Watch ISD Live Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: medieval india

0

एक महान भारतीय योद्धा जिसके कारण पूर्वोत्तर भारत की तरफ आंख उठा कर भी नहीं देख पाया औरंगजेब!

आपको यह तो ज्ञात होगा कि एनडीए (NDA) में जो बेस्ट कैडेट होता है, उसको एक गोल्ड मैडल दिया जाता हैं। लेकिन क्या आपको यह ज्ञात हैं कि उस मैडल का नाम ‘लचित बोरफुकन’...

0

कश्मीर का अतीत! कोटा रानी जिसने इसलामी आक्रमणकारियों से कश्मीर को बचाने के लिए मरते दम तक प्रयास किया!

कश्मीर इन दिनों विवादों में है। रहस्य का आवरण ओढ़े कई कहानियां आज कश्मीर के बहाने हम सब के सामने आ रही हैं। कश्मीर का इतिहास रक्तरंजित के साथ ही इसलामी आक्रमण का वह...

0

नालंदा विश्वविद्यालय जैसी धरोहर को नष्ट करने वाले बख्तियार खिलजी के नाम पर शहर का नाम क्यों और कब तक?

बख्तियार खिलजी, जिसने नालंदा विश्वविद्यालय को मिटा दिया था, बिहार में उसके नाम पर आज भी एक शहर का नाम जैसे इतिहास को चिढ़ा रहा है! अपने एक हमले में बख्तियार खिलजी ने नालंदा...

2

जिस देश में नारियां स्वयं अपने पति का चयन करती थी, वहां बलात्कार जैसा घृणित कार्य आखिर किस मानसिकता के लोग लेकर आए?

रामायण और महाभारत में युद्ध के बावजूद किसी ने स्त्रियों को हाथ नहीं लगाया! वो आखिर कौन लोग हैं जो भारत में बलात्कार ले कर आये! आइये जानते हैं इसका क्रूर इतिहास! आखिर भारत...

0

वामपंथी इतिहासकारों ने मध्यकालीन भारत के रक्तरंजित इतिहास को अपनी ‘लाल’ स्याही से ढंक दिया!

भारत उसकी संस्कृति और अकूत धन सम्पदा ने वर्षों से विदेशी आक्रांतों को भारत में आक्रमण के लिए प्रेरित किया। यूनान, तुर्क, अरब से आये विदेशी हमलावरों ने न केवल भारत की संस्कृति, वैभव...

0

तैमूर लंग क्रुरता में दूसरा चंगेज़ ख़ाँ बनना चाहता था!

जब से सैफ अली खान और करीना कपूर खान ने अपने नवजात शिशु का नाम तैमूर अली खान रखा और उसकी सार्वजनिक घोषणा की है, तब से सोशल मीडिया पर लगातार इसका विरोध हो...

गौ-रक्षा के लिए, संत कबीर ने शादी से भी कर दिया था इंकार !

जनमसाखी भगत कबीर जी की मूल पंजाबी रचयिता : सोढी मनोहरदास मेहरबान रचनाकाल : १६६७ विक्रमी, साखी नं• ४ का अनुवाद राजेन्द्र सिंह(हिन्दी अनुवादक) : एक दिन=समय गोसाईं कबीर पूरब की धरती नगर बनारस...

मुस्लिम सुल्तान सिकन्दर लोदी हिंदुओं के पगड़ी बांधने पर भी लगाता था कर

Rajinder Singh. कवि और इतिहासकार ज्ञानी ज्ञान सिंह अपनी प्रसिद्घ रचना ‘तवारीख़ गुरू ख़ालसा’ (१९४८-१९४९ विक्रमी) में बताते हैं कि गुरु नानकदेव के समकालीन मुस्लिम शासक सुल्तान सिकन्दर लोधी के शासनकाल (१५४६-१५७४ विक्रमी =...

0

इरफान हबीब, रोमिला थापर, बिपिन चंद्रा, एस. गोपाल जैसे वामपंथी इतिहासकारों ने मुस्लिम बुद्धजीवियों का ब्रेन-वाश किया: डॉ के के मोहम्मद

देश के जाने-माने पुरातत्वशास्त्री और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग में उत्तर क्षेत्र के पूर्व निदेशक डॉ. केके मोहम्मद ने दावा किया है अयोध्या में 1976-77 में हुई खुदाई के दौरान मंदिर होने के अवशेष...

जिन्‍हें आप ‘चमार’ जाति से संबोधित करते हैं, दरअसल वह चंवरवंश के वीर क्षत्रिए थे

आज जिन्‍हें आप ‘चमार’ जाति से संबोधित करते हैं, उनके साथ छूआछूत का व्‍यवहार करते हैं, दरअसल वह वीर चंवरवंश के क्षत्रिए हैं। ‘हिंदू चर्ममारी जाति: एक स्‍वर्णिम गौरवशाली राजवंशीय इतिहास’ पुस्‍तक के लेखक...

महाराणा प्रताप और अकबर: अकबर ने जिसे 10 साल में जीता, महाराणा ने उससे एक साल में छीन लिया

मुगल बादशाह अकबर ने 10 वर्ष लगाकर मेवाड़ के जिन क्षेत्रों को विजित किया था, महाराणा प्रताप ने अपने पुत्र अमर सिंह के साथ मिलकर केवल एक वर्ष में न केवल उन क्षेत्रों को...

भारत में तलवार के बल पर इस्‍लाम का धर्मांतरण अभियान और वामपंथी इतिहासकारों का झूठ

देश की राजधानी दिल्‍ली के वीआईपी इलाके में जिस तुगलक वंश के सुल्‍तान फिरोजशाह तुगलक के नाम पर आज भी सड़क है, वह हिंदुओं के प्रति इतना क्रूर था कि इस्‍लाम न अपनाने पर...

0

मुगल बादशाह औरंगजेब इस देश का पहला बादशाह था, जिसने दस्‍तावेजी रूप से भारत का विभाजन किया!

औरंगजेब पर लगतार लिखने और उसके क्रूर करतूतों को एक विशेषांक पत्रिका निकाल कर जन-जन तक पहुंचाने की मुहिम क्‍या मैंने छेड़ी, मेरे कई मुसलमान मित्र मुझसे नाराज हैं। कुछ इन बॉक्‍स में तो...

ताजा खबर