Tagged: Urban Naxalism

0

विवेक अग्निहोत्री 250 करोड़ की लागत से दिखाएंगे हिन्दुओं का सच्चा इतिहास!

महान कूटनीतिज्ञ चाणक्य ने कहा था ‘जो अपना इतिहास भूल जाते हैं, उनका भूगोल बदल जाता है।’ आज ये उक्ति भारत पर ही चरितार्थ हो रही है। स्वतंत्रता के बाद साल दर साल हम...

0

तो दिल्ली के ‘शहरी नक्सल पत्रकारों’ के इशारे पर दंतेवाड़ा के माओवादियों ने वीडियो पत्रकार अच्युत्यानंद की हत्या पर मांगी माफी ?

कमाल देखिए देश भर में शोक सभा औऱ विरोध सभा के आयोजन के बाद बेशर्म राक्षसी प्रवृति वाले नक्सली अब कह रहे हैं कि पत्रकार की हत्या गलती से हो गई! संदेश साफ है...

0

दिल्ली हाईकोर्ट के माननीय न्यायधीश, पुणे सेशन कोर्ट ने UrbanNaxal पर एक तरह से आपकी नीयत का खोट उजागर कर दिया है!

भीमा कोरेगांव हिंसा तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या करने की साजिश के आरोप में गिरफ्तार अर्बन नक्सलियों वर्णन गोंजाल्विस, अरुण फरेरा तथा सुधा भारद्वाज की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है। पुणे...

0

भारतीय सेना को बदनाम करने वाले सिद्धार्थ वरदराजन को लाल बहादुर शास्त्री आईएएस अकादमी में किसने बुलाया और क्यों? 

देश की प्रतिष्ठित लाल बहादुर शास्त्री प्रशासनिक अकादमी जैसी संस्था में आईएएस अधिकारियों को संबोधित करने के लिए नक्सल समर्थक सिद्धार्थ वरदराजन जैसे स्वधन्यमान पत्रकार को बुलाना कोई छोटी घटना नहीं है। वैसे इस...

0

सैकड़ों युवाओं को नक्सलवाद की राह पर धकेल कर अब शांति से जीवन जीने की भीख मांग रहे हैं अर्बन नक्सल!

जो अभी तक सैकड़ों युवकों का जीवन नष्ट कर चुके हैं। जो कई युवाओं को अपने ही देश के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए नक्सल  बनाकर जंगल भेज चुके हैं, वही अब अपने बुढ़ापे  में पुलिस...

0

सुबह छह बजे हुई सुनवाई ने अर्बन नक्सल नवलखा और माननीय न्यायधीश के बीच रिश्ते की खोली पोल!

भीमा कोरेगांव हिंसा तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या के मामले में अर्बन नक्सलियों की हुई गिरफ्तारी से कई राज पर से पर्दा उठा है। इस मामले के सामने आने के बाद अरबन नक्सल...

0

सुप्रीम अदालत में अर्बन नक्सल मानसिकता को पनपने से पहले ही जस्टिस मिश्रा ने उखाड़ दिया!

सुप्रीम कोर्ट ने देश के प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश रचने वाले अर्बन-नक्सलियों को सलाखों के पीछे भेजे जाने का रास्ता साफ कर दिया है। तीन जजों की बेंच में से मुख्य न्याधीश जस्टिस...

0

भीमा-कोरेगांव मामले में एसआईटी गठन की मांग को वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने बताया बेतुका और गैरवाजिब, सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला!

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में नजरबंद शहरी नक्सलियों के मामले में एसआईटी गठन करने को लेकर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो गई। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए...

0

आत्मसमर्पण करने वाले नक्सल पहाड़ सिंह ने खोली गिरफ्तार शहरी नक्सलियों के झूठ की पोल, कहा नक्सलियों की बैठक में शामिल थे अरुण फरेरा!

पिछले साल हुई भीमा कोरेगांव हिंसा तथा प्रधानमंत्री की हत्या के साजिश के तहत पुणे पुलिस ने जिन दस शहरी नक्सलियों को गिरफ्तार किया है उसकी सच्चाई सामने आ गई है। उनके झूठ की...

0

गिरफ्तार शहरी नक्सलियों के पक्ष में उतरे यूरोपियन यूनियन के 9 सांसद, नक्सलियों के अंतरराष्ट्रीय लिंक का हुआ खुलासा!

ये बात बहुत पहले से कही जा रही है कि देश में जारी नक्सली गतिविधियां बाहरी मदद से चल रही हैं। पहले भी कई बार इसका खुलासा हो चुका है कि देश के नक्सलियों...

0

पाखंड उजागर….शहरी नक्सल के आतंक को ‘सेफ्टी वाल्व’ कहने वाले माननीय न्यायधीश पुणे पुलिस की सलाह पर आग बबूला हो उठे!

क्या असहमति के नाम पर हिंसात्मक विरोध और आतंक को जायज ठहराया जा सकता है? अगर नहीं तो फिर कोर्ट में पुणे पुलिस की सलाह पर सुप्रीम कोर्ट के किसी जज को यह कहना...

0

शहरी नक्सलियों पर महाराष्ट्र सरकार सख्त, सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर अपनी कार्यवाही को बताया सही!

भीमा कोरेगांव हिंसा तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने के मामले में शहरी नक्सलियों की गिरफ्तारी जैसी कार्रवाई से महाराष्ट्र सरकार पीछे हटते नहीं दिखती है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट...

0

आरएसएस को आतंकी संगठन कहने वाले ‘मिस्टर हो’ देश विरोधी नक्सल समर्थक और मददगार निकले!

भीमा कोरेगांव हिंसा तथा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने के मामले में दस शहरी नक्सली समर्थकों की गिरफ्तारी के बाद कई राज खुलने लगे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता...

0

शहरी नक्सलियों जिन माओवादियों का तुम गुण गा रहे हो उन्होंने 20 सालों में 12 हजार भारतीयों का नरसंहार किया है!

माओवादी पिछले 20 सालों में 12 हजार निर्दोष भारतीयों की हत्या कर चुके हैं। 9,300 लोगों को तो इन माओवादियों ने पुलिस का मुखबिर बताकर मार डाला है। फिर भी अदालत से लेकर पत्रकार...

0

कांग्रेस की बेशर्मी देखिये… जिन शहरी नक्सलियों का साथ दे रही है उसी को यूपीए सरकार 2013 में गुरिल्ला आर्मी से भी ज्यादा खतरनाक ठहरा चुकी है!

वोट के लिए कांग्रेस कितना नीचे गिर सकती है इसका साक्षात उदाहरण है शहरी नक्सलियों के पक्ष में उतरकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अनर्गल आरोप लगाना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की...

0

राजनैतिक संरक्षण से पनपा माओवादी-नक्सली गिरोह!

चन्द्रकान्त प्रसाद सिंह। सनद रहे कि जब (1990-2005) सरकार ने बिहार के किसानों को नक्सलियों और माओवादियों का नरम चारा बनने के लिए छोड़ दिया तो आरा-भोजपुर-गया-नालंदा-पटना जिले के किसानों ने ब्रह्मेश्वर सिंह मुखिया...

0

आंतकवाद का मानवाधिकार बनाम मानवाधिकार का आतंकवाद!

बाबू बेरागी। भीमा कोरेगांव से लेकर सुदूर बस्तर के सुकमा जिले तक, प्रधानमंत्री मोदी की राजीव गांधी की तरह हत्या के षड्यंत्र से लेकर माओवादियों द्वारा सुरक्षा बलों के जवानों के साथ निरीह आदिवासियों...

0

अपनी किताब की मार्केटिंग के लिए शहरी नक्सलियों के बचाव में उतरे रामचंद्र गुहा!

गांधी के नाम पर पहले ही दो किताबें ‘इंडिया आफ्टर गांधी ‘ तथा ‘गांधी बिफोर इंडिया’ लिख चुके इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने एक बार फिर नई किताब ‘गाँधी: दि ईयर दैट चेंज्ड दि वर्ल्ड...

0

मुठभेड़ में हुई नक्सलियों की मौत पर ही जागते हैं सोनी सोढ़ी, बेला भाटिया और नंदनी सुंदर!

फ़ारूख अली। रोज निर्दोषों को हत्यायें करते हैं नक्सली! बुद्धिजीवी, समाज सेवी संगठन इन घटनाओं पर ख़ामोश रहते हैं बस्तर को नक्सली रोज जला कर हाथ सेंकते हैं। मानवा-अधिकार कार्यकर्ता और लीगल एड वाले!...

0

खुलासा..नोटा को बढ़ावा देने और शहरी नक्सलियों के जरिए लोकतंत्र को कुचलने के पीछे है एक बड़े NGO का हाथ!

सन 1976 में समाजवादी नेता जय प्रकाश नारायण ने एक संस्था की स्थापना की। पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज़ (पीयूसीएल) नागरिकों के संवैधानिक अधिकारों के लिए आवाज़ उठाती थी। आपातकाल में सत्ता का निरंकुश...

ताजा खबरे