Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: History

0

Freemasons: History, facts and myths

Freemasons, known popularly for their white aprons, arcane symbols and secret handshake, are members of the world’s oldest fraternal organization. Despite its longevity, Freemasonry (sometimes known simply by the shortened Masons) has long been...

0

सीताराम गोयल विचार श्रृंखला! #3

इस तथ्य में कोई संदेह नहीं कि इस्लाम का अल्लाह “झूठे देवताओं” तथा उन स्थानों को नष्ट करने की अनुमति देता है तथा इसे उचित ठहराता है जहां उनकी पूजा की जाती है। पैगंबर...

0

सीताराम गोयल विचार श्रृंखला! #2

हमारे मार्क्सवादी प्रोफेसर्स और सेक्युलरिज्म के अन्य ठेकेदार एक बड़ी भूल कर रहे होते है जब वे इस्लाम के गुनाहों के बचाव में किसी न किसी आर्थिक या/और राजकीय कारण का आविष्कार कर लेते...

0

भारत के 13 बड़े संग्राम, जिनसे बदल गया हिन्दुस्थान

अनिरुद्ध जोशी ‘शतायु’ प्राचीन जम्बूद्वीप से लेकर आज का हिन्दुस्तान संपूर्ण क्षेत्र हिन्दुस्थान था अर्थात हिन्दुओं का स्थान। इस क्षेत्र में भारतवर्ष के भारतीयों ने कई बड़े युद्ध और संघर्ष झेले हैं। हिन्दू इन...

0

ताजमहल या तेजोमहालय? क्या है रहस्य?

इतिहास में पढ़ाया जाता है कि ताजमहल का निर्माण कार्य 1632 में शुरू और लगभग 1653 में इसका निर्माण कार्य पूर्ण हुआ। अब सोचिए कि जब मुमताज का इंतकाल 1631 में हुआ तो फिर...

0

इतिहास में ‘सरकारी हिंदुओं’ के कारण ही हारते रहे हम!

यवन-तुर्क-मुगल से लेकर आधुनिक लोकतंत्र तक, सबसे पहले बिकने और ‘धर्म’ छोड़ने वाले ‘सरकारी हिंदू’ ही रहे हैं! इतिहास देखिए! अधिकांश लड़ाई में तत्कालीन समाज के ‘सरकारी हिंदू’ (मनसब, राय बहादुर, रियासत, खबरी, एजेंट,...

0

वीरांगनाओं के जौहर पर अबुल फजल क्या लिखता है?

डॉ ओमेंद्र रतनु। अबुल फ़ज़्ल जौहर के लिए लिखता है,” अकबर ने शुजात खां व भगवान दास को प्रसन्नतापूर्वक बताया कि उसने एक महत्वपूर्ण व्यक्ति को मार डाला है। एक घंटे के बाद जब्बार...

0

क़िस्सा पड़रौना के राजा के राजा बनने का और इस बहाने कुछ और राजाओं की पड़ताल

दयानंद पांडेय। हमारे गोरखपुर के पास एक जगह है पड़रौना । पहले देवरिया ज़िला में था , अब कुशी नगर ज़िला है । कुशी नगर का ज़िला मुख्यालय इसी पड़रौना में है। एक समय...

0

शाहजहाँ: जिसने अपनी हवस के लिए बेटी का नहीं होने दिया निकाह, वामपंथियों ने बना दिया ‘महान’

आतंकी संगठन आईएसआईएसआई के बारे में जब हम पढ़ते हैं कि वह अल्पसंख्यक यजीदी महिलाओं को यौन गुलाम बना रहा है तो हमें आश्चर्य होता है, लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि दिल्ली सल्तनत...

0

द ग्रेट गेम: जब ब्रिटेन को ये डर सताने लगा कि रूस उससे भारत न छीन ले

यह उन्नीसवीं सदी के शुरुआत की बात है. युवा ब्रितानी अधिकारियों की एक टीम ख़ुफ़िया मिशन के तहत सिंधु नदी में पानी के बहाव, उसकी गहराई और उसमें शिपिंग की संभावनाओं के बारे में...

0

इतिहास में मिलावट: इरफान हबीब, रोमिला थापर के नाम पत्र

मध्य प्रदेश के राज्य सूचना आयुक्त विजय मनोहर तिवारी ने वामपंथी इतिहासकार इरफान हबीब और रोमिला थापर को एक चिट्ठी लिखी है। इसमें मध्यकाल के मुस्लिम इतिहास को लेकर की गई मिलावट और मनमानी...

0

पहले किस नाम से जाना जाता था अलीगढ? जानिए अलीगढ का पुराना इतिहास!

भाजपा अलीगढ़ का नाम ‘हरिदेश’ करने की तैयारी में है. आपको बता दें कि अलीगढ़ को 18 वीं सदी में कोल या कोइल नाम से जाना जाता था. इस स्थान का नाम कोइल इसलिए...

0

मनोज मुन्तशिर ने जम कर धोया झूठे देवदत्त पट्टनायक को

Sonali Misra. हिन्दू देवी देवताओं के सहारे प्रसिद्धि पाने वाले और फिर हिन्दू देवी देवताओं को ही झूठ ठहराने वाले देवदत्त पट्टनायक को कल गीतकार मनोज मुन्तशिर ने जम कर धोया। मनोज मुन्तशिर इन...

0

अहीरों ने की थी तुलसीदास के रामचरित मानस की मार्केटिंग !

अहीरों के इतिहास का इतना रसपूर्ण वर्णन वरिष्ठ पत्रकार हेमंत शर्मा जी के अतिरिक्त कोई लिख भी नहीं सकता है! दूध के व्यवसाय से जुड़े गोपालक अहीरों का ऋग्वेद-पुराण से लेकर आज तक के...

0

पुराणों की प्राचीनता पर एक शोधपूर्ण नजर!

पुराणों पर मध्यकाल से ही विवाद होता आया है। अंग्रेज काल में अंग्रेजों ने इसे अप्रमाणिक ग्रंथ कहना शुरू किया था फिर उनका अनुसारण हमारे यहां के तथाकथित इतिहासकारों ने भी किया। कहते हैं...

0

पुराण श्रृंखला-2 पुराणों का स्पष्ट उल्लेख अथर्ववेद के मंत्रों में है।

पुराण प्राचीनता में वेद के समकक्ष हैं। अज्ञानता और अंग्रेजों के प्रभाव के कारण कुछ वर्ग इसे 2000 साल पुराना बता देते हैं, जबकि सच यह है कि शुंग और गुप्त काल में अन्य...

3

आज से पुराणों को लेकर छोटे-छोटे पोस्ट की एक श्रृंखला आरंभ कर रहा हूं। पुराण श्रृंखला-1

पुराणों में देव कथाओं के साथ हमारा इतिहास भी वर्णित है, जिसके कारण इसे नष्ट कर दिया गया ताकि हिंदुओं और हिंदुस्तान पर शासन करना आसान हो जाए। बिना इतिहास के समाज की क्या...

1

इंग्लैंड में पहला स्कूल 1811 में खुला उस समय भारत में 732000 गुरुकुल थे । खोजिए हमारे गुरुकुल कैसे बन्द हुए?

गुरुकुल कैसे खत्म हो गये? आपको पहले ये बता दे कि हमारे सनातन संस्कृति परम्परा के गुरुकुल मे क्या क्या पढाई होती थी ! आर्यावर्त के गुरुकुल के बाद ऋषिकुल में क्या पढ़ाई होती...

2

प्राचीन भारतीय शिक्षा-दर्शन!

कमलेश कमल। हिंदू धर्म सत्य और ऋत का सहज-शाश्वत और सुमिलित गठबंधन है, जो स्वभाव से ही वर्तमानजीवी और कल्याणधर्मी है। ऋत और सत्य का यह गठबंधन दर्शन की रज्जू से होता है, जिसका...

1

अरब-इजरायल संघर्ष का इतिहास और इजरायल की जिजीविषा!

सुधीर कुमार पाण्डेय। एक गलती जो श्राप बन गई और दो हजार सालों से यहूदियों के कत्लेआम की वजह बनी रही अगर आज इजराइल और फिलिस्तीन के बीच जारी संघर्ष को समझना है तो...

ताजा खबर