Tagged: cultural events

0

धर्म और अर्थ ही रहा है भारत के उत्कर्ष का मूल तत्व: अंशुमान तिवारी

हमारे देश में इतिहास साम्राज्यों और युद्धों के आधार पर लिखा गया है, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय इतिहास लिखा गया है। कभी सामाजिक इतिहास लिखा ही नहीं गया। विध्वंस का इतिहास हर जगह मिल जाएंगे...

0

जो काम काशी में संजय गांधी नहीं कर पाए, वही काम मोदी-योगी की जोड़ी करने में सफल रही!

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के डायरेक्टर तथा पत्रकारिता की दुनिया में चिरपरिचित नाम मान्यवर राम बहादुर राय ने “काशी एक उत्सव” फोटो प्रदर्शनी का निरीक्षण किया। नोएडा के सेक्टर दो स्थिति आईआईपी की फोटो...

0

समाज के पथ प्रदर्शन के लिए कारगर साबित होगा सोशल एक्टिविस्ट एंड टैलेंटेड अवार्ड : श्याम जाजू

भारत एक ऐसा देश है जहाँ ना सिर्फ अपने बारे में सोच कर बल्कि पूरे समाज को साथ लेकर आगे बढ़ते हैं। अनेकता में एकता रखने वाला पूरे विश्व में एक मात्र ऐसा देश...

0

अच्छा लिखना है तो अच्छा पढ़ो, बोलना स्वयं सीख जाओगे- पद्मश्री नरेंद्र कोहली

लेखनी से समाज में हम बहुत बड़ा बदलाव ला सकतें हैं, ये मानना है राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के दिल्ली प्रांत कार्यवाह भारत भूषण जी का, उन्होंने ये विचार दिल्ली के इंदिरा गांधी नेशनल...

0

थियेटर और एनएसडी ने हमेशा मेरे अंदर आत्मविश्वास पैदा किया: नवाजुद्दीन सिद्दिकी

हिंदी सिनेमा के बेहतरीन कलाकार नवाजुद्दीन सिद्दिकी ने कहा कि थियेटर ने हमेशा मेरे अंदर आत्मविश्वास का संचार किया है। जब मेरे बुरे दिन थे और मैं सिनेमा के लिए संघर्ष कर रहा था,...

0

‘बिहार के मिथिलांचल से बड़े स्तर पर युवाओं का पलायन साबित करता है कि वहां नेता फेल हुए हैं!’

मैथिल पत्रकार ग्रुप और प्रेस क्लब आॅफ इंडिया की ओर से मैथिली भोजपुरी अकादमी दिल्ली सरकार के सहयोग से प्रेस क्लब परिसर में आयोजित द्धितीय मिथिला महोत्सव में दर्शक देर रात तक मैथिली गीतों...

ताजा खबर