Tagged: punjab and haryana high court

0

200 से 250 परिवारों के चंगुल में कैद है भारतीय न्यायपालिका!

देश की न्यायपालिका की शीर्ष संस्थान यानि सुप्रीम कोर्ट से लेकर लोअर कोर्ट तक ढाई से तीन सौ परिवारों की ड्योढी बने हुए हैं। यह बात अब खास से लेकर आम तक आम हो...

0

तो क्या! कांग्रेस द्वारा इस्तेमाल किए जाने के बाद जनरल बाजबा से गलबहियां करने वाले सिद्धू अब जेल जाएंगे….

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल बाजबा से गलबहियां क्या नवजोत सिंह सिद्धू पर इस कदर भारी पड़ने वाला है कि तीस साल पुराने रोड रेज के जिस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें महज...

0

जुनैद खान की हत्या में अदालत ने माना कि विवाद सीट को लेकर था। इसे बीफ विवाद बनाने वाले राजदीप, सागरिका, रवीश आदि ने अभी तक आपको बताया क्या?

जुनैद खान की हत्या के मामले में आरोपियों को पंजाब और हरियाणा कोर्ट द्वारा दी गई जमानत और टिप्पणी बेहद अहम है। कोर्ट ने माना है कि जुनैद खान की हत्या सीट को लेकर...

0

दलीप झा ऐसा कोई भी सबूत कोर्ट में नहीं रख पाया जिससे यह सिद्ध हो सके की वो आशुतोष महाराज का बेटा है।

आशुतोष महाराज मामले में आज पंजाब सरकार के नए मुख्य अधिवक्ता (ADVOCATEGENERAL)अतुल नंदा ने पंजाब हरयाणा हाई कोर्ट में सरकार के पक्ष को रखा। उन्होंने कहा की इस मामले में को हस्तक्षेप करने का...

0

आशुतोष महाराज प्रकरण में पंजाब हाई कोर्ट ने कहा; ‘हिन्दू धर्मं में समाधि एक मान्य सिद्धान्त हैं और इसे कोई भी नकार नहीं रहा है।’

आशुतोष महाराज मामले में आज अनुयायियों की ओर से अपना पक्ष रखा गया। अनुयायियों की तरफ से खड़े हुए सीनियर अधिवक्ता सुनील चड्ढा ने कोर्ट में समाधि के विषय को समझाया। इस पर जस्टिस...

0

संवैधानिक है आशुतोष महाराज के अनुयायियों का अधिकार !

आशुतोष महाराज के केस में आज लम्बी सुनवाई चली। सुनवाई के आरम्भ में ही कोर्ट ने तथाकथित बेटे पर टिपण्णी करते हुए कहा की बहुत से लोग धन और संम्पत्ति के लालच में बहुत...

0

‘आशुतोष महाराज के अनुयायियों को उनके धार्मिक स्वतंत्रता के संवैधानिक अधिकारों से वंचित नहीं किया जा सकता!’

आशुतोष महाराज के मामले में अदालत ने सोमवार 16 जनवरी को तीक्ष्ण टिप्पणी करते हुए आशुतोष महाराज के पुत्र होने का दावा करने वाले दलीप झा को उनके कथित संबंधों के मामले में फटकार...

इलाहबाद में भाई भतीजावाद के बाद, पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में भी भरे गए जजों के रिश्तेदार!

इसे केवल Nepotism (भाई-भतीजावाद) नहीं कह सकते है! एक दो जजों के रिश्तेदार यदि भरे जाएं तो भाई-भतीजावाद कह सकते हैं, लेकिन यदि बड़े पैमाने पर जजों की सिफरिश या रिश्तेदारी से हाईकोर्ट में...

ताजा खबर