इसके खिलाफ जम्मू के हिन्दु आवाज उठाने लगे थे! रैलियां, बंद इत्यादि के जरिए सार्वजनिक मंचो पर बात उठाई जाने लगी थी। हालात काबू से बाहर होते देख कर शायद ट्राय का घोड़ा छोड़ दिया गया! तो क्या उस बच्ची का बलात्कार करके एक मंदिर के अंदर उसकी लाश रख दी गई थी?

बस फिर क्या था सारे लिबरल, वामपंथी, शांतिप्रिय, मीडिया, राजनेता, साहित्यकार देश में हिन्दु चरम पंथ के उद्भव के कारण अल्पसंख्यक, दलित और स्त्रियों पर हो रहे जुल्म ज्यादतियों का नारा बुलंद करने लगे! Twitter पर हिंदुओं को गाली देने की बाढ़ आ गयी। नीरा राडिया के टेप में जितने भी congress के दलाल कैद थे, प्रकट हो गये! ‘कैश फॉर वोट’ का वीडियो दबाने वाला अपनी पत्रकार पत्नी के साथ मिलकर हिंदुओं के खिलाफ अभियान चलाने लगा! हिंदु राष्ट्रवादी बंधुवर उसी करूणा, दया और सबसे ज्यादा पश्चाताप के ज्वार से सराबोर हो क्षमावाणी उच्चारने लगे!

Related Article  कश्मीर में सामने आया एक और कठुआ जैसा मामला! सौतेली मां और भाई समेत छह गिरफ्तार, फेक पत्रकारों इस बार नहीं चिल्लाओगे?

मंदिर में लाश मिली है तो हिन्दुओ ने ही किया होगा? शांतिप्रिय इलहामी तो बेचारे ऐसा कुछ नहीं कर सकते? देख लीजिये, हर तरफ राष्ट्रवाद के झंडाबरदार पश्चाताप की मुद्रा मे रूदन कर रहें हैं। अपना मूल उद्देश्य छोड़कर सब ट्राय के घोड़े के अनुगामी हो गये हैं!

जम्मू में बसे रोहिंग्याओ की अवैध बस्ती भूल गये! हर गैर कानूनी और देशविरोधक कामों में उनकी संल्गनता भूल गये! पाकिस्तानी और कश्मीरी आतंकवादियो से उनकी गलबहियें भूल गये! याद रहा तो बस मंदिर और उसमे पड़ी लाश या कहे ट्राय का घोड़ा! सब गिल्टी कॉंशियस है! दस साल के अंदर जम्मू से हिन्दू पलायन शुरू होगा! लिखा कर रख लीजिये, पर इससे अभी किसी को कोई मतलब नही, सब मगन हैं और ट्राय का घोड़ा सरपट दौड़ा चला जा रहा है!

साभार: अविनाश शर्मा भारद्वाज के फेसबुक वॉल से

फोटो साभार

नोट: यह लेखक के निजी विचार हैं। IndiaSpeaksDaily इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता, विचार अथवा सच्चाई के प्रति उत्तरदायी नहीं है।

URL: for saving rohingya issue in jammu kashmir Kathua rape case raise as trojan horse

Keywor: Trojan Horse, Jammu and Kashmi ,Kathua Case, Asifa Rape case, Asifa gangrape, Alan Kurdi, Kathua, आसिफा रेप केस, जम्मू, कठुआ रेप कांड

Join our Telegram Community to ask questions and get latest news updates
आदरणीय पाठकगण,

ज्ञान अनमोल हैं, परंतु उसे आप तक पहुंचाने में लगने वाले समय, शोध, संसाधन और श्रम (S4) का मू्ल्य है। आप मात्र 100₹/माह Subscription Fee देकर इस ज्ञान-यज्ञ में भागीदार बन सकते हैं! धन्यवाद!  

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Select Subscription Plan

OR

Make One-time Subscription Payment

Other Amount: USD



Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/Google Pay/ पे / Pay Zap/AmazonPay के लिए - 9312665127
WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9540911078

You may also like...

Write a Comment

ताजा खबर