Tagged: Indian education system

0

वैदिक विमान- जब दुनिया ठीक से नेकर सिलना नहीं जानती थी, भारतीय ग्रंथों में सैंकडो बार वायु-मार्ग और विमान शब्द का हुआ था प्रयोग!

वैमानिक शास्त्र में मेरी जिज्ञासा थी। इसका कारण पुष्पक विमान नहीं बल्कि वामपंथी खेमे के पत्र-पत्रिकाओं व वेबसाईट पर प्रकाशित वे आलेख थे जिनमें से कुछ के शीर्षक हैं “चालीस साल पहले ही खुल...

0

भारत की शिक्षा व्यवस्था और मैकाले का भूत!

भारत की शिक्षा व्यवस्था गुरुकुल परम्पराओं से निकल कर वातानकूल कक्षाओं तक पहुँच गयी है। शिक्षा ग्रहण कर प्रसारित करने की बजाय केवल जीविकोपार्जन के लिए जीवन के शुरुवाती 20-25 साल खपाने की व्यवस्था...

0

अंग्रेजों ने क्यों और कैसे किया भारत की गुरुकुल प्रणाली को नष्ट?

इतिहास के पन्नों से : अंग्रेजों ने गुरुकुल परम्परा को तबाह किया! “भारत से ही हमारी सभ्यता की उत्पत्ति हुई थी। संस्कृत सभी यूरोपियन भाषाओं की माँ है। हमारा समूचा दर्शन संस्कृत से उपजा...

0

क्रिश्चियन स्कूल आपके बच्चे के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार करते हैं और आप ‘सेंट’ ‘होली’ जैसे नाम वाले स्कूल में पढ़ाने के लिए बेचैन रहते हैं!

कोई आपको यदि यह कहे कि एक स्कूल ने कुछ छात्रों को स्कूल से सिर्फ इसलिए निकाल दिया क्योंकि उन्होंने अपने माथे पर विभूति लगाकर स्कूल आने का घोर अपराध किया! आप लोग जरूर...

0

विषैले राजनीतिक विचारों के प्रचार में चलाया जाता रहा है उच्च शिक्षा के लिए दिया जाने वाला बजट !

मानव संसाधन मंत्री ने बताया है कि नई शिक्षा नीति बनाने के लिए नई समिति बनाई जाएगी, लेकिन नई नीति बनाने के लिए यह समीक्षा जरूरी है कि पिछले शिक्षा दस्तावेजों, सिफारिशों का क्या...

0

प्रकाश जावड़ेकर साहब सुन रहे हैं, केरल में मासूमों का मस्तिष्क परिवर्तन किया जा रहा है!

डॉ.आलम । केरल के स्कुलो में नर्सरी क्लास में पढ़ाया जाता है, की एक हिन्दू था जो बेहद गरीब था, वो कई मन्दिर गया लेकिन हिन्दू भगवान ने उसकी फरियाद नही सुनी! फिर वो...

0

NCERT की 12वीं कक्षा की किताब, देश के भविष्‍य में सांप्रदायिकता का ‘जहर’ !

रवीन्द्र पनमार। देश के बच्चों के दिमाग में किताब के जरिये ‘धर्म’ के नाम पर धीमा जहर घोला जा रहा है। ये सब कुछ पिछले 10 वर्षों से हो रहा है लेकिन इस ओर...

0

शिक्षा प्रणाली में कांग्रेस खेलती रही तुष्टिकरण का खेल!

पी आर बिशनोई। दरअसल बात शिक्षा के बारे में है जो किसी देश के सभी मूल्यों की नींव होती है चाहे वो सांस्कृतिक, नैतिक , धार्मिक, सामाजिक, आर्थिक व राजनैतिक हो। और किसी देश...

ताजा खबर
Popular Now