Watch ISD Videos Now Listen to ISD Radio Now

Tagged: Supreme Court

0

नोट बंदी के बाद अपराधी नेताओं पर पीएम मोदी का सर्जिकल स्ट्राइक! कई नेता फंदे में!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालेधन पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अपराध के आरोपी नेताओं पर सर्जिकल स्ट्राइक का मन बना लिया है! लोकसभा चुनाव से पूर्व 24 अप्रैल 2014 को अपने एक भाषण में...

0

नोटबंदी से बेचैन कांग्रेस ने इसे रद्द कराने के लिए अपने सभी दिग्गज वकीलों को सुप्रीम कोर्ट में उतारा! अदालत में भी भाजपा के एक बनाम, विरोधियों के 23 पीआईएल!

नोटबंदी से बेचैन कांग्रेस पार्टी ने इसे रद्द कराने के लिए अपने सभी दिग्गज वकीलों को सुप्रीम कोर्ट में उतार दिया है। सलमान खुर्शीद, कपिल सिब्बल, पी. चिदंबरम, अभिषेक मनु सिंघवी, विवेक तनखा, के.टी.एस....

0

इंडियन एक्सप्रेस ने भी माना कि मुख्य न्यायाधीश ने ‘दंगे’ की बात कभी कही ही नहीं! आखिर न्यायपालिका कब लेगी ‘फर्जी रिपोर्टरों’ पर संज्ञान!

भारत के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टी.एस.ठाकुर के मुंह में ‘दंगा’ शब्द डालकर पूरे देश को गुमराह करने वाले अखबारों और न्यूज चैनलों की भीड़ में एक अखबार ऐसा भी था, जिसने इस खबर को...

0

मुख्य न्यायाधीश के समक्ष वकील ने कहा, Demonetization से जनता खुश है, केवल 2जी, कोलगेट, और शारदा चिट फंट के घोटालेबाज हैं परेशान!

आज सुप्रीम कोर्ट में मुख्य न्यायाधीश टी.एस.ठाकुर के समक्ष विमुद्रीकरण के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई चल रही थी। याचिकाकर्ताओं की ओर से वरिष्ठ वकील व कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल जिरह कर रहे थे...

0

Demonetization पर देश के तीन पत्रकारों ने मिलकर चीफ जस्टिस के मुंह में ‘दंगा’ डालकर पूरे देश को गुमराह किया!

India Speaks Daily ने आपको बताया था कि चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने नोटबंदी के कारण दंगे की बात नहीं की थी, लेकिन कांग्रेसी नेता व नोटबंदी के खिलाफ खड़े लोगों के याचिकाकर्ता कपिल...

0

संविधान की भावना के खिलाफ मुख्य न्यायाधीश अपनी पसंद के न्यायधीशों की नियुक्ति पर अड़े हैं!

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश टी.एस.ठाकुर अपनी पसंद के न्यायाधीशों की नियुक्ति की जिद पर अड़े हैं, जो साफ-साफ संविधान की मूल भावना का उल्लंघन है। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कल लोकसभा...

1

Demonetization पर कांग्रेस-मीडिया गठजोड़ द्वारा देश में दंगा भड़काने की साजिश का खुलासा! मुख्य न्यायाधीश के मुंह में कांग्रेसी पत्रकारों ने डाले कपिल सिब्बल के शब्द!

आश्चर्य है! कालेधन के सौदागर अपना धन बचाने के लिए मुख्य न्यायाधीश तक के नाम पर झूठ बोलने से नहीं चूक रहे हैं! मैं खुद न्यायपालिका के भ्रष्टाचार पर बिना अवमानना से डरे लगातार...

क्या माननीय मुख्य न्यायधीश महोदय निचली अदालत में जनता से उसकी भाषा छीनना चाहते हैं?

12 सितंबर 2016 के दैनिक जागरण राष्ट्रीय अखबार के पेज-7 पर एक खबर पढ़ी। पढ़कर काफी दुख हुआ। खबर इस देश की न्यायपालिका से जुड़ा था और बयान देश के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश टी.एस.ठाकुर...

भारतीय न्यायपालिका के लिए शर्म की बात है मीलॉड! यह आपकी लाचारी है या देश में इंसाफ की बदनसीबी!

हमने तो यही पढ़ा और जाना है कि भारत की सुप्रीम कोर्ट के पास असीम शक्ति है मीलॉड! लेकिन इंसाफ के राज में किसी बुढे के दो जवान बेटों को तेजाब से नहला कर...

न्यायमूर्ति चेलामेश्वर की बगावत ने यह स्पष्ट कर दिया है कि मौजूदा न्याय व्यवस्था में सब कुछ ठीक नहीं है!

अनूप भटनागर । उच्चतर न्यायपालिका में न्यायाधीशों की नियुक्ति के लिये उनके नामों के चयन की प्रक्रिया को लेकर देश के पांचवें सबसे वरिष्ठ न्यायाधीश न्यायमूर्ति जे. चेलामेश्वर की खुली बगावत ने यह स्पष्ट...

इलाहबाद में भाई भतीजावाद के बाद, पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में भी भरे गए जजों के रिश्तेदार!

इसे केवल Nepotism (भाई-भतीजावाद) नहीं कह सकते है! एक दो जजों के रिश्तेदार यदि भरे जाएं तो भाई-भतीजावाद कह सकते हैं, लेकिन यदि बड़े पैमाने पर जजों की सिफरिश या रिश्तेदारी से हाईकोर्ट में...

तीस्ता सीतलवाड़ केस में दस्तावेजों की प्रमाणिकता संबंधी प्राथमिक नियमों की अनदेखी की गयी, न्यायाधीशों ने इस गलती के लिए किसे दंडित किया?

शंकर शरण । सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश जस्टिस काटजू ने न्यायपालिका की अंदरूनी गिरावट पर प्रश्न उठाया है। कम से कम उन की यह बात अनाधिकार नहीं है। यह गिरावट संविधान की समझ,...

न्यायपालिका में कॉलेजियम सिस्टम को क्यों बरकार रखना चाहते हैं न्यायाधीश ?

जब आम भारतीय़ चारो तरफ से हताश होता है तो उसे भारत की सबसे बड़ी अदालत से ही आखिरी उम्मीद होती है। आंखों पर पट्टी बांधे न्याय की देवी को देखकर ही तो उम्मीद...

न्यायाधीश बना खानदानी पेशा, भाई-भतीजावाद की भेंट चढ़ा इलाहाबाद हाईकोर्ट!

भारत की न्यायपालिका को भाई-भतीजावाद, वंशवाद और भ्रष्टाचार दीमक की तरह चाट रहा है! संविधान के तीन स्तंभों में से विधायिका और कार्यपालिका के भ्रष्टाचार पर तो सभी चर्चा करते हैं, लेकिन न्यायपालिका के...

क्या सुप्रीम कोर्ट से भी कुछ सड़ने की बू आ रही है मी-लॉड!

अब ये ना कीजिए मी-लॉड ! अब भारत के लोकतंत्र के पहरेदार को तो राजनीति का जामा न पहनाइए । लाख बुराई के बाद भी, बस यही खंभा तो बचा है जिसकी साख जनता...

मुख्य न्यायाधीश टी.एस ठाकुर के पिता डीडी ठाकुर इंदिरा-शेख समझौते के तहत जज के पद से इस्तीफा देकर बने थे जम्मू-कश्मीर में मंत्री!

भारत के मुख्य न्यायाधीश माननीय टी.एस. ठाकुर जी का सम्मान करते हुए लोकतंत्र को बचाने के लिए यह कहना जरूरी है स्वतंत्रता दिवस के दिन उन्होंने जो किया, उससे विशुद्ध राजनीति की ध्वनि उत्पन्न...

राहुल गांधी पूरे RSS को बदनाम नहीं कर सकते, इन पर मुकदमा चलना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी पर मुकदमा चलना चाहिए। उन्हें निचली अदालत में ट्रायल का सामना करना होगा। अदालत ने कहा कि आप पूरे संगठन(‪#‎RSS‬) को बदनाम नहीं कर सकते। सुप्रीम कोर्ट...

मी लार्ड यह बात कुछ हज़म नहीं हुई !

#अनुजअग्रवाल, संपादक, डायलॉग इंडिया एवं महासचिव,मौलिक भारत अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार की बहाली के निर्णय में माननीय उच्चतम न्यायालय ने कहा कि ” राज्यपाल का आचरण न सिर्फ निष्पक्ष होना चाहिए बल्कि निष्पक्ष...

लोकतंत्र या लोभतंत्र

वोटबैंक की राजनीति के कारण भारतीय संविधान अभी तक लगभग 75% ही लागू किया गया ! अनुच्छेद-44 (समान नागरिक संहिता), अनुच्छेद-48 (गौ हत्या प्रतिबंध), अनुच्छेद-312 (भारतीय न्यायिक सेवा परीक्षा), अनुच्छेद-351 (हिंदी और संस्कृत का...

ताजा खबर
हमारे लेखक