पोर्न स्टार सनी लियोन को सोनिया की मनमोहन सरकार ने दिया था ‘ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया’ का दर्जा! क्या ईसाई संगठनों के कहने पर लिया गया था फैसला?

पोर्न स्टार सनी लियोन के जीवन पर बनी बायोपिक वेब सीरीज ‘करनजीत कौर:द अनटोल्ड स्टोरी’ प्रदर्शित कर दी गई है। राष्ट्रवादी ज़ी मीडिया के वीडियो ऑन डिमांड वेब चैनल पर ये सीरीज दिखाई जा रही है। विरोध के स्वर उठ रहे हैं पर उनकी उपेक्षा की जा रही है। पंजाब के शिरोमणि ग्रुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने विरोध करते हुए कहा है कि सनी सिख धर्म का पालन नहीं करती। कमेटी चाहती है कि सनी अब ईसाई धर्म का पालन कर रही हैं तो उन्हें फिल्म के टाइटल से ‘कौर’ शब्द हटा देना चाहिए। क्या कमेटी की इस मांग से भारतीय समाज लियोन के नंगे प्रहार से बच सकता है। बात इतनी भी सीधी नहीं है।

सनी लियोन का जन्म कनाडा में एक सिख परिवार में हुआ था। सिख होने के बावजूद बचपन से ही उन्हें मिशनरी स्कूल में पढ़ाया गया। बारह साल की उम्र में वह अपने परिवार के साथ भारत से मिशिगन चली गई। सनी लियोनी के संस्कारों में पंजाबियत या भारतीयता का कोई योगदान नहीं है। 2011 में उन्होंने अभिनेता डेनियल वेबर से शादी कर ली। वेबर से शादी के बाद उन्होंने ईसाई धर्म अपना लिया था लेकिन पासपोर्ट पर उनका धर्म ‘सिख’ ही बना रहा। ईसाई हो जाने के बाद धार्मिक संगठनों ने उन पर पोर्न अभिनेत्री का पेशा छोड़ने का दबाव बनाना शुरू कर दिया।

सनी के सामने पोर्न अभिनेत्री का पेशा त्यागने के सिवा और कोई रास्ता नहीं था। एक ईसाई संगठन के अखबार ने लिखा ‘सनी लियोन को पोर्न का पेशा छोड़कर जीसस की शरण में आ जाना चाहिए। इसके बाद वह एक नया जीवन जी सकती है। पोर्नोग्राफी हमारे समाज के लिए घातक है। इसके कारण अमेरिकन समाज टूट रहा है।’ सनी को लगा कि बॉलीवुड ऐसे में उसके लिए अच्छा विकल्प सिद्ध हो सकता है। उसने भारतीय फिल्म उद्योग में आने के लिए बिग बॉस को चुना। यहाँ से महेश भट्ट ने उसे अपनी फिल्म के लिए ब्रेक दे दिया।

भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधि बनाकर एक पोर्न स्टार की हो रही है ब्रांडिंग।

🙂

A post shared by Sunny Leone (@sunnyleone) on

भारतीयों को आज जानना चाहिए कि अमेरिकन नागरिकता पा चुकी सनी लियोन ‘दोहरी नागरिकता’ ले चुकी है। एक पोर्न अभिनेत्री को तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने ‘ओवरसीज सिटीजन ऑफ़ इंडिया’ यानि ओसीआई के तहत इमिग्रेशन स्टेटस दिया था। चूँकि क़ानूनी रूप से वह इस स्टेटस की हकदार थी लेकिन सरकार इस मामले में विशेष प्रबंध कर उनका भारत आना रुकवा सकती थी। कई साल पहले मैंने लिखा था कि पोर्न स्टार सनी लिओनी का भारतीय सिनेमा में प्रवेश भारतीय समाज के लिए नुकसानदेह होगा। इसे भारतीय ताने-बाने में स्वीकार्यता के साथ फिट करने के भरपूर प्रयास होंगे।

ऐसा शक है कि अमेरिकी ईसाई संगठनों के कहने पर सोनिया गांधी की मनमोहन सरकार ने सनी लियोन को ‘ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया’ का दर्जा दिया था। यह साफ-साफ भारतीय परिवार की संरचना पर हमले की पश्चिमी साजिश थी। एक ईसाई पोर्न स्टार अब दुनिया में भारतीय प्रतिनिधि के रूप में घूम रही है। भारतीय महिलाओं की ऐसी ब्रांडिंग के लिए क्रिश्चनिटी ने यह सारा खेल रचा है और इसमें क्रिश्चिचन की हितैषी सरकार ने उन्हें मदद पहुंचाई। आज मैरिटल सेक्स, समलैंगिकता, शादी से बाहर जाकर अवैध संबंध जैसे सारे मामले सुप्रीम कोर्ट में पीआईएल के जरिए यूपीए सरकार के समय ही पहुंचा था और आंदोलन भी शुरू हुआ था। ‘गे-राइट’ के पक्ष में तो स्वयं राहुल गांधी ही उतर आए थे। लोगों को समझ जाना चाहिए कि सनी से लेकर अवैध सेक्स तक का यह खेल भारतीय पारिवारिक संरचना को तहस-नहस करने के लिए क्रिश्चनिटी ने खेला है और भारत की क्रिश्चिचन राजमाता व उसकी पार्टी से उन्हें इसमें सहयोग मिला है।

आपको ये जाकर और भी ज्यादा हैरानी होगी कि सनी लियोन न केवल भारतीय फिल्म उद्योग में स्थापित हो चुकी है बल्कि अपने पति के साथ भागीदारी में उनकी प्रोडक्शन कंपनी खूब फलफूल रही है। अमेरिका स्थित उनकी ये कंपनी पोर्न फिल्मों का निर्माण कर रही है। आज भी उनका ये व्यवसाय चल रहा है। भले ही वे मुंबई में अभिनय कर रही हो। एक ऐसी अभिनेत्री भारत के युवाओं की रोल मॉडल बनती जा रही है, जिसकी अपनी पोर्न फिल्मों की कंपनी है। अब हम सनी लियोन की बायोपिक में उनका जीवन संघर्ष देख रहे हैं और अपने समाज की लड़कियों को इस ओर आने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

साजिश समझिए! भारतीय गृहणियों की यह छवि बनाने की कोशिश की जा रही है।

फिल्म के निर्माता में इतना साहस नहीं था इस फिल्म का नाम ‘करनजीत कौर:द अनटोल्ड स्टोरी’ की जगह ‘सनी लियोन: द अनटोल्ड स्टोरी’ कर देता। ऐसा करता तो ईसाई संगठन फिल्म रिलीज ही नहीं होने देते क्योंकि अब सनी करनजीत नहीं रही बल्कि ईसाई बन चुकी हैं। इसलिए उन्होंने सनी का पुराना सिख धर्म चुना। सिख धर्म में सिंह और कौर जैसे उपनामों का बेहद महत्वपूर्ण स्थान है। सिख समाज का विरोध फिल्म को रुकवाने पर होना था कि नाम बदलने को लेकर। आख़िरकार बात तो पूरे भारतीय समाज की है।

फिल्म में पोर्ट स्टार बनने के बारे में सनी कहती हैं कि इसके लिए गट्स चाहिए। कपड़े उतारने के लिए भी मजबूत इरादों की जरूरत होती है। जब इस पर सवाल उठते हैं तो सनी जवाब देती हैं कि फिर आप क्यों नहीं ट्राय कर लेते। सोचिये सनी ये सार्वजानिक रूप से कह रही हैं और छप भी रहा है। ये तो कुछ भी नहीं साहब, अभी एक पोर्न स्टार और आ रही है। ये नई पोर्न स्टार निर्देशक रामगोपाल वर्मा की फिल्म से बॉलीवुड में एंट्री लेगी।

भारत एक धोबी घाट बन चुका है। यहाँ हर कोई ऐरा-गैरा अपनी गंदगी धोने चला आ रहा है। क्या अब हिन्दी फिल्म उद्योग में पोर्न अभिनेत्रियां काम करेंगी। क्या ऐसी अभिनेत्रियां हमारी घर की बेटियों की आदर्श बनेंगी। आप इसे पढ़ लेंगे और भूल जाएंगे लेकिन टीवी स्क्रीन पर चल रहा सनी लियोन का गाना ‘ये दुनिया पीत्तल दी’ बंद नहीं करेंगे। आपके रिमोट के लिए हाथ न उठाने के कारण ही एक पोर्न अभिनेत्री समाज को अपनी बायोपिक दिखा रही है। आप भी कम अपराधी नहीं हैं।

लेस्बियन रिलेशन को बढ़ावा देता सनी लियोनी का यह वीडियो…

URL:The biopic web series ‘Karanjit Kaur: The Untold Story’ displayed on the life of porn star Sunny Leone

Keywords: ZEE5, Karenjit Kaur: The Untold Story Of Sunny Leone, Sunny Leone, Sunny Leone biopic, web series ओं sunny leon, Bollywood, जी फाइव, सनी लियोन, सनी लियोन बायोपिक, सनी लियोन वेब सीरीज, करनजीत कौर:द अनटोल्ड स्टोरी’

आदरणीय पाठकगण,

News Subscription मॉडल के तहत नीचे दिए खाते में हर महीने (स्वतः याद रखते हुए) नियमित रूप से 100 Rs. या अधिक डाल कर India Speaks Daily के साहसिक, सत्य और राष्ट्र हितैषी पत्रकारिता अभियान का हिस्सा बनें। धन्यवाद!  

For International members, send PayPal payment to [email protected] or click below

Bank Details:
KAPOT MEDIA NETWORK LLP
HDFC Current A/C- 07082000002469 & IFSC: HDFC0000708  
Branch: GR.FL, DCM Building 16, Barakhamba Road, New Delhi- 110001
SWIFT CODE (BIC) : HDFCINBB
Paytm/UPI/ WhatsApp के लिए मोबाइल नं- 9312665127
Vipul Rege

Vipul Rege

पत्रकार/ लेखक/ फिल्म समीक्षक पिछले पंद्रह साल से पत्रकारिता और लेखन के क्षेत्र में सक्रिय। दैनिक भास्कर, नईदुनिया, पत्रिका, स्वदेश में बतौर पत्रकार सेवाएं दी। सामाजिक सरोकार के अभियानों को अंजाम दिया। पर्यावरण और पानी के लिए रचनात्मक कार्य किए। सन 2007 से फिल्म समीक्षक के रूप में भी सेवाएं दी है। वर्तमान में पुस्तक लेखन, फिल्म समीक्षक और सोशल मीडिया लेखक के रूप में सक्रिय हैं।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबर