Watch ISD Live Now   Listen to ISD Podcast

Tagged: Prashant Pole

0

उदयपुर का ‘प्रताप गौरव केंद्र’

‘प्रशांत पोळ उदयपुर झीलों की नगरी हैं. पर्यटन की नगरी हैं. शान-शौकत, ऐशो-आराम की नगरी हैं. फाइव्ह स्टार, सेवन स्टार हाॅटेलों का यह शहर हैं. डेस्टीनेशन वेडिंग का स्थान हैं. बाॅलीवुड के कलाकारों के...

0

पहचान हिंदुत्व की / भाग – २

प्रशांत पोळ पहचान हिंदुत्व की / भाग – १ इस लिंक से पढ़ा जा सकता हैं रविवार, दिनांक १७ अगस्त २०१७. गणेशोत्सव का तीसरा दिन है. स्पेन के सुदूर दक्षिणी भाग में, मोरक्को की...

0

पहचान हिंदुत्व की..! / भाग – १

प्रशांत पोळ लगभग बीस-बाईस वर्ष पूर्व की घटना है. मेरा अमेरिका का प्रवास कुछ ज्यादा होता था, उन दिनों की. अमेरिका प्रवास के दौरान मैं हमेशा शनिवार एवं रविवार को, वहां आसपास स्थित रा....

0

अयोध्या का दीप पर्व !

प्रशांत पोळ यह अद्भुत हैं, अतुलनीय हैं, अकल्पनीय हैं.और शायद अविश्वसनीय भी लग रहा हैं..!अयोध्या मे,अतिभव्य दीपोत्सव मनाया जा रहा हैं.स्वतः प्रधानमंत्री,सरयू के तट पर,मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम जी कीआरती उतार रहे हैं…श्रीराम मंदिर...

0

सन 1872 से आज तक जबलपुर का दुर्गोत्सव

प्रशांत पोळ जबलपुर का दुर्गोत्सव यह अपने आप मे अनुठा हैं. पूरे देश मे रामलीला, दुर्गोत्सव और दशहरा जुलूस का अद्भुत और भव्य संगम शायद अकेले जबलपुर मे होता हैं. भारत मे १८५७ का...

0

‘विभाजन की विभीषिका स्मृति दिवस’ विशेष: क्या देश इस बात को नकार सकता है कि आज भारत में हजारों विभाजनकारी जिन्ना पैदा हो चुके हैं?”

14 अगस्त 2022, ‘विभाजन की विभीषका स्मृति दिवस’ और कुछ लोग 14 अगस्त को ‘अखंड भारत दिवस’ के रूप में भी मनाएंगे। 14 अगस्त 2022 की सुबह हिंदी समाचार पत्र ‘अमर उजाला’ के ऑनलाइन...

0

विभाजन की चुभन भाग-4

विभाजन की चुभन श्रंखला का यह चौथा और अंतिम भाग है। पाठक पिछले 3 भाग इस लिंक से पढ़ सकते हैं। खंडित भारत को पुनः अखंड बनाएंगे.. 15 अगस्त 1947. खंडित भारत का स्वतंत्रता...

0

विभाजन की चुभन-भाग 3

विभाजन की चुभन श्रंखला का यह तीसरा भाग है। पाठक पिछले 2 भाग इस लिंक से पढ़ सकते हैं। … और कांग्रेस ने विभाजन स्वीकारा ! प्रशांत पोळ अपने देश में चालीस का दशक...

0

विभाजन की चुभन-भाग 2

प्रशांत पोळ यह विभाजन की चुभन लेख श्रृंखला का भाग 2 है। पाठक इस श्रृंखला का भाग-1 यहाँ पढ़ सकते हैं। ‘डायरेक्ट एक्शन’ का डर…! हमारे देश में जब 1857 का स्वातंत्र्य युध्द समाप्त...

0

विभाजन की चुभन-भाग 1: प्रशांत पोळ

यह लेख सुप्रसिद्ध लेखक श्रीमान प्रशांत पोळ जी की अनुमति से प्रकाशित किया गया है। विभाजन टल सकता था..! ‘और 15 अगस्त 1947 को हमारा देश बट गया..!’ इस वाक्य के साथ कहानी का...

ताजा खबर