Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: hindu dharm

0

ज्ञॉनवापी मुद्दे पर जिस इतिहास के रथ पर चढ़ने का प्रयास हो रहा है..वो रथ और उसका वाहक व्यास परिवार ही है

माना की मेरा घर जमींदोज करने में तुम सफल हो गए ! हमारा मन्तव्य बीच में ही लड़खड़ा गया ! तुम्हारे जुल्मों के खिलाफ मैं अकेला हूं, मगर फैसला अभी कुरूक्षेत्र के मैदान में...

0

तो लखनऊ में लगी तमाम मूर्तियों में कोई मूर्ति तिलक, तराजू या तलवार का भी प्रतिनिधित्व क्यों नहीं करती

दयानंद पांडेय। कांशीराम कभी अयोध्या में राम मंदिर की जगह शौचालय बनवाना चाहते थे। जो लोग कभी अयोध्या में राम मंदिर की जगह शौचालय , अस्पताल और विद्यालय बनाने की बात करते थे ,...

0

उन्हें हमारे पूर्वजों पर विश्वास है

स्वामी सूर्यदेव जी। हमारे यहां वैदिक वांग्मय में किसी भी मंत्र का तीन तरह से अर्थ लिया जाता है. आधिदैविक-आधिभौतिक-आध्यात्मिक ऋषि मानते हैं कि जो भी ब्रह्मांड में है वह इस पिंड यानी हमारे...

0

लंपट वामपंथियों, पंच मक्कारों से निपटने का यौगिक तरीका : कृष्ण नीति की नींव और अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का संदेश!

आदित्य जैन। आज जीवन के प्रत्येक पहलुओं पर पंच मक्कारों ने अपना प्रभाव छोड़ रखा है । यदि कोई युवक – युवती कॉलेज जाते हैं तो ये सबसे पहले इनके शिकार बनते हैं। कहानी...

0

भारत भूमि की असली पहचान – साधना, साहस, सेवा, सत्संग : आइए समझें सनातन के चार शब्द!

आदित्य जैन। भाव – राग – ताल की शरणस्थली भारत की पहचान क्या है ? राजा दुष्यंत और शकुंतला के पुत्र भरत का भारत , चक्रवर्ती सम्राट ऋषभ देव के पुत्र भरत का भारत,...

0

किसी भी समस्या के समाधान का सनातन मॉडल

आदित्य जैन. मार्क्सवाद , वामपंथ , माओवाद , नारीवाद , आधुनिक उदारवाद , उत्तर आधुनिकतावाद का छलावा कुछ वैसा ही है , जैसे रेगिस्तान में चमकती रेत पर पानी के तालाब का अहसास होना...

2

श्री राम को मृत्यु से बचाने वाले गुरु वशिष्ठ जी का अद्भुत प्रसंग और सनातन गुरु परंपरा के कुछ विशिष्ट पन्ने!

आदित्य जैन। महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने A Brief History of Time नामक पुस्तक लिखी । क्या आपने यह पुस्तक पढ़ी है ? इस महान वैज्ञानिक से हज़ार साल पहले आचार्य कुंदकुंद ने Essence...

0

वो एक अखलाक पर आसमान उठा लेते हैं, तुम असंख्य हिंदुओं की मौत और पलायन पर भी चुप रहते हो!

यह भाजपा की महिला कार्यकर्ता का बंगाल में हाल है। फोटो कल की है। मकुल राय तो डर के मारे ममता के पास चले गये, जो हिंदू भाजपा कार्यकर्ता और वोटर हैं वह आखिर...

0

विश्व को गांधी नहीं , महायोगी गोरखनाथ और परशुराम की जरूरत है!

आदित्य जैन। अमेरिकी लेखक, दार्शनिक और इतिहासकार विल ड्‌यूरेन्ट अपनी पुस्तक ” द स्टोरी ऑफ सिविलाइजेशन, वॉल्यूम टू , अवर ओरिएंटल हेरिटेज” में लिखते हैं कि आधुनिक विश्व के छात्र को इससे बढ़कर लज्जा...

0

दिल्ली में देवी -देवता असुरक्षित!

Archana Kumari, Delhi | एक बार फिर राजधानी के द्वारका नॉर्थ अंतर्गत ककरौला इलाके में हिंदू देवी देवताओं की मूर्ति को तोड़ा गया ।  पुलिस का दावा है कि मानसिक तौर पर बीमार एक शख्स ने...

0

पहले पटाखा फोड़ने अब होलिका दहन पर लगाई दिल्ली पुलिस ने रोक!

Archana Kumari. करोना के नाम पर देश के राजधानी में हिंदुओं को त्योहार मनाने  से रोका जा रहा है । पहले दिवाली में पटाखा फोड़ने को लेकर कई लोगों को पकड़ा गया और इस बार...

1

राजधानी में हिंदू और उनके धार्मिक स्थल कतई सुरक्षित नहीं!

देश की राजधानी में  हिंदू और उनके धार्मिक स्थल सुरक्षित नहीं है । पहले सेंट्रल दिल्ली के हौज काजी थाने इलाके में स्थित एक मंदिर पर हमला किया गया और अब रोहिणी जिले के...

0

आई पी एस आंफिसर ने अपने ट्वीट के द्वारा बताया कैसे वामपंथियों ने हिंदू धर्म की गलत छवि प्रस्तुत की, द वायर के सिद्धार्थ वरदराजन उतरे वामपंथियों के बचाव के लिये!

द वायर मीडिया के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन ने आई पी एस अधिकारी एम नागेश्वर राव के उस ट्वीट पर निशाना साधा है जिसमे उन्होने भारतीय सभ्यता और संस्कृति को वामपंथी इतिहासकारों द्वारा मिटाये...

0

अब न वह गंगा है, न आस्था, और न कार्तिक पूर्णिमा की वह धार्मिकता!

हिंदू धर्म में कार्तिक, कार्तिक पूर्णिमा, कार्तिक में गंगा स्नान, देवदीपावली की महत्ता आदि आप इस एक लेख से जितना जान पाएंगे, उतना ढूंढ़ने पर भी आप शायद न पढ पाएं! आज के समय...

0

माँ दुर्गा के नौ नाम और उनका अर्थ!

नित्यानद मिश्र। नवरात्र की नौ रात्रियाँ देवी के नौ रूपों अथवा नवदुर्गाओं से संबद्ध हैं। आइये देवी के नौ रूपों के नामों का अर्थ समझें। देवी के नौ रूप प्रसिद्ध हैं हीं— प्रथमं शैलपुत्रीति...

0

हरतालिका तीज और हिंदू दर्शन!

आज हमारे यहां हरतालिका तीज है। गांव में मां, और यहां दिल्ली में श्रीमती श्वेता देव और मेरे छोटे भाई की पत्नी मीनू देव, अपने अपने पति के लिए व्रत की हुई हैं। मान्यता...

0

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद…

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद… ॐ कुर्वत्रेवेह कर्माणि जिजीविषेच्छतँ समा:। एवं त्वयि नान्यथेतोअस्ति न कर्म लिप्यते नरे ।। ऑनलाइन सत्संग आइए चलें उपनिषदों की यात्रा पर… ऑनलाइन सत्संग, जहाँ वेद समाप्त होते हैं, वहां से उपनिषद...

0

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद श्लोक-2

ऑनलाइन सत्संग, ईशावास्योपनिषद… श्लोक-2 ॐ ईशा वास्यमिद्म सर्वं यत्किंचित जगत्यां जगत् । तेन त्यक्तेन भुंजीथा मा गृधः कस्य स्विद्धनम् ।। ऑनलाइन सत्संग आइए चलें उपनिषदों की यात्रा पर… ऑनलाइन सत्संग, जहाँ वेद समाप्त होते...

0

ऑनलाइन सत्संग, जहाँ वेद समाप्त होते हैं, वहां से उपनिषद शुरू होते हैं।

ऑनलाइन सत्संग, पहला उपनिषद है ईशावास्य उपनिषद, जहाँ वेद समाप्त होते हैं, वहां से उपनिषद शुरू होते हैं इसलिए इन्हें वेदान्त भी कहा जाता है। ॐ पूर्णमद: पूर्णमिदं पूर्णात्पूर्णमुदच्यते । पूर्णस्य पूर्णमादाय पूर्णमेवावशिष्यते ।।...

ताजा खबर