Tagged: India

0

दैनिक भास्कर का सूर्य अस्त होने जा रहा है!

देश के बड़े अख़बार दैनिक भास्कर के दिवंगत ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक की आत्महत्या के मामले में मंगलवार को बहस के दौरान न्यायाधीश ने ऐसी टिप्पणी की, जो इस अख़बार विश्वसनीयता पर कड़ा प्रहार...

0

पाकिस्तान से छूटकर आया हामिद एक अपराधी था, फिर उसका महिमामंडन क्यों?

सन 2014 के बाद से भारत में एक बात अच्छी हुई है। देश की जनता को भारतीय मीडिया का डीएनए साफ़-साफ़ नज़र आने लगा है। भारतीय मीडिया का एक धड़ा या पौना कह लें,...

0

पहले दिन की बुकिंग में रिलीज से पहले ही ‘एक्वामैन’ ने दो सौ करोड़ कमाए

‘पानी’ को विषय बनाकर अब तक बहुत सी फ़िल्में बनाई गई हैं। निर्माता-निर्देशक ‘पानी’ में बॉक्स ऑफिस पर अनंत संभावनाएं देखते हैं। अब तक इस विषय पर सैकड़ों फिल्मों का निर्माण हो चुका है।...

0

मोदी सरकार आने के बाद दुनिया की चौथी बड़ी मिलिट्री पावर बना भारत!

आज भारत का डंका पूरी दुनिया में सिर चढ़कर बज रहा है, वह चाहे अर्थव्यवस्था का क्षेत्र हो विदेश नीति का चाहे सैन्य क्षमता का। जब से मोदी सरकार सत्ता में आई है तब...

0

गुलामी के चाबुक और युद्ध के नश्तर सहे तब जाकर बना आज का समर्थ भारत!

1962 का साल भारत भूमि की देह पर बड़ी सी खरोंचे छोड़ गया था। पड़ोसी ने पीछे से वार किया। देश का तत्कालीन प्रधानमंत्री चीन की मक्कारी भांपने में नाकाम रहा। नाकामी ऐसी कि...

0

यदि नरेंद्र मोदी 2019 में नहीं चुने गये तो भारत की सारी प्रगति रुक जाएगी: विदेशी विशेषज्ञ

विदेशी विशेषज्ञों का कहना है कि अगर इस बार के लोकसभा चुनाव में मोदी दोबारा जीतकर सत्ता में नहीं आते तो भारत की प्रगति रुक जाएगी। कहने का मतलब साफ है कि भारत के...

0

आप रोते रहें, देश ‘बुलेट ट्रेन’ की तरह बढ़ता जाएगा…

मोदी जी बुलेट ट्रेन क्यों ला रहे हैं ? इसकी जरूरत ही नहीं है अभी क्योंकि अभी देश में गरीबी है, बेरोजगारी है, सड़कें-बिजली-पानी की समस्या है, हमारी वर्तमान रेल ही ठीक से नहीं...

0

यूरोपीय मन से एक ‘राष्ट्र’ के रूप में भारत को कभी नहीं समझा जा सकता! भारत एक राष्ट्र था, है, और सदा रहेगा!

आप सब एनडीटीवी देखते हैं। आप देखते होंगे कि एनडीटीवी के प्राइम टाइम एंकर रवीश कुमार बहुत चिढ़, कुढ़न और व्यंग्य से राष्ट्र और राष्ट्रवादियों पर हमला करते हैं! फ्रांस में यदि एक राष्ट्रवादी...

0

राम,कृष्ण और शिव भारत में पूर्णता के तीन महान स्वप्न है- राम मनोहर लोहिया

दुनिया के देशो में हिंदुस्तान किंवदंतियों के मामले में सबसे धनी देश है। इतिहास के बड़े व्यक्तित्वों के बारे में चाहे वे बुद्ध हो या अशोक, देश के चौथाई से अधिक लोग अनभिज्ञ है।...

मुस्लिम-दलित गठबंधन के जरिये हिंदुओं को तोड़ने तथा हिन्दुस्तान को गजवा-ए-हिन्द बनाने की साजिश !

विवेक सक्सेना,रिपोर्टर डायरी,नया इंडिया । गजवा-ए-हिन्द की चर्चा इन दिनों जोरों पर है। कुछ इस्लामी धर्मगुरुओं का दावा है कि पैगम्बर-ए-इस्लाम ने यह भविष्यवाणी की थी कि 21 वीं शताब्दी में भारत का संपूर्ण...

एनएसजी! चीन कूटनीति की लड़ाई जीता जरूर है किन्तु भारत अभी हारा कहाँ है?

पिछले कई दिनों से चली आ रही अटकलों पर चीन की अस्वीकृति ने भारत की एनएसजी में सदस्यता के सफर को विराम दिया है! यहाँ विराम इसलिए लिख रहा हूँ क्योंकि खेल अभी शुरू...

ताजा खबर