Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: hindutva

0

ज्ञॉनवापी मुद्दे पर जिस इतिहास के रथ पर चढ़ने का प्रयास हो रहा है..वो रथ और उसका वाहक व्यास परिवार ही है

माना की मेरा घर जमींदोज करने में तुम सफल हो गए ! हमारा मन्तव्य बीच में ही लड़खड़ा गया ! तुम्हारे जुल्मों के खिलाफ मैं अकेला हूं, मगर फैसला अभी कुरूक्षेत्र के मैदान में...

0

फांसी की सजा पाए एक स्वतंत्रता सेनानी के पुत्र का पत्र वर्तमान राजनीति हालात पर!

संदीप देव जी नमस्कार मेरा नाम टुनटुन आजाद है और मैं आपके गृह राज्य बिहार पटना से हूं, मैं आपके कार्यक्रम इंडिया स्पीक्स डेली को हमेशा देखता हूं ! मेरे पिता स्वर्गीय श्री कांत...

0

तो लखनऊ में लगी तमाम मूर्तियों में कोई मूर्ति तिलक, तराजू या तलवार का भी प्रतिनिधित्व क्यों नहीं करती

दयानंद पांडेय। कांशीराम कभी अयोध्या में राम मंदिर की जगह शौचालय बनवाना चाहते थे। जो लोग कभी अयोध्या में राम मंदिर की जगह शौचालय , अस्पताल और विद्यालय बनाने की बात करते थे ,...

0

कन्फ्यूज मत होना रे। नेताओ को सबके सामने ऐसे ही बोलना पड़ता है।

बाबा मौर्या। श्री कृष्ण ने भी कई बार ऐसी ही नीति अपनाई थी। कहा कुछ और कहने का अर्थ कुछ और था। जिसे समझने वाले समझ गए। गांधी जी के हिंदुत्व में ऐसी कौन...

0

संघ परिवार: यह कम्युनिस्ट मानसिकता नहीं तो क्या?

शंकर शरण। संघ-परिवार Sangh Parivar में ‘संघ-आयु’ मुहावरा चलता है। कि कोई कितने सालों से संघ में है? ऐसी भावना के विचित्र रूप भी दिखते हैं। पर बहुतेरे भले स्वयंसेवकों के लिए संघ ही...

0

भारत की आत्मा मूलतः सौम्य है।

कमलेश कमल। क्या आपने यह ग़ौर किया है कि अत्यधिक सफल व्यक्ति निर्विवाद रूप से अत्यधिक ऊर्जावान् होते हैं और सौम्य होते हैं? ऊर्जावान् हों, पर शांत-प्रशांत न हों, तो बात बनती नहीं है,...

0

उन्हें हमारे पूर्वजों पर विश्वास है

स्वामी सूर्यदेव जी। हमारे यहां वैदिक वांग्मय में किसी भी मंत्र का तीन तरह से अर्थ लिया जाता है. आधिदैविक-आधिभौतिक-आध्यात्मिक ऋषि मानते हैं कि जो भी ब्रह्मांड में है वह इस पिंड यानी हमारे...

0

आप भी समझें अपने मन को : विश्व में बढ़ते डिप्रेशन का कारण, सुसाइड की घटनाएं तथा सनातन हिन्दू दर्शन में इसका व्यावहारिक समाधान !

आदित्य जैन। वर्तमान में वैश्विक पटल पर युवा वर्ग और प्रौढ़ वर्ग दोनों ही  चिंता , तनाव , क्रोध , बेचैनी आदि से ग्रसित है । काम में मन न लगना , आलस्य में...

0

लंपट वामपंथियों, पंच मक्कारों से निपटने का यौगिक तरीका : कृष्ण नीति की नींव और अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का संदेश!

आदित्य जैन। आज जीवन के प्रत्येक पहलुओं पर पंच मक्कारों ने अपना प्रभाव छोड़ रखा है । यदि कोई युवक – युवती कॉलेज जाते हैं तो ये सबसे पहले इनके शिकार बनते हैं। कहानी...

0

भारत भूमि की असली पहचान – साधना, साहस, सेवा, सत्संग : आइए समझें सनातन के चार शब्द!

आदित्य जैन। भाव – राग – ताल की शरणस्थली भारत की पहचान क्या है ? राजा दुष्यंत और शकुंतला के पुत्र भरत का भारत , चक्रवर्ती सम्राट ऋषभ देव के पुत्र भरत का भारत,...

0

21 वीं सदी के भटके हुए चंद्रशेखर आजादों की गाथा : कहीं मैं भी तो नहीं ?

आदित्य जैन। एक चंद्रशेखर आजाद थे , जिन्होंने अपना सर्वस्व देश को समर्पित कर दिया था और आज 21वीं सदी के युवा हैं , जिन्होंने अपना सर्वस्व अपने स्वार्थ और खासकर सोशल मीडिया की...

0

किसी भी समस्या के समाधान का सनातन मॉडल

आदित्य जैन. मार्क्सवाद , वामपंथ , माओवाद , नारीवाद , आधुनिक उदारवाद , उत्तर आधुनिकतावाद का छलावा कुछ वैसा ही है , जैसे रेगिस्तान में चमकती रेत पर पानी के तालाब का अहसास होना...

0

अब क्या लिखेंगी ज्योति यादव एवं प्रिंट के सम्पादक?

दिल्ली में instagram पर एक ग्रुप का खुलासा हुआ है. पहले यह पता चला कि इस समूह में कुछ लड़के शामिल हैं, और वह दिल्ली के अमीर घरों के लड़के हैं. जैसे ही यह...

ताजा खबर
भारत निर्माण

MORE