Tagged: Left-wing Media

0

वाशिंगटन पोस्ट ने भारत पर सांप्रदायिक होने का तथ्यहीन आरोप लगाते हुए हिन्दुओं को कहा रक्तपिपासु!

वाशिंगटन पोस्ट के वामी पत्रकार बगैर तथ्य भारत पर सांप्रदायिकता के दाग लगाते रहे हैं! वाशिंगटन पोस्ट के एक पत्रकार एनी गोवेन ने आधी-अधूरी जानकारी और संदिग्ध तथ्य के आधार पर भारत को बदनाम...

0

तो दिल्ली के ‘शहरी नक्सल पत्रकारों’ के इशारे पर दंतेवाड़ा के माओवादियों ने वीडियो पत्रकार अच्युत्यानंद की हत्या पर मांगी माफी ?

कमाल देखिए देश भर में शोक सभा औऱ विरोध सभा के आयोजन के बाद बेशर्म राक्षसी प्रवृति वाले नक्सली अब कह रहे हैं कि पत्रकार की हत्या गलती से हो गई! संदेश साफ है...

0

दांतेवाड़ा के नक्सल हमले में जान गंवाने वाले DD News के जर्नलिस्ट को श्रद्धांजलि देने नही आए वामी पत्रकार!

मानवता के पक्षधर होने का डंका पीटने वाले वामी पत्रकार इतने निष्ठुर होते हैं कि श्रद्धांजलि देने में भी उसके विचार आड़े आ जाते हैं। यह जीता जागता सबूत इंडिया गेट पर उस समय...

0

घर से चल रहे सेक्स रैकेट का पता नहीं, नक्सलियों के निर्दोष होने का बांट रहे हैं प्रमाण पत्र! ऐसे हैं हमारे बकैत पांडे!

भीमा कोरेगांव हिंसा से जुड़े मामलों में देश के कई हिस्सों में छापेमारी के बाद पांच शहरी नक्सलियों-गौतम नवलखा, वरवर राव, सुधा भारद्वाज, अरुण फरेरा और वरनोन गोंजाल्विस को गिरफ्तार किया गया। इनकी गिरफ्तारी...

0

वाह रे वामी मीडिया, यूएई ने केरल के लिए अभी तक आधिकारिक रूप से आर्थिक मदद की घोषणा की भी नहीं और तुम मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए 700 करोड़ लौटवा भी दिए!

वामी मीडिया हो, कांग्रेस पार्टी हो या कम्युनिस्ट पार्टी, फेक न्यूज फैलाने में उनका सानी नहीं है। UAE ने अभी तक केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए आर्थिक मदद की घोषणा तक नहीं की है,...

0

जब महाराष्ट्र की शिंदे सरकार ने शिवाजी पर लिखी किताब को बैन कर अभिव्यक्ति का गला घोंट दिया था।

मोदी सरकार पर अभिव्यक्ति की आजादी खत्म करने और असहिष्णुता को बढ़ावा देने जैसे आरोप लगाने वाले सेक्युलर बुद्धिजीवियों और पत्रकारों को शर्म तक नहीं आती। शर्म आएगी कैसे, क्योंकि वास्तविक इतिहास से उनका...

0

माओवादी पोडियम पांडा ने किया शहरी नक्सलियों के नाम का खुलासा! कई प्रोफेसरों और पत्रकारों पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी! देश में फिर शुरु हो सकता है असहिष्णुता का नाटक!

साल 2017 के अप्रैल में 25 सीआरपीएफ जवानो की हत्या में संलिप्त पोडियम पांडा ने उसी साल 9 मई को पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। पांडा ने पुलिस के सामने उन सारे...

0

मोदी सरकार के खिलाफ नफरत से भरी मेनस्ट्रीम मीडिया गाली गलौज पर उतारू, एक चैनल ने किया स्मृति ईरानी के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग!

क्या पत्रकार खासकर किसी चैनल विशेष के एंकर होने का मतलब अपना आचार-विचार भूल जाना होता है। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर देश के राष्ट्रपति और केंद्रीय मंत्रियों को गाली देने का लाइसेंस...

0

कठुआ रेप केस: हिंदुओं के प्रति कांग्रेस, वामपंथी और मीडिया की साजिश को पहचानिए!

इस साल की जनवरी में सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद आठ साल की बच्ची की हत्या करने की जितनी निंदा की जाए कम है। घटना को अंजाम देने वालों को कठोरतम सजा मिलनी चाहिए।...

0

EXPOSED फेक न्यूज STORIES: समाज में नफरत फैलाने वाला एक नाम- वामपंथी अपूर्वानंद। THE WIRE-TOP FAKE NEWS MAKER!

वामपंथियों और सेकुलवादियों को सामाजिक न्याय का बोध होता तो इस प्रकार देश में नफरत फैलाने का कुचक्र नहीं रचते । झूठ आधारित कहानियों का संजाल नहीं फैलाते। आज सांप्रदायिक हिंसा की एकतरफा झूठी...

0

एक मज़हबी पत्रकार और कासगंज की घटना पर उसकी सोच!

यह एक पत्रकार है, लेकिन बारीकी से देखिए तो सिर्फ मजहबी इनसान है। इसका नरेशन देखिए! एक झटके में हिंदुओं को भाई कहते हुए #कासगंज का मुख्य दंगाई और नफरत का सौदागर घोषित कर...

0

विदेशी फंड पर पल रहे NGOs की धुन पर नाचने वाली फरेबी मीडिया ने सोहराबुद्दीन और इशरत के लिए बुना था हमदर्दी का जाल!

वो सन 2003 की हलकी हलकी ठंढ वाली रात थी। अमर उजाला अखबार के दिल्ली ब्यूरो में देर रात की रिपोर्टिंग की जिम्मेदारी मेरी थी। मैं दफ्तर में अकेला रिपोर्टर था (अखबार में ऐसा...

0

रवीश! निष्पक्ष बहस करने की NDTV की हैसियत नहीं और बात करते हो आमने-सामने कैमरा लाइव की? बहस करोगे, है हिम्मत?

एनडीटीवी पर सीबीआई छापे के विरोध में उसके बकैत एंकर रवीश कुमार ने अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए फिर से लफ्फाजी कर शहीद बनने की कोशिश की है! वह NDTV पर सवाल उठाने वाले...

0

नक्सलवाद की जड़ में आखिर कौन? छत्तीसगढ़ के जंगलों से नक्सलियों का खात्मा उसी दिन होगा, जब देश के संस्थानों और पत्रकारिता से वामपंथियों को मिटाया जाएगा!

मन उदास है। दांतेबाड़ा, सुकमा आदि के जंगलों में नक्सलियों द्वारा हमारे जवानों को शहीद किया जा रहा है और चाह कर भी सरकार उन्हें जड़ से नष्ट नहीं कर पा रही है। देखा...

0

मीडिया के फर्जीवाड़े के कारण मर रहे हैं जवान, आखिर कब लगेगी मीडिया के झूठ पर रोक?

आप सभी को याद होगा, मैंने बहुत पहले कई लेख लिखा था कि किस तरह से देश, मोदी सरकार, भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए 2014 के बाद बड़े-बड़े लेफ्ट जर्नलिस्ट अपना वेब...

0

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के सार्थक प्रयासों को अपने कुतर्कों से बदनाम करते रहे सीपीआई के महासचिव पी सी जोशी !

आज नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती है। पुस्तक ‘कहानी कम्युनिस्टों की’ में नेताजी पर एक लंबा खंड है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) नेताजी से नफरत करती थी और उनके खिलाफ घृणा का प्रचार करती...

0

जेएनयू के बाद वामपंथियों ने IIMC को बनाया अपनी अराजकता का शिकार!

भारत जैसे देश में बड़ा आसान हो जाता है स्वयं को असहाय और पीड़ित दिखाना यदि आप दलित कार्ड खेलने में माहिर हैं अथवा आप वामपंथी हैं, समाज में द्वन्द फैला कर अपना उल्लू...

0

बार-बार लुटियन पत्रकारों का PM नरेंद्र मोदी के प्रति नफरत, इस बात का सबूत है कि वो 21 वीं सदी में भी गांधी परिवार को राजपरिवार और देश को उनकी प्रजा मानते हैं!

अभी हाल ही में राजदीप सरदेसाई ने इंडिया टुडे टीवी के लिए सोनिया गांधी का एक साक्षात्कार लिया। सरकी हुई कमर, चेहरे पर गुलामों-सा भाव, सवालों में हद दर्जे की चापलूसी और जबरदस्ती की...

कश्मीरी छात्रों ने दिखाया सेक्युलर गैंग और वामपंथी मीडिया को आईना !

कश्मीर में पत्थरबाजी कर रहे एक वर्ग से बिलकुल विपरीत पुणे में शिक्षा प्राप्त कर रहे कश्मीरी छात्रों की सोच एकदम भिन्न है, जिनकी सोच बिलकुल एक आम हिंदुस्तानी जैसी है जो भारत से...

तो क्या भारतीय मीडिया ने एजेंडे के तहत भारत को कश्मीर से अलग करने की साजिश रची ?

Pushker Awasthi. ‘भारत में कश्मीर जल रहा है’,’लगातार 50वें दिन कश्मीर में कर्फ्यू’,’मोदी की सरकार की कश्मीर की नीति असफल’,’केंद्र की सरकार ने कश्मीरियों को जोड़ने की जगह तोड़ दिया है,’कश्मीर का जन जन...

ताजा खबर