Tagged: gujarat riots

0

1984 के सिख नरसंहार 34 साल बाद मौत की सजा के मायने समझते हैं आप?

  भारत में मौत की सजा को ‘रेयरेस्ट ऑफ द रेयर’ कहा जाता है। मतलब देश की अदालत का भी मानना है कि जो जिंदगी दे नहीं सकता उसे लेने का अधिकार नहीं। इसलिए...

0

गुजरात दंगा मामले में डेढ दशक से भौंकने वाले लोकतंत्र के वॉच डॉग के मुंह पर झन्नाटेदार तमाचा है 84 दंगा मामले में अदालत का ये फैसला!

1984 के सिख विरोधी दंगे में 34 साल बाद पहली दफा किसी अपराधी को दोषी ठहराने के अदालत के फैसले ने भारतीय लोकतंत्र के चारो स्तंभ को कठघरे में खड़ा कर दिया है। तत्कालिन...

0

गुजरात दंगा: सीएम मोदी को फंसाने में फेल हुए तो अब पीएम मोदी को फंसाने की साजिश!

पीएम मोदी को एक बार फिर फंसाने का चौसर तैयार किया गया है। 2002 गुजरात दंगे में मारे गए कांग्रेस सांसद एहसान जाफरी की विधवा जाकिया जाफरी ने एक बार फिर मोदी के खिलाफ...

0

मोदी को फंसाने की साजिश रचने वाले बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की फिर सामने आई काली करतूत! हुआ गिरफ्तार!

सही ही कहा गया है कि किसी का पाप हमेशा के लिए नहीं छिपता। गुजरात सीआईडी (क्राइम) ने राजस्थान में पाली के एक वकील को 1998 में ड्रग प्लांटिंग के एक झूठे केस में...

ताजा खबर