साकेत अदालत जामिया हिंसा  मामले में  शरजील इमाम और आसिफ इकबाल तन्हा सहित 11 लोगों को आरोपमुक्त कर दिया जबकि अदालत ने टिप्पणी की है कि पुलिस वास्तविक अपराधियों को पकड़ पाने में असमर्थ रही और इसलिये उसने इन आरोपियों को बलि का बकरा बना दिया। लेकिन साकेत कोर्ट  आरोपियों में से एक मोहम्मद इलियास, के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश जारी किया।